ताज़ा खबर
 

दूसरे टी20 में धोनी पर अंगुली उठाने वालों पर बरसे गावस्कर, यूं दिया करारा जवाब

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान ने कहा है कि यह बेहद निराशाजनक है कि लोग दूसरे टी20 में हार को लेकर धोनी पर अंगुलियां उठा रहे हैं।

राजकोट में न्यूजीलैंड के खिलाफ हुए मैच में धोनी ने 37 गेंदों में 49 रन बनाए थे, जिस पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण और अजीत अगरकर ने उनकी आलोचना की थी।

भारत न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरा टी20 मैच हार गया था। महेंद्र सिंह धोनी को कुछ लोग इसके पीछे जिम्मेदार बता रहे थे, जिसमें अजीत अगरकर और वीवीएस लक्ष्मण सरीखे पूर्व भारतीय खिलाड़ियों के नाम शामिल हैं। भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर इसी बहस में कूद पड़े हैं। उन्होंने कहा है कि यह निराशाजनक है कि लोग दूसरे टी20 में हार को लेकर धोनी पर अंगुलियां उठा रहे हैं। राजकोट में खेले गए मैच में धोनी ने 37 गेंदों में 49 रन बनाए थे। लक्ष्मण ने इसी पर मैच के बाद एक टीवी शो में कहा कि उन्हें (धोनी को) छोटे फॉमेट में नए खिलाड़ियों को मौका देना चाहिए था। उधर, एनडीटीवी से हुई बातचीत में गावस्कर ने धोनी का बचाव किया। वह बोले, “जब कोई 30 साल की उम्र पार कर लेता है, तो हर कोई उसके खेल में गलतियां ढूंढने लग जाता है।”

उन्होंने आगे कहा, “लक्ष्मण और अजित अपने मतों पर ठीक हैं। उन्होंने देश के लिए काफी वक्त तक क्रिकेट खेला है और ऐसा (धोनी के बारे में) उनका सोचना है। जरूरी नहीं कि वैसा ही चयनकर्ता और कप्तान सोचें। हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा कि आगे क्या होता है।” लक्ष्मण का बयान था, “धोनी को टी20 में नए खिलाड़ियों को मौका देना चाहिए था, जिससे उन्हें एक मौका मिलने के साथ अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में आत्मविश्वास हासिल होता। वह वनडे टीम का जरूरी हिस्सा हैं।” वहीं, अगरकर का मानना था, “कम से कम टी20 में भारत को अब दूसरे विकल्प तलाशने चाहिए। वनडे क्रिकेट में उनके खेलता देख वे खुश होते हैं। जब आप टीम के कप्तान थे, तो बात अलग थी। लेकिन बल्लेबाज के तौर पर टीम को आपकी कमी खलेगी, यह मुझे नहीं लगता।”

गावस्कर ने आगे बताया, “हम 30 के नीचे के खिलाड़ियों को नहीं देखते, जिन्होंने कुछ नहीं किया होता है। लेकिन हम उसकी अनदेखी कर देते हैं। इसलिए हमें बाकी खिलाड़ियों की उसी पारी में विफलताएं नहीं देखनी चाहिए। हार्दिक पांड्या गुगली नहीं समझ पाए और एक रन बनाकर आउट हो गए। यह बात किसी ने नहीं गौर की। हम यह भी नजरअंदाज करेंगे कि सलामी बल्लेबाजों ने जरूरी रन नहीं बनाए। हम सिर्फ धोनी पर अंगुली उठाएंगे, जो कि निराशाजनक है। इसलिए, क्योंकि यह भारत है। ”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App