ताज़ा खबर
 

हाथों में मेहंदी लगाकर शादी से एक दिन पहले तक अखाड़े में पहलवानी करेंगी गीता फोगाट

गीता घर के परिसर में बने अखाड़े में अपने पिता और द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता महावीर की देखरेख में अभ्यास कर रही है।

Author Updated: November 10, 2016 8:32 PM
अभ्यास करतीं गीता फोगाट। (फोटो-PTI)

क्या आपने कभी हाथों में मेहंदी लगाए किसी महिला को शादी से एक दिन पहले या शादी के तीन दिन बाद अखाड़े में दांव पेंच लगाते या कुश्ती मैट पर लोटते देखा है। देश की पहली महिला ओलंपियन पहलवान गीता फोगाट को अगले महीने होने वाले पेशेवर कुश्ती लीग (पीडब्ल्यूएल) में इस रूप में देखा जा सकता है। गीता पीडब्ल्यूएल को लेकर इतनी गम्भीर हैं कि 20 नवम्बर को होने वाली अपनी शादी से एक दिन पहले तक वह अभ्यास करती रहेंगी और हनीमून पर जाने के बजाय तीन दिन बाद अखाड़े में लौट आएंगी।

यह पहलवान अभी अपने घर के परिसर में बने अखाड़े में अपने पिता और द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता महावीर की देखरेख में अभ्यास कर रही है। गीता के एक भाई दुष्यंत अभ्यास में उनकी मदद कर रहे हैं। पूरे परिवार का एक ही मकसद है कि गीता एक बार फिर से अपने वजन में शीर्ष स्थान हासिल करे। हाथों में मेहंदी लगाए अभ्यास करने की यह मिसाल आपको शायद ही कहीं मिले। गीता ने कहा, ‘‘मेरे मंगेतर पवन भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर के पहलवान हैं। उनसे उनकी कुश्ती पर भी खूब बात होती है। हम पीडब्ल्यूएल में खेलना चाहते हैं। किसी एक टीम में खेलने की बात कहकर हम किसी फ्रेंचाइजी मालिक पर दबाव नहीं बनाना चाहते। ’’

वीडियो देखिए: “जब तक सीमापार आतंकवाद खत्म नहीं होता, पाकिस्तान के साथ कोई मैच नहीं खेलेंगे”: गौतम गंभीर

उन्होंने कहा, ‘‘हम दोनों का यही मानना है कि हम चाहे किसी भी टीम में रहें, हमारी शुभकामनाएं एक दूसरे के प्रति हमेशा रहेंगी। हमने फिलहाल शादी के बाद कहीं घूमने का कार्यक्रम पीडब्ल्यूएल तक टाल दिया है। इस लीग में एक मुकाम हासिल करने के बाद घूमने के बारे में सोचूंगी।’’ कुछ साल पहले तक गीता का ही अपने वजन वर्ग में सिक्का चलता था लेकिन पिछले दो वर्षों में साक्षी मलिक के साथ उनके मुकाबले काफी रोचक रहे हैं। साक्षी के रियो ओलंपिक में पदक जीतने के बाद वह सुर्खियों में आ गयी। गीता अब पीडब्ल्यूएल में अच्छा प्रदर्शन करके एक बार फिर चर्चा में आना चाहती हैं। पीडब्ल्यूएल के पहले सत्र में गीता और साक्षी के बीच मुकाबला 8-8 से बराबर रहा था लेकिन आखिरी अंक जीतने के आधार पर साक्षी विजयी रही थीं। गीता समझती हैं कि उनके सामने अब चुनौती कड़ी है।

उन्होंने कहा, ‘‘साक्षी ने अपने खेल को उच्च्ंचाइयों पर पहुंचाया है जो मेरे लिए काफी चुनौतीपूर्ण है। मैं उन्हें भविष्य के लिए शुभकामनाएं देती हूं। मैं उनसे हुई हार का बदला लेने के बारे में नहीं सोच रही। मुझे बस अपनी कुश्ती कला से सबका दिल जीतना है।’’ गीता की शादी 20 नवंबर को है और 16 नवम्बर से संगीत, मेहंदी आदि की रस्में शुरू हो जाएंगी। इस बारे में गीता के भाई राहुल फोगट ने बताया कि पवन के साथ उनकी शादी इनके चरखी दादरी जिले में स्थित घर से 15 किलोमीटर दूर एक रिजॉर्ट में है। वर-वधू को आशीर्वाद देने के लिए बॉलीवुड स्टार आमिर खान, पंजाब रॉयल्स के सह मालिक धर्मपाल और त्रिलोक चौधरी, डब्ल्यूएफआई के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह सहित अलग-अलग क्षेत्रों के गणमान्य व्यक्ति शामिल होंगे।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories