कर्मचारियों को महंगे गिफ्ट देने वाले हीरा कारोबारी ने महिला हॉकी टीम से किया यह वादा, लोगों ने कहा- शर्त मत लगाइए

अपने कर्मचारियों को फ्लैट और मर्सिडीज जैसे महंगे गिफ्ट देने के लिए मशहूर सूरत के हीरा व्यापारी सावजी ढोलकिया (Savji Dhanji Dholakia) इस बार टोक्यो ओलंपिक के कारण सुर्खियों में हैं।

Savji Dholakia Diamond Trader Indian Womens Hockey Team Tokyo 2020 Tokyo Olympics
सूरत के हीरा व्यापारी सावजी ढोलकिया ने भारत की महिला हॉकी टीम की खिलाड़ियों को घर और कार देने का ऐलान किया है।

अपने कर्मचारियों को फ्लैट और मर्सिडीज जैसे महंगे गिफ्ट देने के लिए मशहूर सूरत के हीरा व्यापारी सावजी ढोलकिया (Savji Dhanji Dholakia) इस बार टोक्यो ओलंपिक के कारण सुर्खियों में हैं। उन्होंने भारत की महिला हॉकी टीम की खिलाड़ियों को घर और कार देने का ऐलान किया है। उन्होंने ट्विटर के जरिए इसकी घोषणा की। इसके बाद लोगों ने उनसे अपनी घोषणा से शर्त हटाने की बात कही।

दरअसल, इस संबंध में सावजी ढोलकिया ने अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में कई सिलसिलेवार ट्वीट किए। उन्होंने अंग्रेजी भाषा में किए गए ट्वीट में लिखा, ‘मुझे यह घोषणा करते हुए बहुत खुशी हो रही है कि एचके ग्रुप ने महिला हॉकी टीम की खिलाड़ियों को सम्मानित करने का फैसला किया है। हर उस खिलाड़ी को जो अपने सपनों का घर बनाना चाहती है, हम उसे 11 लाख रुपए की आर्थिक मदद देंगे।’

उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा, ‘जिन खिलाड़ियों के पास घर हैं, यदि वे पदक के साथ घर लौटती हैं तो ग्रुप ने उन्हें पांच लाख रुपए कीमत वाली ब्रॉंड न्यू कार देने का फैसला किया है। हमारी लड़कियां टोक्यो 2020 में हर कदम पर इतिहास रच रही हैं। हम ऑस्ट्रेलिया को पहली बार हराकर सेमीफाइनल में पहुंचे हैं। खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाने का यह हमारा विनम्र प्रयास है।’

हिंदी भाषा में किए गए ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘मुझे यह घोषणा करते हुए बहुत खुशी हो रही है कि यदि वे फाइनल मुक़ाबला जीतती हैं तो हरि कृष्णा ग्रुप उन महिला हॉकी खिलाड़ियों को 11 लाख रुपए का घर या एक नई कार प्रदान करेगा, जिन्हें वित्तीय सहायता की सख्त जरूरत है। हमारी लड़कियां टोक्यो ओलंपिक्स में हर कदम के साथ इतिहास रच रही हैं।’

इस ट्वीट पर ही लोग फाइनल मुकाबला जीतने की शर्त हटाने की बात कह रहे हैं। वैसे भी भारतीय महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल हार गई है। उसे अब ब्रॉन्ज मेडल के लिए ब्रिटेन से भिड़ना है।

@RRVerma97907517 ने लिखा, ‘मेरी ढोलकिया साहब से सिर्फ इतनी प्रार्थना है कि वह हॉकी टीम की लड़कियों की बिना शर्त मदद करें बस। अगर लड़कियां सोना की जगह कांस्य जीतीं तो क्या आप मदद से पीछे हट जाएंगे। क्या उनकी सारी मेहनत बेकार चली जाएगी। बाकी आपकी मर्जी।’

@IamRituKataria ने लिखा, ‘बहुत बढ़िया, लेकिन आपने शर्त गलत रखी है। उन्होंने अब भी देश का बहुत मान बढ़ाया है। चाहे जीते या नहीं, आर्थिक रूप से कमजोर खिलाड़ियों की हर हालत में मदद होनी चाहिए। कितनी मुश्किलों से आगे बढ़कर देश का नाम रौशन कर रही हैं।’

@nkaushik183 ने लिखा, ‘आपको अगर किसी का सहयोग करना है तो जीत या हार मत देखो, जब मन बना लिया है कि कुछ करना है तो पहले ही बोलो जीत हो या हार/बेटियों को घर और कार।’

सावजी ढोलकिया ने ट्वीट के जरिए यह भी बताया कि भारतवंशी अमेरिकी डॉक्टर कमलेश दवे ने भी हर विजेता खिलाड़ी को एक लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि देने की बात कही है।

उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘भारतीय महिला हॉकी टीम को आर्थिक प्रोत्साहन देने की हमारी घोषणा के बाद, कई लोग देश का नाम रौशन करने वाले खिलाड़ियों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं।’

अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘अमेरिका से मेरे भाई के दोस्त डॉ. कमलेश दवे ने खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाने हेतु प्रत्येक विजेता खिलाड़ी को एक लाख रुपये की प्रोत्साहन राशि देने का निर्णय लिया है।’

उन्होंने लिखा, ‘मैं भारतीय खिलाड़ियों हौसला बढ़ाने के लिए अमेरिका में रह रहे भारतीयों के प्रति तहे दिल से शुक्रिया अदा करता हूं। इससे न केवल हमारे खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ेगा, बल्कि उन्हें आने वाली प्रतियोगिताओं में बेहतर प्रदर्शन करने में भी मदद मिलेगी।’

उन्होंने लिखा, ‘यह जरिया है अपने देश की प्रतिभा को पहचानने का और उन्हें सशक्त बनाने का। हम सबको इनसे प्रेरणा मिल रही है और निश्चित ही पूरा भारतवर्ष इनसे प्रेरणा ले सकता है। जय हिंद!’ उन्होंने अपने ट्वीट को hockeyindia, IndianHockeyTeam, Tokyo2020, WomenHockey और womenempowerment को भी टैग किया है।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट