ताज़ा खबर
 

जब विराट कोहली ने गुस्से में आ क्रीज पर ही पटक दिया था बल्ला, घोषित कर दी थी पारी; जानिए श्रीलंका के खिलाफ मैच की कहानी

विराट कोहली का क्रिकेट के प्रति जुनून जगजाहिर है। मैदान में विपक्षी टीम को धता बताने के लिए वह जीजान लगा देते हैं। हालांकि, जब कोई टीम खेल भावना के विपरीत आचरण करती है तब वह अपने गुस्से पर काबू नहीं रख पाते हैं। उनका गुस्सा रिफ्लेक्ट होता है। कुछ ऐसा ही 2017 में श्रीलंका के भारत दौरे के दौरान हुआ था।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: September 15, 2020 1:07 PM
Virat Kohli Slams Batश्रीलंका के खिलाफ उस टेस्ट मैच में विराट कोहली ने 243 रन की पारी खेली थी।

विराट कोहली का क्रिकेट के प्रति जुनून जगजाहिर है। वह हमेशा मैदान पर जीतने के लिए उतरते हैं। मैदान में विपक्षी टीम को धता बताने के लिए वह जीजान लगा देते हैं। वह भी खेल भावना के तहत। ऐसे में जब कोई टीम खेल भावना के विपरीत आचरण करती है तब वह अपने गुस्से पर काबू नहीं रख पाते हैं। उनका गुस्सा कहीं न कहीं रिफ्लेक्ट होता है। कुछ ऐसा ही 2017 में श्रीलंका के भारत दौरे के दौरान हुआ था। यह बात अरुण जेटली स्टेडियम (तत्कालीन फिरोजशाह कोटला स्टेडियम) में खेले गए सीरीज के तीसरे और आखिरी टेस्ट मैच के दौरान की है।

भारत और श्रीलंका के बीच फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में खेले गए उस मैच के दूसरे दिन स्मॉग के कारण मैदान पर काफी ड्रामा देखने को मिला था। इस कारण विराट कोहली बहुत परेशान नजर आए थे। उस मैच में भारत ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी थी। पहले दिन भारत ने 350 रन से ज्यादा का स्कोर किया। मुरली विजय 155 रन बनाकर आउट हुए। दूसरे दिन विराट कोहली की बारी थी। उन्होंने 243 रनों की शानदार पारी खेली। हालांकि, आउट होने से पहले बार-बार मैच रुकने की वजह से कोहली गुस्से में आ गए थे। पारी का 124वां ओवर लाहिरु गामागे करा रहे थे।

तभी वह अचानक मैदान से बाहर चले गए। थोड़ी देर के लिए खेल रोक दिया गया। इसके बाद जब मैच दोबारा शुरू हुआ तो गामागे का ओवर लकमल ने पूरा किया। इस बात से कोहली बहुत खफा हो गए। उन्होंने मैदान पर ही अपना बल्ला पटक दिया। इसके बाद विराट ने 7 विकेट पर 536 रन के स्कोर पर भारतीय पारी भी घोषित कर दी।

उस मैच में भारतीय खिलाड़ियों ने बिना मास्क पहने ही फील्डिंग की थी। मोहम्मद शमी ने पहले ही गेंद पर विकेट लेकर श्रीलंका की परेशानी बढ़ा दी थी। श्रीलंका की पहली पारी 373 रन पर ऑलआउट हो गई थी। भारत ने दूसरी पारी 5 विकेट पर 246 रन बनाकर घोषित कर दी थी।

इस तरह श्रीलंका को जीत के लिए 410 रन का लक्ष्य मिला। उसके 299 रन पर 5 विकेट गिर चुके थे, लेकिन बार-बार मैच रुकने के कारण भारत को इस मैच को जीतने के लिए पर्याप्त ओवर नहीं मिले। ऐसे में भारतीय फैंस को भी लगा था कि विराट कोहली का गुस्सा जायज था।

विराट कोहली ने उस मैच में एक रिकॉर्ड भी अपने नाम किया था। वह बतौर कप्तान सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने वाले टेस्ट कप्तान बन गए थे। कोहली का उस मैच में वह करियर और बतौर कप्तान छठा दोहरा शतक था। कोहली ने ब्रायन लारा को पीछे छोड़ा था।

वेस्टइंडीज के दिग्गज बल्लेबाज ब्रायन लारा के नाम कप्तान के तौर पर पांच दोहरे शतक दर्ज हैं। तीसरे नंबर पर ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज और कप्तान डॉन ब्रैडमेन और माइकल क्लार्क के साथ दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 डेब्यू मैच में ही हार्दिक पंड्या को लगा था करियर खत्म होने का डर, जानिए महेंद्र सिंह धोनी ने कैसे बनाया स्टार खिलाड़ी
2 क्रिकेटर पति से ज्यादा पॉपुलर है यह एंकर, फुटबॉल वर्ल्ड कप और कॉमनवेल्थ गेम्स में भी कर चुकीं हैं शिरकत
3 IPL से पहले गौतम गंभीर ने दी कोहली को सलाह, 2 बार के चैंपियन ने विराट और MS Dhoni की कप्तानी में बताया फर्क
ये पढ़ा क्या?
X