ताज़ा खबर
 

सड़क किनारे स्टॉल लगाती थीं टी नटराजन की मां, क्रिकेट किट खरीदने के नहीं थे पैसे

नटराजन आईपीएल 2017 में अपने खेल से खास प्रभावित नहीं कर पाए। उन्होंने उस सीजन 6 मैच खेले, जहां उन्होंने 9.07 इकॉनमी से रन लुटाए। साल 2018 में सनराइजर्स हैदराबाद ने उन्हें 40 लाख रुपए में खरीदा और उसके बाद से वह अब तक टीम का हिस्सा बने हुए हैं।

T Natarajan, struggle story, India vs Australia, Natarajanनटराजन पहले किंग्स इलेवन पंजाब में थे। इसके बाद उन्हें सनराइजर्स हैदराबाद ने खरीदा। (सोर्स – सोशल मीडिया)

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन के दौरान अपने यॉर्कर से बड़े-बड़े बल्लेबाजों को छकाने वाले टी नटराजन की किस्मत आजकल उनके साथ है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वे भारत के वनडे और टी20 टीम के सदस्य हैं। दोनों टीमों में शामिल होने के कहानी भी लगभग बराबर ही है। नटराजन को ऑस्ट्रेलिया जाने वाली टीम में बतौर स्टैंडबाई गेंदबाज के तौर पर शामिल किया गया था। टी20 टीम में शामिल स्पिनर वरुण चक्रवर्ती चोट के कारण सीरीज से बाहर हुए। उनके स्थान पर नटराजन को जगह मिल गई।

इसके बाद 27 नवंबर को जब टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन वनडे की सीरीज का पहला मुकाबला खेलने वाली थी तो उससे कुछ देर पर पहले नवदीप सैनी के कवर के तौर पर नटराजन को वनडे टीम में भी शामिल कर लिया गया। नवदीप के बारे में बताया गया कि उन्हें बैक में समस्या है। हालांकि, वो बाद में पहला वनडे खेले। नटराजन का जीवन संघर्षों में बिता है। एक समय उनकी मां सड़क किनारे स्टॉल लगाती थीं, तो पिता रेलवे स्टेशन पर पोर्टर का काम करते थे। नटराजन के पास क्रिकेट किट तक के पैसे नहीं होते थे।

29 साल के नटराजन काफी गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं। तमिलनाडु के सलेम जिला से 35 किमी दूर गांव चिन्नापामपट्टी के रहने वाले नटराजन के आईपीएल में पहुंचने की कहानी नौ साल पहले शुरू हुई। सलेम में एक जिला स्तर के क्रिकेटर जयप्रकाश की नजर उन पर पड़ी। जयप्रकाश बतौर क्रिकेटर खुद ज्यादा सफल नहीं थे, लेकिन उन्होंने नटराजन की प्रतिभा को पहचाना। उनके प्रयास से ही नटराजन की एंट्री तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन की एक लीग में हुई। उसके बाद नटराजन का चयन तमिलनाडु क्रिकेट टीम में हुआ। बाद में नटराजन को तमिलनाडु प्रीमियर लीग (TNPL) में खेलने का मौका मिला।

नटराजन 2016 में तमिलनाडु प्रीमियर लीग में डिंडीगुल ड्रैगंस और एलबर्ट टुटी पैट्रियॉट्स के बीच हुए मैच में सुपर ओवर के दौरान 6 की 6 गेंद यॉर्कर फेंककर सुर्खियों में आए। इसके बाद 2017 की आईपीएल नीलामी में किंग्स इलेवन पंजाब ने उन्हें 3 करोड़ रुपए में खरीदा। करोड़पति बनने के बाद नटराजन ने अपने मिट्टी के घर को बंगले में बदला। साथ ही स्थानीय बच्चों के लिए क्रिकेट अकादमी शुरू की और अपने मेंटर की तरह साथियों को खेल नहीं छोड़ने के लिए प्रेरित किया।

नटराजन आईपीएल 2017 में अपने खेल से खास प्रभावित नहीं कर पाए। उन्होंने उस सीजन 6 मैच खेले, जहां उन्होंने 9.07 इकॉनमी से रन लुटाए। इस कारण अगली नीलामी में उनकी कीमत काफी कम हो गई। लेकिन टीएनपीएल का हिस्सा रह चुके पूर्व दिग्गज और सनराइजर्स हैदराबाद के गेंदबाजी कोच मुथैया मुरलीधरन ने उन पर भरोसा दिखाया। साल 2018 में सनराइजर्स हैदराबाद ने उन्हें 40 लाख रुपए में खरीदा और उसके बाद से वह अब तक टीम का हिस्सा बने हुए हैं। हैदराबाद की टीम में सफल होने के बाद उन्हें भारतीय टीम में जगह दी गई। अब देखना है कि नटराजन को खेलने का मौका कब मिलता है और वे कैसा प्रदर्शन करते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 India vs Australia 1st ODI: शिखर धवन के साथ मयंक अग्रवाल करेंगे ओपनिंग, ये है दोनों की प्लेइंग इलेवन
2 पहला दौरा: जब तीन बल्लेबाजों ने शतक लगाकर किया हैरान
3 आंकड़े: किसका पलड़ा भारी, एक दिवसीय में भारत बनाम आस्ट्रेलिया
ये पढ़ा क्या?
X