53 साल 12 मेडल, टोक्यो पैरालंपिक में अकेले 19 मेडल जीते; पहली बार टॉप 25 में रहा भारत

टोक्यो पैरालंपिक में भारत ने 19 मेडल जीतक 53 साल के इतिहास में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। भारत ने इस बार 5 गोल्ड, 8 सिल्वर और 6 ब्रॉन्ड मेडल अपने नाम किए। इसी के साथ भारत मेडल टैली में 24वें स्थान पर रहा है।

tokyo-paralympics-indian-players-created-history-with-19-medals-and-earlier-12-medals-won-in-53-years
टोक्यो पैरालंपिक में भारत के लिए इन पांच खिलाड़ियों ने जीता गोल्ड मेडल (Source: Twitter Tokyo2020hi)

टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रचने के बाद भारत ने टोक्यो पैरालंपिक में भी इतिहास रच दिया है। भारत ने अपने 53 साल के पैरालंपिक के इतिहास में जितने मेडल जीते थे उससे डेढ़ गुना से ज्यादा मेडल भारत ने अकेले टोक्यो में जीत लिए हैं। इस बार भारत ने 5 गोल्ड मेडल सहित 19 मेडल अपने नाम किए हैं।

टोक्यो पैरालंपिक खेलों में भारत ने 5 स्वर्ण, 8 रजत और 6 कांस्य अपनी झोली में डाले हैं। इसी के साथ पहली बार भारत पैरालंपिक के इतिहास में टॉप 25 में रहा है। इस बार भारत 24वें स्थान पर रहा है। इससे पहले रियो पैरालंपिक में भारत ने 4 मेडल जीते थे।

आपको बता दें 1968 के तेल अवीव पैरालंपिक में भारत ने पहली बार भाग लिया था। जहां भारत को एक भी मेडल नहीं मिला था। इसके बाद पहली बार भारत ने 1972 में मेडल जीता था। भारत के लिए पैरालंपिक के इतिहास में पहला मेडल 50 मीटर फ्रीस्टाइल स्वीमिंग में मुरलीकांत पेटकर ने जीता था। पेटकर ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाते हुए देश के लिए पहला मेडल और पहला स्वर्ण पैरालंपिक खेलों के इतिहास में जीता था।

इसके बाद से 2016 तक भारत ने कुल 12 पैरालंपिक मेडल अपने नाम किए थे। वहीं इस बार अकेले एक पैरालंपिक में ही भारत ने 19 मेडल अपने नाम किए हैं।

53 साल के पैरालंपिक इतिहास में ये भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इसके अलावा अगर ओलंपिक से भी तुलना की जाए तो भारत कभी दहाई के आंकड़े में भी वहां नहीं पहुंचा है। वहीं पैरालंपिक इतिहास में भारत के अब कुल 31 मेडल हो गए हैं।

किसने-किसने टोक्यो में जीता मेडल ?

  • भाविनाबेन पटेल ने दिलाया पहला मेडल। उन्होंने टेबल टेनिस में पहली बार भारत को मेडल दिलाते हुए रजत पदक जीता।
  • निषाद कुमार ने ऊंची कूद में एशियन रिकॉर्ड के साथ जीता सिल्वर मेडल।
  • विनोद कुमार ने डिस्कस थ्रो में दिलाया सिल्वर मेडल।
  • अवनि लेखरा ने किया डबल धमाका। अवनि ने 10 मीटर एयर राइफल और 50 मीटर एयर राइफल निशानेबाजी में क्रमश: गोल्ड और ब्रॉन्ज मेडल जीते।
  • योगेश कथूरिया ने जीता डिस्कस थ्रो में सिल्वर।
  • जैवलिन थ्रो में देवेंद्र झाझरिया ने जीता सिल्वर मेडल।
  • सुंदर सिंह गुर्जर ने जैवलिन थ्रो में जीता ब्रॉन्ज।
  • सुमित अंतिल ने वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ जैवलिन थ्रो में जीता गोल्ड मेडल।
  • शूटर सिंहराज अडाना ने जीते ब्रॉन्ज और सिल्वर मेडल।
  • मरियप्पन थंगावेलू ने ऊंची कूद में जीता रजत पदक।
  • शरद कुमार ने ऊंची कूद में जीता ब्रॉन्ज।
  • प्रवीण कुमार ने भी ऊंची कूद में जीता सिल्वर मेडल।
  • तीरंदाजी में पहला मेडल दिलाते हुए हरविंदर सिंह ने जीता कांस्य।
  • निशानेबाज मनीष नारवाल ने जीता गोल्ड मेडल।
  • शटलर प्रमोद भगत और कृष्णा नागर ने जीता सोना।
  • नोएडा के डीएम सुहास एलवाई सिल्वर मेडल लेकर लौटेंगे देश।
  • शटलर मनोज सरकार को ब्रॉन्ज से करना पड़ा संतोष।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
दलित हत्या कांड: पीड़ित पक्ष की सभी मांगें सरकार ने मानी, अंतिम संस्कार के लिए परिवार राजीFaridabad, dalit, dalit killing, faridabad latest news, Rahul Gandhi, Rahul Gandhi latest news,news in hindi, hindi news, sunperh, dalit home on fire, dalit family fire, ballabhgarh, haryana, haryana news, dalit family, india news, Dalit family, dalit family set on fire, Sunped village, Ballabhgarh, फरीदाबाद, दलित परिवार, दलित, दलित हत्या, राहुल गांधी, फरीदाबाद, राजनाथ सिंह, दलित परिवार को जलाया, सुनपेड़ गांव, पुलिसकर्मी सस्‍पेंड
अपडेट