T20 वर्ल्ड कप: टीम इंडिया का मेंटोर बनने के लिए एमएस धोनी ने नहीं लिया एक भी पैसा, बीसीसीआई सचिव जय शाह ने ऐसे जताया माही का आभार

एमएस धोनी की अगुआई में भारत ने 2007 में टी20 विश्व कप जीता था। साल 2007 से ही आईसीसी टी20 विश्व कप की शुरुआत हुई थी। हालांकि, उसके बाद भारतीय टीम अब तक टी20 वर्ल्ड कप नहीं जीत पाई है। धोनी ने 15 अगस्त 2020 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था।

MS Dhoni Jay Shah T20 World Cup Mentor No Salary
एमएस धोनी की अगुआई में ही भारत ने 2007 में टी20 विश्व कप जीता था। (सोर्स- ट्विटर/एएनआई/आईपीएल)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव जय शाह ने मंगलवार को कहा कि एमएस धोनी ओमान और यूएई में 17 अक्टूबर से शुरू हो रहे टी20 विश्व कप में भारतीय क्रिकेट टीम के मेंटोर के रूप में अपनी भूमिका के लिए कोई भी सैलरी या शुल्क नहीं ले रहे हैं। जय शाह ने कहा कि पूर्व कप्तान विश्व कप के दौरान टीम को अपनी सेवाएं देने के लिए सहमत हुए हैं। बीसीसीआई इसके लिए एमएस धोनी का आभारी है।

बीसीसीआई ने केवल टी20 विश्व कप के लिए भारत के पूर्व कप्तान की सेवाएं ली हैं। पिछले महीने टीम की घोषणा के समय बोर्ड सचिव जय सचिव ने इस अप्रत्याशित फैसले का ऐलान किया था। जय शाह ने एएनआई के हवाले से कहा, ‘एमएस धोनी टी20 विश्व कप के लिए भारतीय टीम के मेंटोर के रूप में अपनी सेवाओं के लिए कोई मानदेय नहीं ले रहे हैं। शाह ने कहा कि वह उक्त कार्य के लिए धोनी के आभारी हैं।’

एमएस धोनी की अगुआई में भारत ने 2007 में टी20 विश्व कप जीता था। साल 2007 से ही आईसीसी टी20 विश्व कप की शुरुआत हुई थी। हालांकि, उसके बाद भारतीय टीम अब तक टी20 वर्ल्ड कप नहीं जीत पाई है। धोनी ने 15 अगस्त 2020 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था।

हालांकि, 40 साल के माही इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए अब भी खेल रहे हैं। उनकी टीम इस सीजन यानी आईपीएल 2021 में फाइनल में पहुंची है। धोनी ने अपनी अगुआई में सीएसके को 9वीं बार आईपीएल फाइनल में पहुंचाया है।

खास यह है कि आईपीएल 2020 में सीएसके का प्रदर्शन बहुत ही खराब रहा था। वह ग्रुप स्टेज में सातवें नंबर पर रही थी। धोनी इस समय सीएसके के साथ यूएई में हैं। आईपीएल 2021 के पूरा होने के बाद वह भारतीय टीम में शामिल होंगे।

इससे पहले इंडिया टुडे ने बताया था कि यह जय शाह थे जिन्होंने घोषणा किए जाने से दो महीने पहले ही एमएस धोनी के अनुभव का इस्तेमाल करने के बारे में सोचा था। शाह ने धोनी के साथ वर्चुअल बातचीत की थी। इससे उन्हें संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में एक संरक्षक के रूप में भारतीय टीम के साथ काम करने का अवसर मिला।

टी 20 विश्व कप में धोनी की रजामंदी मिलने के बाद जय शाह ने कप्तान विराट कोहली और उप-कप्तान रोहित शर्मा से संपर्क किया। दोनों ने जय शाह के इस प्रस्ताव पर सहमति जताई। बीसीसीआई सचिव ने तब भारत के मुख्य कोच रवि शास्त्री से बात की। शाह ने भारत के पूर्व कप्तान से कहा कि एमएस धोनी मेंटोर के रूप में यात्रा करेंगे और समान जिम्मेदारी के साथ समान भूमिका निभाएंगे।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट