ताज़ा खबर
 

सीआरपीएफ की मदद से कश्‍मीर के दो युवा खिलाड़ी स्‍पेन में खेलेंगे फुटबॉल

जम्‍मू कश्‍मीर के दो युवकों को चयन स्‍पेन के फुटबॉल क्‍लब के लिए हुआ है। बासित अहमद और मोहम्‍मद असरार सोशियाड डेपोर्टिवा लेनेंस प्रोइनास्‍तुर की ओर से खेलेंगे।

जैकसन ने कहा कि मैं बचपन से भारत के लिए खेलने का सपना देखता आया हूं।

जम्‍मू कश्‍मीर के दो युवकों को चयन स्‍पेन के फुटबॉल क्‍लब के लिए हुआ है। बासित अहमद और मोहम्‍मद असरार सोशियाड डेपोर्टिवा लेनेंस प्रोइनास्‍तुर की ओर से खेलेंगे। यह सब सीआरपीएफ की वजह से संभव हो पाया। सीआरपीएफ का इस क्‍लब से करार है ताकि जमीनी स्‍तर पर प्रतिभा की तलाश की जाए। सोशियाड डेपोर्टिवा लेनेंस प्रोइनास्‍तुर स्‍पेन की ला लीगा की तीसरी श्रेणी का फुटबॉल क्‍लब है। बासित और असरार ने फुटबॉल को लेकर अपने जज्‍बे को पिछले साल घाटी में प्रदर्शन के दौरान भी कमजोर नहीं होने दिया। चार महीने तक हुए प्रदर्शन के चलते घाटी तनाव से गुजर रही थी। इसके बावजूद दोनों खिलाड़ी खेल से जुड़े रहे।

बासित अहमद ने बताया कि उनका सपना सच हो गया। असरार ने कहा कि उन्‍होंने ऐसा कभी नहीं सोचा था। मुकाबला तगड़ा था। कश्‍मीर में सीआरपीएफ के आईजी जुल्फिकार हसन ने बताया कि सीआरपीएफ ने स्‍पेन के क्‍लब से करार था। दो लड़कों का चुना जाना खुशी की बात है। इन दोनों का खर्चा फुटबॉल क्‍लब की वहन करेगा। इसके लिए बाकायदा अनुबंध भी साइन किया गया है। कश्‍मीरी युवाओं के साथ जुड़ने के लिए सीआरपीएफ ने स्‍पेनिश फुटबॉल क्‍लब से हाथ मिलाया था, जिससे की युवाओं की ऊर्जा को सकारात्‍मक रूप से इस्‍तेमाल किया जा सके।

एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया, ”क्‍लब ने जनवरी में दो खिलाडि़यों के साथ अनुबंध का फैसला किया। पहली बार है कि कोई भारतीय खिलाड़ी स्‍पेनिश क्‍लब में खेलेगा।” बासित और असरार संतोष और डूरंड कप में भी खेले चुके हैं। दोनों खिलाड़ी छह महीने तक क्‍लब के साथ रहेंगे। स्‍पेन की ला लीगा बड़ा घरेलू टूर्नामेंट है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App