ताज़ा खबर
 

‘रोहित नई गेंद की बखिया उधड़ने में माहिर, विराट मैच जीतने में उस्ताद’ ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने बताया हिटमैन-रनमशीन में अंतर

ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज यूट्यूब पर अपने फैंस के सवालों का जवाब दे रहे थे। इसी दौरान किसी फैन ने उनसे व्हाइट बॉल क्रिकेट में विराट कोहली और रोहित शर्मा में से किसी एक को चुनने की बात कही।

ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर ब्रॉड हॉज का मानना है कि रोहित शर्मा के मुकाबले विराट कोहली व्हाइट बॉल क्रिकेट में ज्यादा बेहतर हैं। हॉज ने विराट कोहली की सफलतापूर्वक लक्ष्य हासिल करने की निरंतरता के आधार पर यह दावा किया है। साथ ही यह भी स्पष्ट किया कि दोनों में तुलना नहीं हो सकती है। दोनों की अलग-अलग विशेषताएं हैं।

बता दें कि हाल ही में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने भी रन चेज के मामले में विराटो कहली को सचिन तेंदुलकर पर तरजीह दी थी।हॉज ने अपने यूट्यूब चैनल पर अपलोड किए गए वीडियो में हिटमैन और रनमशीन में अंतर बताया है। वह यूट्यूब पर अपने फैंस के सवालों का जवाब दे रहे थे। इसी दौरान किसी फैन ने उनसे व्हाइट बॉल क्रिकेट में विराट कोहली और रोहित शर्मा में से किसी एक को चुनने की बात कही।

हॉज ने कहा, ‘मैं विराट कोहली के साथ जाऊंगा। दरअसल, जब भारत को बड़े लक्ष्‍य का पीछा करना होता है तब वह बल्‍लेबाजी में काफी निरंतर नजर आते हैं। जब भारत दूसरी पारी में बल्‍लेबाजी कर रहा होता है तो वह आगे आकर प्रदर्शन करके दिखाते हैं।’

हॉज ने साथ ही यह भी कहा, ‘आप रोहित शर्मा और विराट कोहली की एक साथ तुलना नहीं कर सकते हैं। रोहित नई गेंद की बखिया उधेड़ने में माहिर हैं। विराट कोहली विजयी शॉट लगाने में उस्ताद हैं।’ ब्रॉड हॉज ने अपने करियर में 145 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 180 विकेट लिए थे। फर्स्ट क्लास मैचों में 181, लिस्ट ए मुकाबलों में 257 और टी20 मैचों में 140 विकेट उनके नाम हैं।

उन्होंने कहा, ‘दोनों की टीम में अलग-अलग भूमिकाएं हैं। रोहित का काम नई बॉल के खिलाफ आक्रामक क्रिकेट खेलने का है। शुरुआत में जब फील्‍ड को लेकर पाबंदी होती है तो रोहित गेंदबाजों पर प्रहार कर सकते हैं। विराट का काम यह सुनिश्‍चत करना है कि वह गेम को अंत तक लेकर जाएं और भारत को जीत दिलाएं। दोनों खिलाड़ी एक दूसरे के पूरक हैं।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘मेरे कंधे पर बहुत छर्रे लगे थे, थरंगा के सीने से खून बह रहा था,’ पाकिस्तान में टीम पर हुए आतंकी हमले को यादकर सिहर उठे कुमार संगकारा
2 ‘बालकनी से कूदने का मन करता था, 2 साल तक डिप्रेशन में रहा,’ वर्ल्ड कप विजेता क्रिकेटर ने ठीक होने को ली थी डायरी की मदद
3 IPL 2020: विदेश में टूर्नामेंट कराने की सोच रहा बीसीसीआई, टी20 वर्ल्ड कप पर ICC के फैसले पर निगाहें