scorecardresearch

कोहली का फेक इस्तीफा सोशल मीडिया पर वायरल, यूपी चुनाव के मुद्दों को लिखा; विराट को बधाई देने पर जय शाह हुए ट्रोल

विराट कोहली को बधाई देने पर जहां बीसीसीआई सचिव जय शाह को काफी ट्रोल होना पड़ा रहा है। वहीं उनके इस्तीफे के बाद सोशल मीडिया पर चुनावी फॉर्मेट में उनका एक त्याग पत्र भी वायरल हो रहा है।

virat-kohli-fake-resignation-letter-viral-on-social-media-with-topics-of-up-elections-calling-shivpal-yadav-his-leader-jay-shah-trolled-for-wishing
विराट कोहली के टेस्ट कप्तानी छोड़ने के बाद उनका एक फेक लेटर वायरल होने लगा (सोर्स- ट्विटर)

विराट कोहली ने शनिवार शाम अचानक टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़कर हर किसी को हैरान कर दिया था। एक दिन पहले ही दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 3 मैचों की टेस्ट सीरीज गंवाने के बाद उनका ये फैसला सामने आया था। उनके इस फैसले के बाद सोशल मीडिया पर उनका एक फेक त्याग पत्र भी वायरल हो रहा है। इस लेटर में यूपी चुनाव के मुद्दे भी लिखे हैं।

वहीं विराट कोहली के टेस्ट कप्तानी छोड़ने के फैसल पर जब बीसीसीआई सचिव जय शाह ने उन्हें बधाई दी और ट्वीट किया तो वे ट्विटर पर बुरी तरह ट्रोल हो गए। लोगों ने उन्हें खरी-खोठी सुनाना शुरू कर दिया। किसी ने उन्हें इन सब के लिए जिम्मेदार ठहराया तो किसी ने उनके ऊपर पिता अमित शाह के कारण बोर्ड में बैठने के आरोप लगा दिए।

जय शाह ने अपने ट्वीट में कहा कि,’विराट कोहली को अपने शानदार और सफल सफर के लिए शुभकामनाएं। उनके नेतृत्व में टीम फिट बनी और भारत व भारत के बाहर अच्छा परफॉर्म करके आई। इसी दौरान ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में मिली जीत स्पेशल थीं।’ शाह के इस पोस्ट पर लोगों ने उन पर और साथ ही बोर्ड अध्यक्ष सौरव गांगुली पर निशाना साधना शुरू कर दिया।

क्या है फेक त्याग-पत्र ?

दरअसल पूरे देश में इस वक्त चुनावी माहौल है। उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में विधानसभा चुनाव होने हैं। इसी को देखते हुए विराट कोहली के फैसले के बाद उनका एक त्याग पत्र पॉलिटिकल फॉर्मेट में वायरल होने लगा। इस पत्र में दलित वोट समेत कई चुनावी मुद्दे लिखे थे। लेकिन ये पूरी तरह से फेक और एडिट किया हुआ फॉर्मेट था।

इस लेटर में लिखा था कि,’अवगत कराना है कि बीसीसीआई ने बीते 7 साल में पिछड़ों, दलितों, किसानों और अल्पसंख्यकों को कोई तवज्जो नहीं दी है और ना ही उन्हें सम्मान दिया है। बोर्ड के इस रवैये के कारण मैं भारतीय कप्तान के तौर पर इस्तीफा देता हूं। माननीय शिवपाल यादव जी हमारे नेता हैं और मैं उनके साथ हूं।’

हालांकि, ये एक मजाकिया पत्र है जिसे चुनावी माहौल में एडिट करके वायरल किया गया है। इसे किसी नेता के त्याग-पत्र को एडिट करके बनाया गया है। इसके ऊपर तारीख को भी एडिट करके 15-01-2022 किया गया है। इस लेटर में कोई सच्चाई नहीं है लेकिन सोशल मीडिया पर मसाले के तौर पर ये लेटर जमकर वायरल हो रहा है और लोग मजे ले रहे हैं।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.