ताज़ा खबर
 

IND VS AUS: 37 साल बाद मेलबर्न में जीत टीम इंडिया ने बॉक्सिंग डे टेस्ट को बनाया यादगार, लगी रिकॉर्ड्स की झड़ी

IND VS AUS 3rd TEST: मेलबर्न के मैदान पर भारत को 37 साल बाद जीत मिली है वहीं बॉक्सिंग टेस्ट में भारत की ये पहली जीत है।

ऐतिहासिक जीत का जश्न मनाते कप्तान विराट कोहली (फोटो सोर्स- cricket.com.au)

भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच मेलबर्न के मैदान पर खेले गए तीसरे टेस्ट मुकाबले में भारत ने 137 रनों से जीत कर इतिहास रच दिया है। टेस्ट क्रिकेट में टीम इंडिया की ये 150वीं जीत है। बता दें कि इस मैच में आखिरी दिन भारत को जीत के लिए महज दो विकेट की दरकार थी जिसके जवाब में बारिश के चलते आखिरी दिन का खेल पहले सेशन के बाद शुरू हुआ और महज 4 ओवर के अंदर ही सिमट गया। बुमराह ने कमिंस को चलता किया तो इशांत ने लायन को आउट करके इस मैच में जीत दर्ज कर ली है, मेलबर्न के मैदान पर भारत को 37 साल बाद जीत मिली है वहीं बॉक्सिंग टेस्ट में भारत की ये पहली जीत है। आइए आपको बताते हैं कि इस ऐतिहासिक टेस्ट में टीम इंडिया ने कौन-कौन सी उपलब्धि हासिल की है।

टीम इंडिया के लिए 2018 का ये साल काफी शानदार रहा है भारत ने इस दौरान विदशी धरती पर 4 मुकाबलों में जीत हासिल की है। पहला मुकाबला साउथ अफ्रीका के दौरे पर भारत ने जीता था,वहीं इंग्लैंड दौरे पर भारत ने ट्रेंट ब्रिज में जीत हासिल की थी उसके बाद ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारत की ये दूसरी जीत है। ये अपने आप में एक रिकॉर्ड है इससे पहले भारत ने 1968 में तीन विदेशी धरती पर मैच जीते थे एक कैलेंडर ईयर में।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तेज गेंदबाजों की बात करें तो इस मैच में अपनी गेंदबाजी का जलवा बिखेरने वाले बुमराह ने दोनों पारियों में 9 विकेट झटककर कपिल देव के 1985 का रिकॉर्ड तोड़ दिया है जिसमें कपिल देव ने 8 विकेट झटके थे। वहीं, 2003 में अगरकर ने भी 8 विकेट लिए थे। इसके अलावा पंत की बात करें तो पंत ने अब तक इस सीरीज में 20 कैच लपके हैं जो किसी भी भारतीय विकेटकीपर के लिहाज से सबसे ज्यादा हैं। इसके अलावा विराट कोहली पहले एशियन कप्तान बन गए हैं जो ऑस्ट्रेलिया में 2-1 से किसी टेस्ट सीरीज में आगे रहे हों।

इसके अलावा विराट कोहली पहले भारतीय कप्तान बन गए हैं जिन्होंने बाहर SENA) सबसे ज्यादा टेस्ट जीते हों उनकी ये चौथी टेस्ट जीत है और एमएस धोनी ने इसके पहले 3 और पटौदी ने 3 मैच जीते थे। इसके अलावा विराट कोहली विदेशी दौरे पर सबसे ज्यादा टेस्ट जिताने वाले कप्तान भी बन गए हैं। उनकी कप्तानी में भारत ने 24 टेस्ट मैच में 11 मुकाबले जीते हैं। जबकि इससे पहले गांगुली ने 28 में से 11 में ये मुकाम हासिल किया था। वहीं धोनी 30 में से 6 विदेशी टेस्ट मैच में जीत दिला सके हैं। इसके अलावा सबसे खास बात है कि मेलबर्न के मैदान पर भारत की 37 साल बाद ये जीत है जब मौजूदा भारतीय टीम का कोई खिलाड़ी शायद जन्म भी नहीं लिया था।

इस मैच की बात करें तो टॉस जीतकर टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पहली इनिंग में 443 रन बनाए थे जिसके जवाब में मेजबान टीम 151 के स्कोर पर ही ढेर हो गई थी। वहीं दूसरी पारी में भारत ने 106 रन औऱ जोड़कर ऑस्ट्रेलिया को 399 का लक्ष्य दिया और ऑस्ट्रेलिया की टीम 261 के स्कोर पर ही ऑलआउट हो गई। भारत की तरफ से पहली पारी में बुमराह ने 6 विकेट झटके तो दूसरी पारी में उन्होंने 3 विकेट झटककर मेजबान की कमर तोड़ दी। दोनों टीमों के बीच अगला मुकाबला जनवरी से खेला जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App