ताज़ा खबर
 

Vijay Hazare Trophy: पृथ्वी शॉ ने 152 गेंद पर ठोके 227 रन, तोड़ा रोहित शर्मा और वीरेंद्र सहवाग का रिकॉर्ड

पृथ्वी शॉ 50 ओवर क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने वाले आठवें भारतीय खिलाड़ी भी बन गए। पृथ्वी शॉ को पिछले साल दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट के दौरान खराब प्रदर्शन (पहली पारी में शून्य और दूसरी पारी में 4 रन) के कारण भारतीय टीम से बाहर कर दिया गया था।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: February 25, 2021 3:16 PM
Prithvi Shaw Vijay Hazare Trophy Mumbai Captainपृथ्वी शॉ 50 ओवर क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने वाले आठवें भारतीय खिलाड़ी बन गए। (सोर्स- ट्विटर बीसीसीआई)

पृथ्वी शॉ ने 25 फरवरी 2021 को जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में इतिहास रचा। पृथ्वी शॉ गुरुवार को दुनिया में लिस्ट ए के किसी मैच में हाइएस्ट स्कोर बनाने वाले कप्तान बन गए। इस उपलब्धि को अपने नाम करने के साथ ही पृथ्वी शॉ ने रोहित शर्मा, वीरेंद्र सहवाग और ग्रीम पोलॉक के रिकॉर्ड भी तोड़े।

वीरेंद्र सहवाग ने 2011 में टीम इंडिया की कमान संभालते हुए इंदौर में वेस्टइंडीज के खिलाफ 219 रन बनाए थे। रोहित शर्मा ने 2017 में भारतीय क्रिकेट टीम की अुगआई करते हुए मोहाली में श्रीलंका के खिलाफ नाबाद 208 रन की पारी खेली थी। साल 1984 में दक्षिण अफ्रीका के ग्रीम पोलॉक ने ईस्टर्न प्रॉविंस की अगुआई करते हुए ईस्ट लंदन के मैदान पर बॉर्डर के खिलाफ मैच में नाबाद 222 रन बनाए थे। इसके साथ ही पृथ्वी शॉ 50 ओवर क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने वाले आठवें भारतीय खिलाड़ी भी बन गए।

पृथ्वी शॉ ने गुरुवार को विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) 2020-21 में मुंबई की ओर से खेलते हुए पुडुचेरी के खिलाफ महज 142 रनों पर दोहरा शतक ठोक दिया। इस दौरान उन्होंने 27 चौके और चार छक्के लगाए। पृथ्वी ने इस मैच में मुंबई की अगुआई की। पृथ्वी शॉ ने पहली बार मुंबई की कमान संभाली है। पृथ्वी शॉ ने 152 गेंदों में नाबाद 227 रन बनाए। इसमें 31 चौके और 5 छक्के शामिल थे।

पृथ्वी शॉ के दोहरे शतक के दम पर मुंबई ने 50 ओवर में 4 विकेट पर 457 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। पृथ्वी शॉ से पहले उनकी मुंबई टीम के साथी और सलामी जोड़ीदार यशस्वी जायसवाल 50 ओवर क्रिकेट में दोहरा शतक बनाने वाली आखिरी भारतीय थे। यशस्वी जायसवाल ने अक्टूबर 2019 विजय हजारे ट्रॉफी के ही मैच में झारखंड के खिलाफ 203 रन बनाए थे।

पृथ्वी शॉ को पिछले साल दिसंबर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट के दौरान खराब प्रदर्शन (पहली पारी में शून्य और दूसरी पारी में 4 रन) के कारण भारतीय टीम से बाहर कर दिया गया था। पृथ्वी को उसके बाद सीरीज के अन्य तीन टेस्ट मैच में मौका नहीं मिला था। उनकी जगह शुभमन गिल को मौका मिला। अब उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी की तीन पारियों में दो शतक बनाए हैं। उन्होंने टूर्नामेंट के अपने पहले मैच में दिल्ली के खिलाफ 89 गेंद में नाबाद 105 रन बनाए थे। महाराष्ट्र के खिलाफ मैच में वह 34 रन पर आउट हुए थे।

Next Stories
1 तीसरा टेस्ट दूसरे दिन ही खत्म, भारत ने 10 विकेट से जीता मैच; सीरीज में बनाई 2-1 से बढ़त
2 ‘विराट कोहली और रोहित शर्मा कर देते हैं गेंदबाजों का मर्डर, भारत में टेस्ट जीतना मुश्किल’, बोले शोएब अख्तर
3 PSL 2021: बाबर आजम और शर्जील खान ने बनाया बड़ा रिकॉर्ड, फिर भी कराची किंग्स हारा; एलेक्स हेल्स ने गेंदबाजों को कूटा
कोरोना LIVE:
X