ओलंपिक में ऑस्ट्रेलिया का भारत के खिलाफ अजेय अभियान बरकरार, 49 साल में कंगारुओं से एक बार भी नहीं जीत पाई टीम इंडिया

टोक्यो ओलंपिक में भारत को ऑस्ट्रेलिया ने 7-1 से करारी शिकस्त दी है। भारतीय टीम ओलंपिक खेलों में पिछले 49 सालों से हॉकी में ऑस्ट्रेलिया से नहीं जीत पाया है।

tokyo-olympics-indian-hockey-team-has-not-won-since-49-years-against-australia-in-olympics
ओलंपिक में ऑस्ट्रेलिया का भारत के खिलाफ अजेय अभियान बरकरार, 49 साल में कंगारुओं से एक बार भी नहीं जीत पाई टीम इंडिया (Source: Twitter)

भारतीय हॉकी टीम का एक समय विश्व में बोलबाला था। ये टीम गोल करने पर आती थी तो 10,20 गोल कब हो जाएं पता नहीं चलता था वहीं अगर डिफेंस की बात करें तो पूरे-पूरे टूर्नामेंट में एक भी गोल नहीं खाती थी। लेकिन 1980 के बाद से भारतीय टीम का परफॉर्मेंस गिरता ही गया। उसी का परिणाम है कि 1972 के म्यूनिच ओलंपिक के बाद से भारत कभी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत नहीं पाया है। टोक्यो ओलंपिक में भी रविवार को भारतीय टीम को कंगारू टीम से 1-7 से भारी शिकस्त झेलनी पड़ी।

आपको बता दें भारत ने ओलंपिक खेलों में आखिरी बार ऑस्ट्रेलिया को म्यूनिच ओलंपिक में 30 अगस्त 1972 को 3-1 से मात दी थी। उसके बाद से आज भी भारतीय टीम को खेलों के महाकुंभ में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीत का इंतजार है।

अगर हार के अंतर की बात करें तो भारत को आज कंगारुओं से करारी शिकस्त मिली है। पहले मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ 3-2 से जीत के बाद किसी ने उम्मीद नहीं की थी कि भारतीय टीम 7-1 से ऑस्ट्रेलिया से हारेगी।


इससे पहले आठ बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने 1976 के मॉन्ट्रियल ओलंपिक में भारत को 6-1 से हराया था। हेड टू हेड मामले में भी भारत ऑस्ट्रेलियाई टीम से हमेशा पिछड़ता रहा है। इस मैच को जोड़कर भारत ने अबतक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 129 मुकाबले खेले हैं जिसमें से सिर्फ 22 बार भारत जीता है और 86 बार ऑस्ट्रेलिया। 21 मुकाबले बेनतीजा रहे हैं।


कौन इस बात पर विश्वास कर पाएगा कि हॉकी में 8 स्वर्ण, दो रजत और 1 कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय टीम 41 साल से हॉकी में कोई भी ओलंपिक मेडल जीत नहीं पाई है।

गौरतलब है कि आज के मुकाबले में भारतीय टीम कंगारू टीम के आगे चारों खाने चित हो गई। भारतीय पुरुष हॉकी टीम को बेजान आक्रमण और ढीले रक्षण के कारण टोक्यो ओलंपिक में आज ऑस्ट्रेलिया से 1-7 से शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। भारत की तरफ से एकमात्र गोल दिलप्रीत सिंह ने किया।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X