ताज़ा खबर
 

IND VS AUS: दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज के साथ कप्तानी में भी ‘किंग’ कोहली का नहीं जवाब, आंकड़े दे रहे गवाही

IND VS AUS: टेस्ट क्रिकेट में भारत को मिली ये 150वीं जीत है और मेलबर्न के मैदान पर भारत को 37 साल बाद जीत मिली है वहीं बॉक्सिंग टेस्ट में भारत की ये पहली जीत है।

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (फोटो सोर्स-BCCI)

मेलबर्न के मैदान पर इतिहास रचकर टीम इंडिया ने 4 टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-1 से बढ़त बना ली है। इसके साथ ही विराट सेना ने साल 2018 को जीत के साथ विदाई भी दे दी है। भारत की ये जीत कई मायनों में ऐतिहासिक और यादगार है, मसलन टेस्ट क्रिकेट में भारत को मिली ये 150वीं जीत है और मेलबर्न के मैदान पर भारत को 37 साल बाद जीत मिली है वहीं बॉक्सिंग टेस्ट में भारत की ये पहली जीत है। वैसे तो ये साल भारतीय क्रिकेट के लिहाज से काफी उम्दा रहा है लेकिन विराट कोहली की बल्लेबाजी और कप्तानी के लिहाज से भी ये खास रहा है। आइए आपको बताते हैं कि आखिर दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज होने के साथ-साथ विराट कोहली कप्तानी में भी बेजोड़ हैं।

विदेशी धरती पर सबसे सफल कप्तानः विराट के बारे में एक बात शुमार है कि टॉस जीतने के बाद वो कभी मैच नहीं हारे हैं। इसके साथ ही विदेशी धरती पर प्रदर्शन की बात करें तो कप्तान कोहली की ये 11वीं टेस्ट जीत है। उनकी कप्तानी में भारत ने 24 टेस्ट मैच में 11 मुकाबले जीते हैं। जबकि इससे पहले गांगुली ने 28 में से 11 में ये मुकाम हासिल किया था। वहीं धोनी 30 में से 6 विदेशी टेस्ट मैच में जीत दिला सके हैं। वहीं इस साल भारत ने 4 टेस्ट मैच विदेशी धरती पर जीते हैं जो कि भारत का अबतक का सबसे बेस्ट प्रदर्शन है। इससे पहले भारत ने 1968 में विदेशी धरती पर तीन टेस्ट मैच जीते थे।

पहला मुकाबला साउथ अफ्रीका के दौरे पर भारत ने जीता था,वहीं इंग्लैंड दौरे पर भारत ने ट्रेंट ब्रिज में जीत हासिल की थी उसके बाद ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारत की ये दूसरी जीत है। वहीं SENA देशों की बात करें तो विराट कोहली ने 4 मैच जीते हैं जबकि एमएस धोनी ने 3 और पटौदी ने 3 मैच जीते हैं। ऑस्ट्रेलिया की धरती पर अगर देखें तो कोहली पहले ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने सीरीज में 2-1 की बढ़त बनाई है। ऐसे में ये आंकड़े बताते हैं कि कप्तान कोहली दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज होने के साथ-साथ नंबर वन कप्तान भी हैं।

इस मैच की बात करें तो टॉस जीतकर टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पहली इनिंग में 443 रन बनाए थे जिसके जवाब में मेजबान टीम 151 के स्कोर पर ही ढेर हो गई थी। वहीं दूसरी पारी में भारत ने 106 रन औऱ जोड़कर ऑस्ट्रेलिया को 399 का लक्ष्य दिया और ऑस्ट्रेलिया की टीम 261 के स्कोर पर ही ऑलआउट हो गई। भारत की तरफ से पहली पारी में बुमराह ने 6 विकेट झटके तो दूसरी पारी में उन्होंने 3 विकेट झटककर मेजबान की कमर तोड़ दी। दोनों टीमों के बीच अगला मुकाबला जनवरी से खेला जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App