कोरोना के खौफ के बीच इंग्लैंड में खुलेंगे टेनिस कोर्ट और गोल्फ कोर्स, सिर्फ घरवालों के साथ खेलेंगे खिलाड़ी

स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्तरी आयरलैंड टेनिस कोर्ट और गोल्फ कोर्स खोलने पर अपना रुख तय कर सकते हैं और उनके प्रशासन ने पहले ही संकेत दे दिये हैं लॉकडाउन का आगे भी सख्ती से पालन किया जाएगा।

टेनिस कोर्ट और गोल्फ कोर्स में मैच देखने जा सकते हैं खिलाड़ियों के परिजन

ब्रिटिश सरकार ने कहा है कि इंग्लैंड में टेनिस कोर्ट और गोल्फ कोर्स बुधवार से फिर खुल सकते हैं लेकिन लोगों को केवल अपने घरों के सदस्यों के साथ ही खेलने की अनुमति होगी। ब्रिटेन में मार्च में कोरोना वायरस प्रकोप को रोकने के लिये राष्ट्रीय स्तर पर लॉकडाउन घोषित किया गया था और तब खेल स्थलों को भी बंद करने का आदेश दिया गया था। जिम और तरणताल अब भी बंद रहेंगे हालांकि समुद्र या झीलों में तैराकी की अनुमति दी जाएगी।

स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्तरी आयरलैंड टेनिस कोर्ट और गोल्फ कोर्स खोलने पर अपना रुख तय कर सकते हैं और उनके प्रशासन ने पहले ही संकेत दे दिये हैं लॉकडाउन का आगे भी सख्ती से पालन किया जाएगा। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने रविवार को कहा, ‘‘लोग केवल अपने घर के सदस्यों के साथ ही खेल सकते हैं। ’’

जानसन ने हालांकि इसके संकेत नहीं दिये कि प्रीमियर लीग सहित पेशेवर खेलों की वापसी कब हो सकती है। पेशेवर खेल प्रतियोगिताएं भी मार्च से ठप्प पड़ी हैं। वहीं भारत में होने वाले आईपीएल मैच भी इस साल रद्द किए जा चुके हैं। ओलंपिक गेम्स भी स्थगित कर दिए गए हैं।

हालांकि इस बीच खेल जरूर रद्द या स्थगित किए गए हों लेकिन एथलीटों ने अपना अभ्यास कम नहीं किया। कोई अपने घर पर प्रैक्टिस कर रहा है तो कोई बैंगलौर के एकेडमी में रहकर। खेल मंत्री किरेन रीजीजू ने खिलाड़ियों और हितधारकों से संयम बरतने की अपील करते हुए भी कहा है कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिये लगाया गया लॉकडाउन हटने के बाद टॉप खिलाड़ियों का अभ्यास शुरू कर दिया जाएगा।

रीजीजू ने कहा कि खिलाड़ियों का स्वास्थ्य उनकी पहली प्राथमिकता है। देश में लगातार बढ़ते मामलों के कारण लॉकडाउन बीच में दो बार बढ़ाया गया था। अभी 17 मई तक बंद रखा गया है। खेल मंत्री ने ट्वीट किया, ”एक बार लॉकडाउन हटने के बाद हम अपने शीर्ष खिलाड़ियों का अभ्यास फिर से शुरू करेंगे जिसे साइ (भारतीय खेल प्राधिकरण) के अन्य अभ्यास केंद्रों में चरणबद्ध तरीके से लागू किया जाएगा। मैं खिलाड़ियों और अन्य हितधारकों से जल्दबाजी नहीं करने की अपील करता हूं क्योंकि स्वास्थ्य और सुरक्षा अभी हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है।”

वायरस के प्रसार को रोकने के लिये साइ केंद्रों में राष्ट्रीय शिविर मार्च से ही बंद हैं। इस बीमारी के कारण भारत में अभी तक 65,000 लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि 2,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X