ताज़ा खबर
 

IND vs SA: दक्षिण अफ्रीका दौरे की ट्रेनिंग के लिए कोच रवि शास्‍त्री का प्‍लान, BCCI से भी कर ली बात

दक्षिण अफ्रीकी दौरे के लिए हाल ही में सेलेकिटर्स ने 17 सदस्यीय वाली भारतीय टीम का ऐलान किया है। अगले महीने से होने वाले दक्षिण अफ्रीकी के खिलाफ टेस्ट सीरीज को लेकर टीम की तैयारियां भी शुरू हो गई है।

रवि शास्त्री और महेंद्र सिंह धोनी।

दक्षिण अफ्रीकी दौरे के लिए हाल ही में सेलेकिटर्स ने 17 सदस्यीय वाली भारतीय टीम का ऐलान किया है। अगले महीने से होने वाले दक्षिण अफ्रीकी के खिलाफ टेस्ट सीरीज को लेकर टीम की तैयारियां भी शुरू हो गई है। लेकिन श्रीलंका के खिलाफ धर्मशाला में जिस तरह से भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन रहा, उससे फैंस काफी निराश है। वहीं टीम के कोच रवि शास्‍त्री ने आगे इस तरह की गलती ना हो इसलिए खिलाड़ियों को अभी से ही ज्यादा से ज्यादा ट्रेनिंग देने का काम कर रहे हैं। बता दें कि दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए टीम में पांच तेज गेंदबाजों के अलावा एकमात्र आलराउंडर हार्दिक पंड्या शामिल हैं जिन्होंने श्रीलंकाई टेस्ट सीरीज से विश्राम लिया था। शास्त्री बल्लेबाजों से नेट्स पर ज्यादा देर तक अभ्यास करने के लिए कह रहे हैं। श्रीलंका के खिलाफ धर्मशाला में जिस तरह का विकेट भारतीय टीम को मिला था कुछ इसी तरह का विकेट दक्षिण अफ्रीका दौरे के दौरान भी होगा।

indian team भारतीय क्रिकेट टीम।

ऐसे में बल्लेबाजों का फ्लॉप होना टीम के लिए बेहद चिंता का विषय है। अगर भारतीय बल्लेबाज श्रीलंकाई गेंदबाज के सामने इस तरह ढेर हो सकते हैं तो दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उनकी स्थिति और बुरी हो सकती है। धर्मशाला में भारत ने महज 29 रनों के भीतर ही अपने सात विकेट गवां दिए थे। अगर महेंद्र सिंह धोनी 65 रनों की पारी नहीं खेलते तो हो सकता था कि पूरी टीम 50 रन भी नहीं बना पाती।

ऐसे में कोच शास्त्री ने बीसीसीआई से कहा कि दक्षिण अफ्रीका दौरे में भी पिच कुछ धर्मशाला जैसे ही होंगे। लिहाजा वो खिलाड़ियों को ऐसी पिच पर खेलने की पूरी ट्रेनिंग देकर ही वहां रवाना होना चाहते हैं। इसलिए उन्होंने दौरे से पहले खिलाड़ियों के साथ कुछ ट्रेनिंग सेशन कराने की बात कही है। उन्होंने कहा कि धर्मशाला में अगर खिलाड़ियों के साथ ट्रेनिंग की जाती है तो यह दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App