US OPEN: ब्रिटिश किशोरी ने अमेरिका में लगाई रिकॉर्ड्स की झड़ी, 18 साल की एम्मा रादुकानू ग्रैंड स्लैम फाइनल में पहुंचने वाली पहली क्वालिफायर बनीं

एम्मा रादुकानू ने इसके अलावा और भी कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। वह पिछले 62 साल में ग्रैंड स्लैम का फाइनल खेलने वाली सबसे कम उम्र की ब्रिटिश टेनिस खिलाड़ी भी बन गईं हैं। वह पिछले 53 साल में अमेरिकी ओपन (यूएस ओपन) के फाइनल में पहुंचने वाली पहली ब्रिटिश महिला हैं।

British teenager Emma Raducanu Grand Slam final1
एम्मा रादुकानू पिछले 44 साल में किसी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचने वाली पहली ब्रिटिश महिला टेनिस खिलाड़ी बन गई हैं। (सोर्स- इंस्टाग्राम/एम्मा रादुकानू)

ब्रिटिश किशोरी एम्मा रादुकानू ने टेनिस जगत में इतिहास रच दिया है। रादुकानू पहली बार किसी ग्रैंडस्लैम के फाइनल में पहुंची हैं। रादुकानू ने साल के आखिरी ग्रैंड स्लैम यूएस ओपन टेनिस चैंपियनशिप (United States Open Tennis Championships) में अपने अभियान की शुरुआत क्वालिफायर खिलाड़ी के तौर पर की थी। अब वह 11 सितंबर को होने वाले वुमन्स सिंगल्स के फाइनल में कनाडा की गैरवरीयता प्राप्त लीलह फर्नाडीज के खिलाफ अपनी चुनौती पेश करेंगी।

18 साल की एम्मा रादुकानू 144 साल के इतिहास में किसी भी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचने वाली पहली क्वालिफायर खिलाड़ी (पुरुष या महिला) हैं। एम्मा रादुकानू ने इसके अलावा और भी कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। वह पिछले 62 साल में ग्रैंड स्लैम का फाइनल खेलने वाली सबसे कम उम्र की ब्रिटिश टेनिस खिलाड़ी भी बन गईं हैं। वह पिछले 44 साल में किसी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचने वाली पहली ब्रिटिश महिला टेनिस खिलाड़ी बन गई हैं। वह पिछले 53 साल में अमेरिकी ओपन (यूएस ओपन) के फाइनल में पहुंचने वाली पहली ब्रिटिश महिला हैं।

उनसे पहले 1968 में वर्जीनिया वेड ने यूएस ओपन के फाइनल में जगह बनाई थी। वह 2004 विम्बलडन के बाद किसी भी ग्रैंड स्लैम फाइनल में पहुंचने सबसे कम उम्र की खिलाड़ी हैं। साल 2004 में रूस की मारिया शारापोवा ने 17 साल की उम्र में विम्बलडन वुमन्स सिंगल्स की ट्रॉफी जीती थी।

खास यह है कि रादुकानू के फाइनल में पहुंचने का गवाह वर्जीनिया वेड भी बनीं। रादुकानू का मैच देखने के लिए आर्थर ऐश स्टेडियम में मौजूद थीं। उनके साथ अपने समय की स्टार टेनिस खिलाड़ी मोनिका सेलेस भी मौजूद थीं।

यह भी रोचक है कि फाइनल की उनकी प्रतिद्वंद्वी लेलाह एनी फर्नांडीज (Leylah Annie Fernandez) भी पहली बार किसी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची हैं। वह इस महीने की 6 तारीख को 19 साल की हुईं हैं। यूएस ओपन के फाइनल में आखिरी बार 1999 में दोनों किशोरियां भिड़ीं थीं। तब सेरेना विलियम्स और मार्टिना हिंगिस आमने-सामने हुईं थीं।

एम्मा रादुकानू यूएस ओपन 2021 में अब तक एक भी सेट नहीं हारी हैं। ऐसे में यदि वह फाइनल में लेलाह एनी फर्नांडीज को हरा दें तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी। एम्मा रादुकानू ने यूनान की 17वीं वरीयता प्राप्त मारिया सकारी को 6-1, 6-4 से हराकर फाइनल में जगह बनाई है।

वहीं, लेलाह एनी फर्नांडीज के सेमीफाइनल मैच की बात करें तो उन्होंने दूसरी वरीयता प्राप्त आर्यना सबालेंका को एक रोचक मुकाबले में 7-6 (3), 4-6, 6-4 से हराया। फर्नांडीज ने शुरू में तीन गेम गंवा दिए थे लेकिन उन्होंने वापसी करके टाईब्रेकर में यह सेट जीता।

सबालेंका ने दूसरा सेट जीतकर मैच रोमांचक बना दिया, लेकिन इससे फर्नांडीज पर असर नहीं पड़ा। फर्नांडीज ने तीसरा सेट जीतकर खिताब की तरफ मजबूत कदम बढ़ाए।

विश्व में 73वीं रैंकिंग की फर्नांडीज ने वरीयता प्राप्त खिलाड़ियों के खिलाफ लगातार चौथे मैच में तीन सेट में जीत दर्ज की है। उन्होंने फाइनल की अपनी राह में 2018 और 2020 की चैंपियन तीसरी वरीय नाओमी ओसाका, 2016 की चैंपियन 16वीं वरीय एंजेलिक कर्बर तथा फिर पांचवीं वरीयता प्राप्त एलिना स्वितोलिना और अब सबालेंका को हराया।

इनामी राशि के हिसाब से देखें तो अन्य ग्रैंड स्लैम के मुकाबले यूएस ओपन की पुरस्कार राशि सबसे ज्यादा है। 2021 यूएस ओपन के लिए कुल पुरस्कार राशि 57.5 मिलियन डॉलर (करीब 422 करोड़ रुपए) है। वुमन्स सिंगल्स के फाइनल में पहुंचने वाली खिलाड़ी को पुरस्कार स्वरूप 1250000 डॉलर (करीब 9.17 करोड़ रुपए) और खिताब जीतने वाली खिलाड़ी को 2500000 डॉलर (करीब 18.35 करोड़ रुपए) की राशि मिलेगी।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट