scorecardresearch

‘भारतीय फैंस को जश्न मनाना चाहिए,’ रोहित शर्मा और केएल राहुल के साथ विराट कोहली की वापसी पर बोले संजय मांजरेकर

विराट कोहली एशिया कप के दौरान एक्शन में नजर आएंगे। वह लंबे समय से फॉर्म वापसी की तलाश में हैं। उन्होंने आखिरी बार करीब 3 साल पहले नवंबर 2019 में अंतरराष्ट्रीय शतक लगाया था।

‘भारतीय फैंस को जश्न मनाना चाहिए,’ रोहित शर्मा और केएल राहुल के साथ विराट कोहली की वापसी पर बोले संजय मांजरेकर
रोहित शर्मा, केएल राहुल और विराट कोहली।

टीम इंडिया पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर को लगता है कि विराट कोहली इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज के दौरान भारत के आक्रामक बल्लेबाजी दृष्टिकोण को अपनाने की कोशिश करने के श्रेय के हकदार हैं। इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में विराट ने पहली ही गेंद से आक्रामक तेवर दिखाने की कोशिश की थी। यह अलग बात है कि वह ज्यादा सफल नहीं हो पाए थे।

स्पोर्ट्स 18 के शो ‘स्पोर्ट्स ओवर द टॉप’ में संजय मांजरेकर से पूछा गया था कि विराट कोहली, रोहित शर्मा और केएल राहुल एकसाथ वापस आ रहे हैं। ऐसे में भारतीय प्रशंसकों को जश्न मनाना चाहिए या चिंतित होना चाहिए? इस पर संजय मांजरेकर ने कहा, ‘उन्हें जश्न मनाना चाहिए क्योंकि क्लास वापस आ गई है। विराट कोहली को इंग्लैंड में टी20 क्रिकेट में भारत के इस नए दृष्टिकोण का कुछ प्रत्यक्ष अनुभव रहा है। इसलिए उन्होंने इसे अपनाने का प्रयास किया है, भले ही वह ज्यादा सफल नहीं हुए।’

संजय मांजरेकर ने कहा, ‘आपको विराट कोहली को श्रेय देना होगा। विराट कोहली को इंग्लैंड में रनों की सख्त जरूरत थी, इसके बावजूद उन्हें इस बात की परवाह नहीं थी कि वह रन बना रहे हैं या आउट हो रहे हैं। वह पहली गेंद से बाउंड्री मारने की कोशिश कर रहे थे। उन्होंने हर हालत में भारतीय टीम की नई फिलोसोफी (धारणा) का समर्थन किया।’

संजय मांजरेकर को लगता है कि विराट कोहली की तुलना में केएल राहुल जल्द ही भारत के नए आक्रामक दृष्टिकोण को अपना लेंगे। उन्होंने इसके पीछे का कारण भी बताया। संजय मांजरेकर ने कहा, ‘केएल राहुल असाधारण हैं। उनके पास बड़ा खेल है। यह शायद विराट कोहली की तुलना में उनके लिए अधिक स्वाभाविक रूप से आता है। वह ऐसे व्यक्ति हैं, जो इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पूरे सीजन में ढेरों रन बनाते हुए 150 का स्ट्राइक रेट बरकरार रखते हैं।’

रोहित शर्मा की अगुवाई में टीम इंडिया टी20 फॉर्मेट में आक्रामक दृष्टिकोण अपना रही है। बल्लेबाज तेजी से रन बनाने की कोशिश कर रहे। इस कोशिश में अगर विकेट गिरता भी है तब भी अन्य बल्लेबाज आक्रामक रवैए को जारी रखते हैं। इंग्लैंड और वेस्टइंडीज दौरे पर इस चीज को साफतौर पर देखा गया।

इंग्लैंड दौरे पर विराट कोहली ने एजबेस्टन टेस्ट में सिर्फ 11 और 20 रन का स्कोर किया। इसके बाद उन्होंने दो टी20 इंटरनेशनल में 12 रन बनाए। वनडे सीरीज में भी उनकी खराब फॉर्म जारी रही। वह 3 मैच की सीरीज में 17 और 16 रन ही बना पाए।

बता दें कि विराट कोहली एशिया कप के दौरान एक्शन में नजर आएंगे। विराट कोहली लंबे समय से फॉर्म वापसी की तलाश में हैं। उन्होंने आखिरी बार लगभग 3 साल पहले नवंबर 2019 में अंतरराष्ट्रीय शतक लगाया था। कोहली को वेस्टइंडीज दौरे के लिए आराम दिया गया था। इसके बाद उनके भविष्य को लेकर सवाल उठाए जा रहे थे।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट