ताज़ा खबर
 

सचिन तेंदुलकर को लेकर मुनाफ पटेल ने किया था विराट का ब्रेनवॉश, इंटरव्यू में कोहली ने बताई थी हकीकत

विराट कोहली ने अगस्त 2008 में पहली बार टीम इंडिया की ब्लू कैप पहनी थी। हालांकि, उन्हें महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करने में एक साल से भी ज्यादा का समय लग गया था।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: March 3, 2021 8:50 AM
Virat Kohli Sachin Tendulkar Munaf Patel Yuvraj Singh Harbhajan Singh Irfan Pathan Prank

विराट कोहली (Virat Kohli) दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं। विराट कोहली ने अगस्त 2008 में पहली बार टीम इंडिया की ब्लू कैप पहनी थी। हालांकि, उन्हें महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करने का मौका करीब एक साल बाद मिला। 14 सितंबर 2009 को श्रीलंका के खिलाफ मैच में विराट को सचिन तेंदुलकर के साथ पहली बार खेलने का मौका मिला था। विराट का सचिन के साथ पहला इंटरैक्शन बहुत फनी रहा था।

यह बात विराट कोहली ने गौरव कपूर के यूट्यूब (YouTube) शो ब्रेकफॉस्ट विद चैंपियंस (Breakfast With Champions​) में बताई थी। गौरव ने विराट से पूछा था, ‘जब आप पहली बार ड्रेसिंग रूम या मैदान में पहली बार सचिन तेंदुलकर से मिल थे?’ विराट ने बताया, ‘मेरा उनसे पहला इंटरैक्शन बहुत फनी था। पहले दो दिन तो मैं यही तैयारी कर रहा था कि मुझे उनसे मिलना है। इंडियन चेंज रूम में जाकर मेरे को सचिन तेंदुलकर से मिलना है। अच्छा अब इन लोगों को पता चल गया, मैंने किसी न किसी से बात कही होगी कि मुझे बहुत घबड़ाहट हो रही है। इन्होंने प्लान बना लिया, मेरा पोपट करने का।’

विराट ने बताया, ‘इन लोगों ने मुझसे कहा कि जो टीम में नया आता है वह पहले माथा टेकता है पाजी के पैरों में जाकर। अच्छा मैं सीरियसली मान गया इन लोगों की बातों को।’ विराट ने बताया, ‘मैं सचिन तेंदुलकर से मिलने गया, मैंने कहा हैलो पाजी। उन्होंने कहा हाय, हाउ आर यू (तुम कैसे हो?), यह सुनकर मैं उनके पैर छूने के लिए नीचे झुकने लगा। वह कहने लगे अरे अरे क्या कर रहे हो? मैंने कहा कि इन लोगों ने बोला है कि जो भी टीम में नया आता है उसे पहली बार आपके के पैरों में माथा टेकना होता है।’

विराट ने बताया, ‘यह सुनकर वह हंसने लगे। कहने लगे कि नहीं नहीं यार। ये तेरी टांग खींच रहे हैं। तो ऐसा था मेरा पाजी के साथ पहला इंटरैक्शन।’ इस पर गौरव ने पूछा, ‘यह सब बोला किसने था? युवी ने बोला था कि भज्जी ने बोला था?’ विराट कोहली ने कहा, ‘युवी पाजी, भज्जूपा, मुनाफ पटेल और इरफान पठान। इसमें मुनाफ पटेल सबसे बड़ा इंस्टिगेटर (instigator बहकाने वाला या उकसाने वाला) था।’

विराट ने बताया, ‘मुनाफ पटेल ने मुझको बिल्कुल पक्का विश्वास दिला दिया। उसने कहा कि नहीं करेगा तो तू देख ले, तेरा क्या होगा, हम कोई गारंटी नहीं लेते। ये तो करना ही पड़ेगा। मतलब मुझे तो पक्का विश्वास हो गया था। मेरा बिल्कुल ब्रेनवॉश हो गया था।’ यह सुनकर गौरव कपूर जोर जोर से हंसने लगे। विराट भी मुस्कुराने लगे।

Next Stories
1 मां-बाप कहते थे- पढ़ाई लिखाई कर लो, बॉक्सिंग से क्या मिलेगा? दीपक ने इस तरह दिया जवाब
2 ‘फ्रेंडशिप’ को लेकर सुर्खियों में हरभजन सिंह; भज्जी से पहले ये दिग्गज क्रिकेटर्स भी आजमा चुके हैं फिल्मों में भाग्य, जानिए कितने रहे सफल
3 रवि शास्त्री ने ली कोरोना वैक्सीन की पहली डोज, कमेंट आया- आप तो एल्कोहलिक हैं कोरोना क्या बिगाड़ेगा
ये पढ़ा क्या?
X