ताज़ा खबर
 

मोहाली में फर्जी टी20 लीग चलाने वाले सरगना को पुलिस ने दबोचा, श्रीलंका के नाम पर कराया था टूर्नामेंट

पहले कहा जा रहा था कि टी20 लीग श्रीलंका के बादुला में खेला जा रहा है, लेकिन पंजाब पुलिस ने पता लगाया तो यह मोहाली के करीब एक गांव में खेला जा रहा था। इस टूर्नामेंट में तिलकरत्ने दिलशान, परवेज महरूफ और अजंथा मेंडिस जैसे खिलाड़ियों के खेलने की बात कही गई थी।

आरोपी रविंदर सिंह दांडीवाल (दाएं) बीसीसीआई के एक टूर्नामेंट में गेस्ट था।

पंजाब पुलिस ने एक फर्जी टी20 टूर्नामेंट का भंडा फोड़ करने के 3 दिन बाद ही उसके मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। हाल ही में श्रीलंका में Uva T20 league नाम से एक टूर्नामेंट का आयोजन हुआ जिसे दो मैच के बाद ही रोक दिया गया। पहले कहा जा रहा था कि यह श्रीलंका के बादुला में खेला जा रहा है, लेकिन पंजाब पुलिस ने पता लगाया तो यह मोहाली के करीब एक गांव में खेला जा रहा था। इस टूर्नामेंट में तिलकरत्ने दिलशान, परवेज महरूफ और अजंथा मेंडिस जैसे खिलाड़ियों के खेलने की बात कही गई थी।

हमारे सहयोगी अखबार द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, पकड़े गए व्यक्ति की पहचान ऑस्ट्रेलियाई पुलिस ने एक प्रमुख अंतरराष्ट्रीय टेनिस मैच फिक्सिंग सिंडिकेट के सरगना के रूप में की है। उसकी पहचान रविंदर सिंह दांडीवाल के रूप में की गई है। मोहाली एसएसपी कुलदीप सिंह ने 5 जुलाई को गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपियों से पूछताछ के बाद उसका पता लगाया। मोहाली पुलिस ने 5 जुलाई को हनुमानगढ़, राजस्थान के निवासी दांडीवाल को दबोच लिया।

इसके अलावा पुलिस नकली UVA t20 लीग टूर्नामेंट के साथ उसके संभावित संबंधों का भी पता लगा रही है। इंडियन एक्सप्रेस ने पिछले हफ्ते फर्जी टी20 लीग के बारे में सबसे पहले बताया था। पुलिस ने कहा कि वे लीग में दांडीवाल की संभावित भागीदारी की जांच कर रहे थे। बीसीसीआई के शीर्ष भ्रष्टाचार निरोधक अधिकारी ने दांडीवाल को ऑस्ट्रेलिया में विक्टोरिया पुलिस द्वारा टेनिस फिक्सिंग रैकेट में एक संदिग्ध के रूप में नामित किया था। वह बीसीसीआई की भी निगरानी सूची में शामिल है।

वहीं ऑस्ट्रेलिया के अखबार सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड के मुताबिक, विक्टोरिया पुलिस ने फिक्सिंग घोटाले में दांडीवाल को मुख्य आरोपी के रूप में नामित किया था। जहां उसके गुर्गे कम रैंक वाले टेनिस खिलाड़ियों को मैच हारने के लिए मनाते थे। दांडीवाल चंडीगढ़ क्रिकेट सर्किट में जाने जाता है। बीसीसीआई द्वारा मान्यता नहीं मिलने वाले निजी सीमित ओवरों के टूर्नामेंट और लीग आयोजित कराता था। वह विदेशों में भी टी20 लीग से जुड़ा रहा है।

Next Stories
1 ICC चैयरमैन पद के लिए डेव कैमरन को नहीं मिला अपने ही बोर्ड का साथ, गांगुली का नाम भी है शामिल
2 ‘T20 वर्ल्ड कप की जगह IPL हुआ तो क्रिकेट के लिए अच्छा नहीं होगा’ बोले पाकिस्तान के दिग्गज कप्तान
3 ‘सचिन तेंदुलकर पहली गेंद का सामना नहीं करने के लिए बनाते थे बहाने’, सौरव गांगुली ने किया खुलासा
MP Budget:
X