ताज़ा खबर
 

पीवी सिंधु और समीर वर्मा ने जीते सैयद मोदी बैडमिंटन टूर्नामेंट के एकल खिताब

भारत ने सैयद मोदी ग्रां प्री गोल्ड बैडमिंटन टूर्नामेंट की पांच स्पर्धाओं में से तीन खिताब अपने नाम किये।

Author लखनऊ | January 29, 2017 8:15 PM
महिला एकल फाइनल में सिंधु को अपना पहला सैयद मोदी खिताब जीतने के लिये मरिस्का को 30 मिनट तक चले मुकाबले में शिकस्त देने में जरा भी पसीना नहीं बहाना पड़ा। (Photo:PTI)

ओलंपिक रजत पदकधारी पीवी सिंधु और राष्ट्रीय चैम्पियन समीर वर्मा ने 120,000 डालर ईनामी राशि के सैयद मोदी ग्रां प्री गोल्ड बैडमिंटन टूर्नामेंट में क्रमश: महिला और पुरूष एकल खिताब अपने नाम कर नये सत्र की शुरूआत शानदार तरीके से की। भारत ने टूर्नामेंट की पांच स्पर्धाओं में से तीन खिताब अपने नाम किये। पिछले सत्र से शानदार फार्म में चल रही शीर्ष वरीय सिंधु ने इंडोनेशिया की ग्रेगोरिया मरिस्का को 21-13 21-14 से शिकस्त दी जबकि हांगकांग सुपर सीरीज के फाइनल्स तक पहुंचने वाले समीर ने हमवतन बी साई प्रणीत को 44 मिनट तक चले मुकाबले में 21-19 21-16 से पराजित किया।

ब्राजील और रूस में ग्रां प्री खिताब जीतने वाले प्रणव जेरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी की दूसरी वरीय जोड़ी ने भी मिश्रित युगल में अपना पहला ग्रां प्री गोल्ड खिताब हासिल किया। उन्होंने फाइनल में अश्विनी पोनप्पा और बी सुमित रेड्डी की सातवीं वरीय हमवतन जोड़ी को 22-20 21-10 से हराया। महिला एकल फाइनल में सिंधु को अपना पहला सैयद मोदी खिताब जीतने के लिये मरिस्का को 30 मिनट तक चले मुकाबले में शिकस्त देने में जरा भी पसीना नहीं बहाना पड़ा। वह 2014 के चरण में दुनिया की पूर्व नंबर एक साइना नेहवाल से फाइनल में हार गयी थी।

मौजूदा ओलंपिक रजत पदकधारी और डेनमार्क की शीर्ष वरीय कैमिला रिटर जुहल और क्रिस्टिना पेडरसन ने भारत की नयी जोड़ी बनाने वाली अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी को 38 मिनट में 21-16 21-18 से हराकर महिला युगल खिताब हासिल किया। लंदन ओलंपिक में रजत पदक जीतने वाले शीर्ष वरीय माथियास बो और कर्स्टन मोगेनसेन की जोड़ी ने पुरूष युगल खिताब हासिल किया। इस जोड़ी ने चीनी ताइपे के लु चिंग याओ और यांग पो हान की आठवीं वरीय जोड़ी को एकतरफा फाइनल में 21-14 21-15 से हराया।

समीर ने कहा, ‘‘मेरी रणनीति पहले गेम में कारगर नहीं हुई लेकिन मैंने ब्रेक के बाद अपनी रणनीति में बदलाव किया और आगे बढ़ा। हम दोनों गोपीचंद अकादमी में एक साथ ट्रेनिंग करते हैं तो एक दूसरे के गेम को बखूबी जानते हैं। उसके कंधे में कुछ समस्या थी। मैं खुश हूं कि मैं अपना पहला ग्रां प्री गोल्ड खिताब जीत सका।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App