ताज़ा खबर
 

कोहली ने की साउथ अफ्रीका दौरे के लिए वक्त न मिलने की ‘शिकायत’, बचाव में आया BCCI

विराट कोहली ने कहा कि हमें एक महीने का ब्रेक मिलता तो हम बेहतर तैयारी कर सकते थे लेकिन अब जो स्थिति है, उसी में तैयारी करनी होगी।

Author नागपुर | November 23, 2017 18:35 pm
टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली। (PTI Photo by Swapan Mahapatra)

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने स्वीकार किया कि दक्षिण अफ्रीका दौरे की तैयारी के लिए अधिक समय नहीं होने के कारण टीम प्रबंधन के पास श्रीलंका के खिलाफ मौजूदा श्रृंखला के लिए उछालभरी पिचें बनाने का अनुरोध करने के सिवाय कोई चारा नहीं था। यह पूछने पर कि क्या उन्होंने उछालभरी पिचों की मांग की थी, कोहली ने कहा, ‘‘हां क्योंकि इस श्रृंखला के खत्म होने के दो दिन बाद हमें दक्षिण अफ्रीका रवाना होना है। हमारे पास उस दौरे पर मिलने वाले हालात में खेलने के अलावा कोई चारा नहीं था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें एक महीने का ब्रेक मिलता तो हम बेहतर तैयारी कर सकते थे लेकिन अब जो स्थिति है, उसी में तैयारी करनी होगी।’’ भारतीय टीम श्रीलंका के खिलाफ आखिरी वनडे 24 दिसंबर को खेलेगी जबकि 27 दिसंबर को उसे दक्षिण अफ्रीका रवाना होना है।

कोहली ने कहा कि बड़ी श्रृंखला के लिए टीम को अलग तरीके से तैयारी करनी होती है लिहाजा दो श्रृंखलाओं के बीच ब्रेक होना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘भविष्य में हमें इस पर ध्यान देना होगा क्योंकि हम विदेश दौरे पर टीम का आकलन करने लगते हैं लेकिन यह नहीं देखते कि तैयारी के लिए कितना समय हमें मिला।’’ भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘टेस्ट मैचों के बाद नतीजे आने पर लोग खिलाड़ियों के बारे में आकलन करने लगते हैं। ऐसा नहीं होना चाहिए। यह भी देखना चाहिए कि हम जैसी तैयारी करना चाहते थे, हमें उसका मौका मिला या नहीं। हमें लगा कि आने वाली चुनौतियों का सामना करने की तैयारी के लिए यही मौका है।’’

इस पर बीसीसीआई के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना ने गुरुवार को कहा कि बोर्ड को कप्तान विराट कोहली के ‘व्यस्त कार्यक्रम’ के विचार पर गंभीरता से आकलन करने की जरूरत है जिससे भारत के पास अगले महीने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उसकी सरजमीं पर होने वाली सीरीज की तैयारी के लिए बहुत ही कम समय बचा है। खन्ना यह भी चाहते हैं कि बोर्ड सदस्य इतने कम समय में लगातार तीन सीरीज रखने के फैसले पर भी ध्यान दें। खन्ना ने पीटीआई से कहा, ‘‘विराट भारतीय कप्तान हैं और क्रिकेट के मामलों में उनके विचारों को पूरी गंभीरता से देखा जाना चाहिए। हमें टीम के प्रदर्शन पर गर्व है लेकिन अगर खिलाड़ी थके हुए महसूस कर रहे हैं तो हमें इस मुद्दे पर विचार करने की जरूरत है।’’

इस अनुभवी प्रशासक ने स्वीकार किया कि बोर्ड को भविष्य की घरेलू सीरीज के आयोजन पर ध्यान देने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमें आकलन करना चाहिए कि क्या खिलाड़ियों को बिना ब्रेक दिए लगातार तीन सीरीज आयोजित करना अच्छा विकल्प है या नहीं। इस मामले को उचित मंच पर उठाया जाना चाहिए। यह अच्छा होगा, अगर इस मुद्दे को नौ दिसंबर को होने वाली आम सभा बैठक में शामिल किया जाए।’’ भारतीय क्रिकेटर आईपीएल के शुरू होने के बाद से लगातार क्रिकेट खेल रहे हैं, इसके बाद आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी, वेस्टइंडीज और श्रीलंका के दौरे तथा घरेलू मैदान पर ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और श्रीलंका के खिलाफ लगातार तीन घरेलू सीरीज में 23 मैच (तीन टेस्ट, 11 वनडे और नौ टी20 अंतरराष्ट्रीय) शामिल रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App