ताज़ा खबर
 

सुनील गावस्कर ने क्रिकेट के अंदाज में लड़ी कोरोना से जंग, 59 लाख रुपए दान करने की यह थी वजह

सुनील गावस्कर ने कोरोना के खिलाफ जंग के लिए 59 लाख रुपए दान किए। 59 लाख की रकम सोचकर हर एक के दिमाग में आया होगा कि आखिर उन्होंने ऐसी राशि क्यों चुनी।

सुनील गावस्कर टेस्ट क्रिकेट में 10 हजार रनों का आंकड़ा छूने वाले पहले बल्लेबाज हैं। क्रिकेट से रिटायरमेंट लेने के बाद वह कॉमेंट्री में सक्रिय हैं। वह क्रिकेट के मुद्दों पर अपनी बेबाक राय रखने के लिए जाने जाते हैं। हालांकि, कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में भी उन्होंने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। उन्होंने न सिर्फ लॉकडाउन का खुद अच्छे से पालन किया, बल्कि दूसरों को भी ऐसा ही करने की सलाह दी। उन्होंने आर्थिक रूप से भी देश की मदद की।

सुनील गावस्कर ने कोरोना के खिलाफ जंग के लिए 59 लाख रुपए दान किए। 59 लाख की रकम सोचकर हर एक के दिमाग में आया होगा कि आखिर उन्होंने इतनी राशि क्यों चुनी। सामान्यतया लोग दान के लिए 11, 21 या 51, 101, 151, 201 इस तरह की राशि चुनते हैं, लेकिन गावस्कर ने क्यों 59 का आंकड़ा चुना। सुनील गावस्कर ने एक शो के दौरान बताया कि उनके 59 लाख रुपए दान करने के पीछे एक खास वजह थी।

सुनील गावस्कर ने देश के लिए खेलते हुए कुल 35 शतक लगाए। इसमें 34 टेस्ट और एक वनडे अंतरराष्ट्रीय शतक शामिल है। इसलिए उन्होंने 35 लाख रुपए की राशि पीएम केयर्स फंड में दान की। इस तरह उन्होंने बॉम्बे के लिए 24 शतक लगाए थे। इसलिए उन्होंने महाराष्ट्र मुख्यमंत्री कार्यालय को 24 लाख रुपए दान किए। यह विचार कैसे आया के सवाल पर सुनील गावस्कर ने कहा, मैं जो भी कुछ हूं, भारतीय क्रिकेट के कारण हूं। मैंने सोचा कि मैंने भारत के लिए 35 सेंचुरी की हैं, इसलिए उतने लाख मैं पीएम केयर्स फंड में दे दूं। मुंबई के लिए रणजी ट्रॉफी, विल्स ट्रॉफी खेलकर मैंने 24 शतक लगाए थे। इसलिए मैंने सोचा उस अमाउंट को राज्य सरकार को दे दूं।

बातचीत के दौरान सुनील गावस्कर ने यह भी कहा कि मौजूदा समय क्रिकेट के लिए मुश्किल है। उन्होंने कहा कि अब क्रिकेट काफी मुश्किल होगा, लेकिन मैं गेंदबाज और फील्डर को मास्क पहनकर खेलता हुआ नहीं देख पाऊंगा।

गावस्कर ने कहा कि मैदान में टीम हडल, खिलाड़ियों का जश्न शायद अब देखने को नहीं मिलेगा। टीम हडल में एक अलग मजा था, क्योंकि दर्शकों में काफी उत्साह आता था। गावस्कर बोले कि बल्लेबाज भी जब बाउंड्री लगाते हैं, तो ग्लव्स लव नहीं दिखेगा, अब क्रिकेट पूरी तरह से सैनिटाइज हो जाएगा।

उन्होंने कहा, आने वाले समय में गेंद को लेकर हर खिलाड़ी के मन में डर होगा। यह सही है कि मैच से पहले हर किसी का टेस्ट किया जाएगा। इससे खिलाड़ियों के मन में आपस में विश्वास पैदा होगा, लेकिन उसके बावजूद कहीं न कहीं खिलाड़ी डरेंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘लाइफ में स्पीड नहीं सही डायरेक्शन जरूरी,’ सचिन तेंदुलकर ने लार के बिना गेंद चमकाने का भी विकल्प दिया
2 चेन्नई सुपरकिंग्स ने पोस्ट की सुरेश रैना की शर्टलेस तस्वीर, वाइफ प्रियंका रैना ने ले लिए मजे
3 टीम इंडिया में शामिल प्रिया पूनिया को क्रिकेट के भगवान का सैल्यूट, बेटी के लिए पिता ने बेचा था 22 लाख का मकान
ये पढ़ा क्या?
X