ताज़ा खबर
 

कभी 4 रन पर झटके थे 6 विकेट, अब 140 के स्ट्राइक रेट से गेंदबाजों को धुना; स्टुअर्ट बिन्नी के दम पर नगालैंड ने मिजोरम को हराया

Vijay Hazare Trophy 2020-21: लक्ष्य का पीछा करने उतरी मिजोरम की शुरुआत खराब रही। उसने 5.3 ओवर में महज 18 रन पर ही 2 विकेट गंवा दिए थे। इसके बाद प्रतीक देसाई और तरुवर कोहली ने तीसरे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की।

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: February 23, 2021 5:26 PM
Stuart Binny Pratik Desai Taruwar Kohliस्टुअर्ट बिन्नी, प्रतीक देसाई और तरुवर कोहली (बाएं से)। (सोर्स- ट्विटर ईएसपीएनक्रिकइंफो, बीसीसीआई, आरसीबी)

Vijay Hazare Trophy: विजय हजारे ट्रॉफी 2020-21 के राउंड 2 प्लेट के मैच में 23 फरवरी को नगालैंड ने मिजोरम को हरा दिया। उसकी इस जीत में स्टुअर्ट बिन्नी का अहम योगदान रहा। नगालैंड ने मिजोरम को जीत के लिए 348 रन का लक्ष्य दिया था। नगालैंड ने 50 ओवर में 9 विकेट पर 347 रन बनाए। विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी मिजोरम की टीम 50 ओवर में 6 विकेट पर 318 रन ही बना पाई।

नगालैंड की इस टूर्नामेंट में यह लगातार दूसरी जीत है। इस जीत से उसके 8 अंक हो गए हैं। नगालैंड के ऑलराउंडर स्टुअर्ट बिन्नी (Stuart Binny) ने 5 चौके और 5 छक्के की मदद से 56 गेंद में 80 रन (142.86 के स्ट्राइक रेट से) ठोके। स्टुअर्ट बिन्नी ने 10 ओवर में 56 रन देकर 2 विकेट भी लिए। स्टुअर्ट बिन्नी ही वह खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 17 जून 2014 को बांग्लादेश में भारत की लाज बचाई थी। टीम इंडिया उस दिन बांग्लादेश के खिलाफ मैच में 105 रन पर ढेर हो गई थी। बाद में स्टुअर्ट बिन्नी ने 4.4 ओवर में सिर्फ 4 रन देकर 6 विकेट लेकर बांग्लादेश का पुलिंदा बांध दिया था और भारत ने वह मैच 47 रन से जीत लिया था।

इसके साथ ही स्टुअर्ट बिन्नी वनडे क्रिकेट में सबसे कम रन देकर 6 विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज भी बने थे। उनका यह रिकॉर्ड आज भी कायम है। उनसे पहले यह रिकॉर्ड महान लेग स्पिनर अनिल कुंबले के नाम था। कुंबले ने 1993 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 12 रन देकर 6 विकेट लिए थे।

चेन्नई (Chennai) के इंडिया सीमेंट लिमिटेड गुरु नानक कॉलेज ग्राउंड पर खेले गए विजय हजारे ट्रॉफी के इस मैच में नगालैंड ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी। उसका यह फैसला सही साबित हुआ। नगालैंड की ओर से ओपनर सेडेझाली रूपेरा (Sedezhalie Rupero) ने 10 चौके की मदद से 79 गेंद में 65 रन बनाए।

हालांकि, 26 ओवर्स तक नगालैंड का स्कोर 2 विकेट पर 141 रन था। उस समय क्रीज पर कप्तान रोंगसेन जोनाथन ने 39 और स्टुअर्ट बिन्नी ने 2 रन बनाए थे। इसके बाद बिन्नी ने मैदान में तूफान ला दिया। वह 42वें ओवर की तीसरी गेंद पर आउट हुए। उस समय नगालैंड का स्कोर 4 विकेट पर 261 रन हो चुका था। जोनाथन ने भी 62 रन की पारी खेली। जोनाथन ने आउट होने से पहले स्टुअर्ट बिन्नी के साथ तीसरे विकेट के लिए 72 रन की साझेदारी की।

स्टुअर्ट बिन्नी के पवेलियन लौटने के बाद श्रीकांत मुंडे, विकेटकीपर चेतन बिष्ट और इमलीवती लेमतुर (Imliwati Lemtur) ने भी टीम को 347 के स्कोर तक पहुंचाने में अहम योगदान दिया। मुंडे ने 30, बिष्ट ने 31 और लेमतुर ने नाबाद 20 रन बनाए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी मिजोरम की शुरुआत खराब रही। उसने 5.3 ओवर में महज 18 रन पर ही 2 विकेट गंवा दिए थे। इसके बाद प्रतीक देसाई और तरुवर कोहली ने तीसरे विकेट के लिए 212 रन की साझेदारी की। प्रतीक 38वें ओवर की दूसरी गेंद पर 141 के निजी स्कोर पर आउट हुए। उन्होंने अपनी 113 गेंद की पारी के दौरान 19 चौके और एक छक्का लगाया।

उन्हें स्टुअर्ट बिन्नी ने विकेट के पीछे चेतन बिष्ट के हाथों कैच कराया। वह जब आउट हुए तब मिजोरम का स्कोर 37.2 ओवर में 3 विकेट पर 230 रन था। मिजोरम की ओर से तरुवर कोहली ने भी शतक लगाया। तरुवर ने 113 गेंद में 108 रन बनाए। उन्होंने 7 चौके और 3 छक्के लगाए। हालांकि, प्रतीक और तरुवर को छोड़कर मिजोरम के कप्तान केबी पवन ही दहाई का आंकड़ा छू पाए। केबी पवन 37 गेंद में 40 रन बनाकर नाबाद रहे।

Next Stories
1 मोटेरा स्टेडियम: भारत ने वर्ल्ड कप में यहीं लिया था ऑस्ट्रेलिया से बदला, अब विराट सेना की अंग्रेजों को धूल चटाने की बारी
2 सचिन तेंदुलकर को अब कोई भी बना सकता है अपना गुरु, मुफ्त में ऑनलाइन कोचिंग देंगे ‘क्रिकेट के भगवान’
3 3 घंटे पहले एयरपोर्ट पहुंचने के बावजूद शिखर धवन की छूट गई थी फ्लाइट, गब्बर ने इंटरव्यू में सुनाई थी अपनी Love Story
ये पढ़ा क्या?
X