ताज़ा खबर
 

India vs Englnad: रविचंद्रन अश्विन मोटेरा में रचेंगे इतिहास? विराट कोहली के पास महेंद्र सिंह धोनी को पीछे छोड़ने का मौका

विराट कोहली ने अब तक कुल 425 अंतरराष्ट्रीय मैच (टेस्ट, वनडे और टी20) खेले हैं। इनमें वह 70 शतक लगा चुके हैं। वह सबसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय शतक लगाने के मामले में तीसरे नंबर पर हैं।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: February 23, 2021 8:36 PM
Virat Kohli Ravichandran Ashwin India vs England Motera Stadium Pink Ball Testअहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में होने वाले तीसरे टेस्ट मैच में विराट कोहली और रविचंद्रन अश्विन के पास इतिहास रचने का मौका है। (सोर्स- ट्विटर बीसीसीआई)

भारत और इंग्लैंड के बीच 4 मैच की सीरीज का तीसरा टेस्ट बुधवार यानी 24 फरवरी से अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में खेला जाना है। यह मुकाबला पिंक बॉल (गुलाबी गेंद) से खेला जाएगा, यानी यह एक दिन-रात्रि मैच है। यह मैच टीम इंडिया के लिए जहां वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाने को लेकर अहम है। वहीं, विराट कोहली और रविचंद्रन अश्विन के लिए निजी तौर पर भी काफी खास है।

रविचंद्रन अश्विन ने अब तक 76 टेस्ट मैच खेले हैं। इसमें वह 394 विकेट ले चुके हैं। वह 400 विकेट के आंकड़े से 6 विकेट दूर हैं। यदि वह तीसरे टेस्ट में 6 विकेट ले लेते हैं, तो 400 या उससे ज्यादा विकेट लेने वाले दुनिया के 16वें गेंदबाज और छठे स्पिनर बन जाएंगे। यही नहीं, वह सबसे कम मैच में 400 विकेट लेने वाले भारतीय भी बन जाएंगे। अभी यह रिकॉर्ड महान लेग स्पिनर अनिल कुंबले के नाम है। कुंबले ने अपने 85वें टेस्ट मैच में 400 विकेट का आंकड़ा छुआ था।

ओवरऑल बात करें तो सबसे कम टेस्ट मैच में 400 विकेट लेने वालों की सूची में वह दूसरे नंबर पर पहुंच जाएंगे। इस मामले में पहले नंबर पर श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन हैं। मुरलीधरन ने 72वें टेस्ट मैच में अपना 400वां विकेट लिया था। इस मामले में अभी दूसरे नंबर पर संयुक्त रूप से न्यूजीलैंड के रिचर्ड हेडली और दक्षिण अफ्रीका के डेल स्टेन हैं। हेडली और स्टेन ने 80वें मैच में अपने-अपने 400 विकेट पूरे किए थे।

विराट कोहली ने अब तक कुल 425 अंतरराष्ट्रीय मैच (टेस्ट, वनडे और टी20) खेले हैं। इनमें वह 70 शतक लगा चुके हैं। वह सबसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय शतक लगाने के मामले में तीसरे नंबर पर हैं। पहले नंबर पर महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और दूसरे नंबर पर ऑस्ट्रेलियाई टीम के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग हैं। सचिन के नाम 100 अंतरराष्ट्रीय शतक हैं, जबकि पोंटिंग ने अपने करियर के दौरान 71 शतक लगाए थे। कोहली यदि इस मैच में शतक लगा देते हैं तो वह रिकी पोंटिंग के 71 शतकों के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे।

यही नहीं, कोहली बतौर कप्तान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 41 शतक लगा चुके हैं। इस मामले में वह रिकी पोटिंग की पहले ही बराबरी कर चुके हैं। दोनों संयुक्त रूप से पहले स्थान पर है। अब कोहली के पास पोंटिंग से आगे निकलने का मौका है। पोंटिंग ने बतौर कप्तान 324 अंतरराष्ट्रीय मैच में 41 शतक लगाए थे। विराट 190 मैच में ही 41 शतक लगा चुके हैं। कोहली पिछली 10 पारियों में एक बार भी तीन अंकों तक नहीं पहुंच पाएं हैं। ऐसे में उनकी कोशिश शतकों का सूखा खत्म करने की होगी। वैसे भी उनके जैसे खिलाड़ी का बल्ला ज्यादा दिन तक शांत नहीं रहता है।

विराट कोहली की धोनी का रिकॉर्ड तोड़ने पर नजर

टीम इंडिया अगर तीसरा मैच जीतती है तो विराट कोहली घरेलू मैदान पर सबसे ज्यादा टेस्ट जीतने वाले कप्तान बन जाएंगे। वह महेंद्र सिंह धोनी का रिकॉर्ड तोड़ेंगे। फिलहाल धोनी और विराट के नाम घरेलू मैदान पर 21-21 टेस्ट जीत दर्ज हैं। इस मामले में मोहम्मद अजहरुद्दीन (13 टेस्ट जीत) दूसरे, सौरव गांगुली (10 टेस्ट जीत) तीसरे और सुनील गावस्कर ( 7 टेस्ट जीत) चौथे नंबर पर हैं।

Next Stories
1 Vijay Hazare Trophy: शिखर धवन लगातार दूसरे मैच में फ्लाप, KKR के बल्लेबाज ने बचाई दिल्ली की लाज, खोला टीम का खाता
2 Ind vs Eng: विराट कोहली ने बताया इंग्लैंड से निपटने का प्लान, जो रूट एंड कंपनी को दी चुनौती
3 कभी 4 रन पर झटके थे 6 विकेट, अब 140 के स्ट्राइक रेट से गेंदबाजों को धुना; स्टुअर्ट बिन्नी के दम पर नगालैंड ने मिजोरम को हराया
ये पढ़ा क्या?
X