तालिबान और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया में ठनी, CA ने दी चेतावनी- अगर महिलाओं पर लगा बैन तो पुरुष टीम की नहीं होने देंगे एंट्री

तालिबान और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के बीच विवाद बढ़ने लगा है। अब्दुल्लाह वासिक के महिला क्रिकेट पर दिए गए बयान के बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने अफगानिस्तान पुरुष क्रिकेट को लेकर बड़ी धमकी दे डाली है।

taliban-vs-australian-cricket-board-warns-militant-group-over-ban-on-women-sports-exposed-its-activities-afg-vs-aus
महिला क्रिकेट को लेकर तालिबान के रुख का क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने विरोध किया है (Source: Twitter)

तालिबान के सांस्कृतिक आयोग के उपाध्यक्ष अहमदुल्लाह वासिक के महिला क्रिकेट को लेकर दिए गए बयान पर बवाल शुरू हो चुका है। जहां पहले ऑस्ट्रेलिया के खेलमंत्री रिचर्ड कोलबेक ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) से इस मामले पर कार्रवाई की मांग की थी। इसके बाद ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर्स एसोसिएशन (ACA) ने भी अफगानिस्तान क्रिकेट को लेकर बड़ी चेतावनी दे डाली है।

क्रिकेट आस्ट्रेलिया (CA) ने वासिक के ‘महिलाओं के लिए क्रिकेट खेलना जरूरी नहीं है’ वाले बयान का विरोध किया है। सीए ने साफ शब्दों में इस बात को स्पष्ट कर दिया है कि अगर अफगानिस्तान की तालिबानी सत्ता महिला क्रिकेट पर प्रतिबंध लगाती है तो फिर आस्ट्रेलिया भी अफगानिस्तान की पुरुष टीम की मेजबानी नहीं करेगा।

इसको लेकर ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर्स एसोसिएशन (ACA) ने भी सीए के बयान का समर्थन किया है। सीए ने स्टेटमेंट में लिखा है कि,’विश्व स्तर पर महिला क्रिकेट को बढ़ावा देना हमारे लिए अहम है। हम क्रिकेट को हर स्तर पर महिलाओं के लिए भी समान बनाने पर जोर देते हैं। हाल ही में आई मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अगर महिला क्रिकेट को अफगानिस्तान में सपोर्ट नहीं मिलेगा तो हमारे पास भी होबार्ट में होने वाली आगामी पुरुष टीम की सीरीज को होस्ट नहीं करने के अलावा कोई विकल्प नहीं होगा।’

सीए ने आगे लिखा कि,’हम ऑस्ट्रेलिया और तस्मानिया सरकार का इस अहम मुद्दे पर समर्थन देने के लिए धन्यवाद करते हैं।’ क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के इस बयान का एसीए ने समर्थन किया है और लिखा कि,’एसीए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के बयान का पुरजोर समर्थन करता है। अगर रोया समीम और उनकी खिलाड़ियों को क्रिकेट खेलने का मौका नहीं मिलेगा तो राशिद खान की टीम को भी हम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के लिए कंसीडर नहीं कर सकते।’

क्या था वासिक का बयान ?

आपको बता दें अब्दुल्लाह वासिक ने कहा था कि,’क्रिकेट में ऐसे हालात होते हैं कि मुंह और शरीर ढका नहीं जा सकता। इस्लाम महिलाओं को ऐसे दिखने की इजाजत नहीं देता। यह मीडिया का युग है जिसमें फोटो और वीडियो देखे जाएंगे। इस्लाम और इस्लामी अमीरात महिलाओं को क्रिकेट या ऐसे खेल खेलने की अनुमति नहीं देता जिसमें शरीर दिखता हो।’

गौरतलब है कि आस्ट्रेलिया और अफगानिस्तान के बीच एशेज सीरीज से पहले एक टेस्ट मैच होना था। ये मैच 27 नवंबर से होबार्ट में खेला जाना प्रस्तावित है। लेकिन अफगानिस्तान में हुए सत्ता के उलटफेर के बाद इस मुकाबले को स्थगित कर दिया गया था। अब्दुल्लाह वासिक के बयान के बाद तालिबान के क्रिकेट पर अपने रुख को लेकर कई अटकलें लगने लगी हैं। वहीं अब क्रिकेट आस्ट्रेलिया के इस बयान के बाद फिर से विवाद बढ़ता दिख रहा है।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट