Vijay Hazare Trophy 2021-22: 38 टीमें 6 ग्रुप और 105 मुकाबले, 19 दिनों तक देश में रहेगी वनडे क्रिकेट की धूम; यहां देखिए पूरा शेड्यूल

इस टूर्नामेंट के अब तक 19 संस्करण आयोजित हुए हैं। सबसे ज्यादा 5 बार तमिलनाडु की टीम चैंपियन बनी है। इसके अलावा मुंबई और कर्नाटक 4-4 बार इस खिताब पर कब्जा जमा चुकी है। दिल्ली, गुजरात, रेलवे, सौराष्ट्र, झारखंड और बंगाल की टीमें भी एक-एक बार ये खिताब जीती हैं।

vijay-hazare-trophy-full-schedule-2021-22-season-mumbai-is-defending-champion-tamil-nadu-won-most-5-titles-38-teams-will-clash-in-105-odis
विजय हजारे ट्रॉफी के साथ 2018-2019 की चैंपियन कर्नाटक की टीम (सोर्स- Indian Express)

भारत की घरेलू वनडे लीग विजय हजारे ट्रॉफी के 2021-22 संस्करण की शुरुआत 8 दिसंबर से होगी। फाइनल मुकाबला 26 दिसंबर को खेला जाएगा। इस टूर्नामेंट में कुल 38 टीमें हिस्सा ले रही हैं। कुल 6 ग्रुप हैं जिसमें 5 एलीट ग्रुप हैं और एक प्लेट ग्रुप है। टूर्नामेंट में कुल 105 मुकाबले खेले जाएंगे।

19 दिनों तक चलने वाले इस टूर्नामेंट के पांचों एलीट ग्रुप को ए, बी, सी, डी और ई के नाम से रखा गया है। हर एलीट ग्रुप में 6-6 टीमों को रखा गया है। इसके अलावा 8 टीमें प्लेट ग्रुप में शामिल हैं। हर टीम ग्रुप स्टेज में पांच-पांच मुकाबले खेलेगी। मुंबई, जयपुर, राजकोट और चंडीगढ़ समेत कुल 20 अलग-अलग वेन्यू पर मैचों का आयोजन होगा।

8,9,11,12 और 14 दिसंबर को ग्रुप स्टेज के मुकाबले खेले जाएंगे। इसके बाद 19 दिसंबर को प्री क्वार्टरफाइनल, 21 और 22 दिसंबर को क्वार्टरफाइनल खेले जाएंगे। 24 दिसंबर को दोनों सेमीफाइनल और 26 दिसंबर को फाइनल मुकाबले को करवाना तय किया गया है।

ये है ग्रुप स्टेज का शेड्यूल

8 दिसंबर 2021

8 दिसंबर का शेड्यूल (सोर्स- क्रिकबज)

9 दिसंबर 2021

9 दिसंबर का शेड्यूल (सोर्स- क्रिकबज)

11 दिसंबर 2021

11 दिसंबर का शेड्यूल (सोर्स- क्रिकबज)

12 दिसंबर 2021

12 दिसंबर का शेड्यूल (सोर्स- क्रिकबज)

14 दिसंबर 2021

14 दिसंबर का शेड्यूल (सोर्स- क्रिकबज)

नॉकआउट स्टेज का पूरा शेड्यूल

नॉकआउट मुकाबलों का पूरा शेड्यूल जो ग्रुप स्टेज के बाद तय होगा (सोर्स- क्रिकबज)

अगर विजय हजारे ट्रॉफी के पिछले संस्करण की बात करें तो इस साल फरवरी और मार्च में ही टूर्नामेंट का आयोजन हुआ था। फाइनल मुकाबले में मुंबई ने उत्तर प्रदेश को 6 विकेट से हराकर चौथी बार ये खिताब अपने नाम किया था। पृथ्वी शॉ इस मुंबई की टीम के कप्तान थे।

इससे पहले 19 संस्करण इस टूर्नामेंट के आयोजित हुए हैं। सबसे ज्यादा 5 बार तमिलनाडु की टीम चैंपियन बनी है। इसमें 2004-05 का वो संस्करण भी शामिल है जिसमें तमिलनाडु के साथ उत्तर प्रदेश को भी संयुक्त विजेता घोषित किया गया था।

इसके अलावा मुंबई और कर्नाटक 4-4 बार इस खिताब पर कब्जा जमा चुकी है। दिल्ली, गुजरात, रेलवे, सौराष्ट्र, झारखंड और बंगाल की टीमें भी एक-एक बार इस खिताब को जीतने में कामयाब रही हैं।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।