ताज़ा खबर
 

VIDE0: गंभीर मूड में पीसी कर रहे थे दक्षिण अफ्रीकी कप्तान, हुआ कुछ ऐसा कि ठहाके लगाने लगे पत्रकार

जब फाफ पत्रकारों से बात कर रहे थे, तभी अचानक किसी के फोन की रिंगटोन बज उठी। वह रिंगटोन इतनी मजाकिया थी कि सभी का ध्यान उस तरफ चला गया।

जब गंभीर माहौल में यह बातचीत चल ही रही थी कि तभी कुछ ऐसा हुआ कि पूरा हॉल ठहाकों से गूंज उठा। (image source-Twitter)(video grab image)

गुरुवार को जब बॉल टैम्परिंग विवाद में ऑस्ट्रेलिया के दोषी खिलाड़ियों स्टीव स्मिथ, कैमरून बेनक्रॉफ्ट ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपने किए पर भावुक होकर माफी मांगी तो उसके बाद से कई खिलाड़ी भी इस घटना से दुखी दिखाई दिए। दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी फाफ डू प्लेसिस भी स्मिथ की भावुक अपील के बाद उनके समर्थन में आ गए। फाफ डू प्लेसिस ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर स्मिथ को अच्छा इंसान बताया और कहा कि उन पर 12 महीने का बैन थोड़ा कठोर फैसला है। जब गंभीर माहौल में यह बातचीत चल ही रही थी, तभी कुछ ऐसा हुआ कि पूरा हॉल ठहाकों से गूंज उठा। दरअसल, जब फाफ पत्रकारों से बात कर रहे थे, तभी अचानक किसी के फोन की रिंगटोन बज उठी।

वह रिंगटोन इतनी मजाकिया थी कि सभी का ध्यान उस तरफ चला गया। फाफ डू प्लेसिस भी इस रिंगटोन को सुनकर चौंक गए। इतना ही नहीं, फाफ ने इस रिंगटोन को शॉकिंग करार दे दिया। इसके बाद तो सभी लोग ठहाके लगाकर हंस पड़े। बता दें कि फाफ डू प्लेसिस ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के खिलाफ सख्त एक्शन से काफी दुखी दिखाई दिए। फाफ ने कहा कि उन्हें स्टीव स्मिथ के लिए बुरा लग रहा है। उन्होंने कहा कि मैंने उसे समर्थन देने के लिए एक मैसेज भी किया है। फाफ डू प्लेसिस ने कहा कि पिछला हफ्ता काफी क्रेजी रहा, उसके साथ जो भी हुआ, उसके लिए मुझे बुरा लग रहा है। मुझे लगता है कि स्मिथ एक अच्छा इंसान है और वह बस गलत जगह फंस गया।

बता दें कि गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने सिडनी में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपने किए पर माफी मांगी। इस दौरान स्टीव काफी भावुक दिखाई दिए और बातचीत के दौरान कई बार रोते देखे गए। स्टीव स्मिथ ने इस दौरान कहा कि उन्हें अपने किए पर पछतावा है और अपनी इस गलती को सुधारने के लिए वह वो सब कुछ करेंगे, जो जरूरी है। उल्लेखनीय है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बॉल टैम्परिंग का दोषी पाए जाने पर स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर 12 महीने का बैन लगा दिया है, वहीं कैमरून बेनक्रॉफ्ट पर 9 महीने का बैन लगाया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App