ताज़ा खबर
 

रोहित शर्मा को क्रीज पर टिकने में क्यों लगता है समय, सुनील गावस्कर ने बताई दिग्गज क्रिकेटर के आउट होने की वजह

सीमित ओवर फॉर्मेट में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके रोहित शर्मा ने बतौर टेस्ट ओपनर भी अपनी छाप छोड़ी है। साल 2019 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट में रोहित पहली बार सलामी बल्लेबाज के तौर पर मैदान पर उतरे थे। उसके बाद से रोहित ने कई शानदार पारियां खेली हैं।

Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: June 17, 2021 2:11 PM
महान क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने कहा है कि रोहित शर्मा इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 3 शतक लगा सकते हैं।

न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलने के बाद टीम इंडिया को इंग्लैंड के खिलाफ उसके घरेलू मैदान पर 5 टेस्ट मैच की सीरीज खेलनी है। हालांकि, यह सीरीज 4 अगस्त से शुरू होनी है, लेकिन इसके पहले ही क्रिकेट के कई विश्लेषकों ने मुकाबले की स्कोरलाइन और उसमें टॉप प्रदर्शन करने वालों को लेकर भविष्यवाणी करना शुरू कर दिया है।

कई क्रिकेट विश्लेषकों ने पहले ही स्कोरलाइन और शीर्ष प्रदर्शन करने वालों की भविष्यवाणी करना शुरू कर दिया है। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर की मानें तो रोहित शर्मा पांच मैच की सीरीज के दौरान अभूतपूर्व प्रदर्शन करेंगे। गावस्कर का मानना ​​है कि लय में आने के लिए रोहित को सिर्फ दो से तीन ओवर की जरूरत है। एक बार जब वह शुरुआती बाधा पार कर लेते हैं, तो मुंबई के इस दिग्गज खिलाड़ी को कोई रोक नहीं सकता।

सुनील गावस्कर ने क्रिकेट एनालिस्ट पॉडकास्ट पर बात करते हुए कहा, रोहित के मामले में, पहले दो-तीन ओवर अहम होते हैं। उन ओवर्स के दौरान उनका फ्रंट फुट गेंद की पिच तक नहीं पहुंचता है। हालांकि, कुछ ओवर्स के बाद जब उनका फ्रंट फुट गेंद की पिच तक पहुंचने लगता है तो वह बेहतरीन लय में नजर आते हैं।

गावस्कर ने कहा, रोहित हमेशा अटैक करने के लिए देखते हैं। वह अपने शॉट सेलेक्शन के कारण आउट हो जाते हैं। हालांकि वह अगर सही तरीके से खेलते हैं, तो वह पांच मैच की टेस्ट सीरीज में कम से कम तीन शतक लगाएंगे। रोहित ने इंग्लैंड में अब तक सिर्फ एक टेस्ट मैच खेला है। उसमें उन्होंने 34 रन बनाए थे।

गावस्कर ने कहा, रोहित ने ऑस्ट्रेलिया में भी बहुत ज्यादा रन नहीं बनाए थे। हालांकि, जिस तरह से वह तेज गेंदबाजों को खेले थे वह बेहतरीन था। वहां गेंदबाज 90 मील प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी कर रहे थे। रोहित जिस तरह से खेल रहे थे लग रहा था कि गेंदबाज 40 मील प्रति घंटे की रफ्तार से बॉल फेंक रहे हैं। उनके पास खेलने का बहुत समय रहता है।

सीमित ओवर फॉर्मेट में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके रोहित शर्मा ने बतौर टेस्ट ओपनर भी अपनी छाप छोड़ी है। साल 2019 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट में रोहित पहली बार सलामी बल्लेबाज के तौर पर मैदान पर उतरे थे। उसके बाद से रोहित ने कई शानदार पारियां खेली हैं।

Next Stories
1 WTC FINAL: रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे हो सकते हैं भारत के ट्रंप कार्ड, न्यूजीलैंड के खिलाफ ऐसा है दोनों का रिकॉर्ड
2 PSL 6: शान मसूद ने ठोका 26 गेंद में पचासा, इमरान ताहिर ने 7 रन दे झटके 3 विकेट; मुल्तान सुल्तांस ने काटा क्वेटा ग्लैडिएटर्स का पत्ता
3 एचसीए के अध्यक्ष पद से हटाए गए मोहम्मद अजहरुद्दीन, भारत के पूर्व कप्तान पर हैं भ्रष्टाचार समेत ढेरों आरोप
ये पढ़ा क्या?
X