ताज़ा खबर
 

दूसरे टी20 में वापसी के इरादे से उतरेगा भारत

गेंदबाजों के लचर प्रदर्शन के कारण पहले टी20 में हार झेलने वाली भारतीय टीम अपनी कमजोरियों से निजात पाकर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज में..

Author कटक | October 5, 2015 9:52 AM
भारत की घरेलू शृंखला की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसे धर्मशाला में पहले टी20 मैच में हार का सामना करना पड़ा। (पीटीआई फोटो)

गेंदबाजों के लचर प्रदर्शन के कारण पहले टी20 में हार झेलने वाली भारतीय टीम अपनी कमजोरियों से निजात पाकर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज में सोमवार को यहां होने वाले दूसरे टी20 मैच में वापसी करने के लिए उतरेगी।

भारत की घरेलू शृंखला की शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसे धर्मशाला में पहले टी20 मैच में हार का सामना करना पड़ा। इससे अब सोमवार का मैच उसके लिए करो या मरो जैसा बन गया है जिससे उस पर और खासकर गेंदबाजों पर काफी दबाव रहेगा। दूसरी तरफ पहली जीत के बाद उत्साह से लबरेज दक्षिण अफ्रीका सीरीज में अजेय बढ़त लेने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहेगा।

तीन महीने बाद फिर से क्रिकेट में लौटने वाले सीमित ओवरों के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर भारत को फिर से जीत की राह पर लौटाने का बड़ा जिम्मा है। धर्मशाला से उलट यहां और कोलकाता में तीसरे टी20 में धोनी और उनकी टीम के लिए परिस्थितियां आदर्श रहने की उम्मीद है। पिछले कुछ दिनों से बारिश के कारण यहां पिच में गेंद नीची रहने और धीमी गति से बल्लेबाज तक पहुंचने की संभावना है।

दोनों टीमें शनिवार को जब भुवनेश्वर में पहुंचीं तो यहां तेज आंधी के साथ बारिश आ रही थी। इससे स्टेडियम तरणताल में बदल गया। लिहाजा सोमवार के मैच से पहले मैदान की स्थिति चिंता का विषय बनी हुई है। मौसम विभाग ने भी अगले 48 घंटों में रुक रुक कर बारिश होने की संभावना जताई है और ऐसे में कम ओवरों के मैच से इनकार नहीं किया जा सकता। शृंखला के शुरुआती मैच में रोहित शर्मा का टी20 अंतरराष्ट्रीय में पहला शतक और विराट कोहली के 43 रन की पारी से भारत ने 199 रन बनाए जो दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उसका सर्वोच्च स्कोर है। इन बल्लेबाजों से इससे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद नहीं की जा सकती। लेकिन उनका यह प्रदर्शन गेंदबाजों के खराब प्रदर्शन के कारण बेकार चला गया। केवल रविचंद्रन अश्विन ही अच्छी गेंदबाजी कर पाए।

दक्षिण अफ्रीका के सामने 200 रन का लक्ष्य था। हाशिम आमला (36) और एबी डिविलियर्स (51) ने ठोस नींव रखी जिसके बाद जेपी डुमिनी (68) और फरहान बेहारडीन ने 105 रन की अटूट साझेदारी करके टीम को दो गेंद शेष रहते जीत दिलाई। डुमिनी ने 16वें ओवर में अक्षर पटेल पर लगातार तीन छक्के जड़कर मैच का नक्शा बदला। उस ओवर में 22 रन बने। इसमें दो राय नहीं कि धोनी अमित मिश्रा पर अक्षर पटेल को तरजीह देते हैं क्योंकि बाएं हाथ का यह स्पिनर बल्लेबाजी करते हुए निचले क्रम में कुछ रन जुटा लेता है। लेकिन श्रीलंका में तीन मैचों में 15 विकेट लेकर उत्साह से भरे मिश्रा यहां की धीमी परिस्थितियों में अहम भूमिका निभा सकते हैं।

मिश्रा और अश्विन द