ताज़ा खबर
 

ऑस्ट्रेलिया के नए कप्तान स्मिथ का वादा, आक्रामक क्रिकेट खेलेंगे

ऑस्ट्रेलिया के सबसे युवा टेस्ट कप्तानों में से एक हरफनमौला स्टीव स्मिथ ने आज कहा कि वह काफी रोमांचित हैं और भारत के खिलाफ मौजूदा टेस्ट श्रृंखला में आक्रामक और सकारात्मक कप्तानी करेंगे। नियमित कप्तान माइकल क्लार्क के चोटिल होने के कारण स्मिथ को ऑस्ट्रेलिया का नया कप्तान चुना गया। उन्होंने इसके बारे में कहा […]

Author December 15, 2014 1:58 PM
स्मिथ 25 बरस और 195 दिन की उम्र में किम ह्यूज के बाद सबसे युवा ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट कप्तान बने हैं। (फ़ोटो-एपी)

ऑस्ट्रेलिया के सबसे युवा टेस्ट कप्तानों में से एक हरफनमौला स्टीव स्मिथ ने आज कहा कि वह काफी रोमांचित हैं और भारत के खिलाफ मौजूदा टेस्ट श्रृंखला में आक्रामक और सकारात्मक कप्तानी करेंगे। नियमित कप्तान माइकल क्लार्क के चोटिल होने के कारण स्मिथ को ऑस्ट्रेलिया का नया कप्तान चुना गया।

उन्होंने इसके बारे में कहा ,‘‘ माइकल के बाहर होने के कारण मैं अस्थायी तौर पर कप्तान बनाया गया हूं।’’ उन्होंने कहा,‘‘ पिछले 18 महीने मेरे और टीम के लिये काफी तूफानी रहे और इतनी जल्दी कप्तानी मिलना काफी रोमांचक है। मैने हमेशा से इसका सपना देखा है।’’

स्मिथ 25 बरस और 195 दिन की उम्र में किम ह्यूज के बाद सबसे युवा ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट कप्तान बन गए हैं। ह्यूज 1979 में 25 बरस और 57 दिन की उम्र में कप्तान बने थे। वह ऑस्ट्रेलिया के तीसरे सबसे युवा टेस्ट कप्तान हैं। इयान क्रेग ने 1958 में जब कप्तानी संभाली थी तब वह सिर्फ 22 साल के थे।
स्मिथ ने कहा,‘‘ मैने टीम से कहा है कि मेरा रणनीति में बदलाव का कोई इरादा नहीं है। हम अच्छा क्रिकेट खेल रहे हैं और इसी तरह आक्रामक तथा सकारात्मक खेलते रहेंगे।’’

उन्होंने कहा,‘‘ मैदान पर हम विपक्षी टीम के दोस्त नहीं है। हम आक्रामक और सकारात्मक होकर मैच जीतने की पूरी कोशिश करेंगे। हमने ऐसा किया है और इस रणनीति को बदलने का मेरा कोई इरादा नहीं है।’’

उन्होंने कहा कि उन्हें क्लार्क का पूरा समर्थन हासिल है। उन्होंने कहा,‘‘ मैने सुबह माइकल से बात की। उसने मुझे मैसेज भेजकर कहा कि जब समय हो तो मुझसे बात करना। मैने उसे फोन किया और उसे मुझ पर गर्व है। उसे खुशी है कि मैं कप्तानी कर रहा हूं।’’

स्मिथ ने कहा,‘‘ बतौर कप्तान मैं मोर्चे से अगुवाई की कोशिश करूंगा। जहां तक रणनीति का सवाल है तो इस साल हमारा प्रदर्शन बेहतरीन रहा है। क्लार्क ने अपने काम को बखूबी अंजाम दिया है और उसमें बदलाव की जरूरत नहीं है।’’

उन्होंने यह भी कहा कि उपकप्तान ब्राड हाडिन का भी उन्हें पूरा सहयोग हासिल है। क्लार्क के घायल होने के बाद हाडिन को कप्तानी सौंपे जाने की अटकलें भी लगाई जा रही थी।

स्मिथ ने कहा,‘‘ मैं ब्राड के काफी करीब हूं और जब मैने उसे कल बताया कि राष्ट्रीय चयन समिति के प्रमुख राड मार्श ने मुझे फोन किया था, तब वह मेरे लिये काफी खुश हुआ। ब्राड बेहतरीन साथी है और क्रिकेट की उसे जबर्दस्त समझ है। मैं मैदान पर आंख मूंदकर उस पर भरोसा कर सकता हूं।’’

कोच डेरेन लीमैन ने भी स्मिथ का पूरा समर्थन किया है। उन्होंने कहा ,‘‘उसमें हमेशा से नेतृत्व क्षमता थी। उसने न्यू साउथवेल्स और सिडनी सिक्सर्स की अगुवाई बखूबी की। यह सिर्फ प्रदेश की टीम की कप्तानी की बात नहीं है बल्कि साथी खिलाड़ियों से तालमेल और रणनीति की भी बात है।’’

उन्होंने कहा,‘‘ उसके जैसे युवा कप्तान को चुनकर हम भविष्य की ओर देख रहे हैं और दीर्घकालिन रणनीति बनाई है। हमें हालांकि यहां ब्रिसबेन में और श्रृंखला के बाकी मैचों में भी अच्छा प्रदर्शन करना होगा।’’

यह पूछने पर कि वह स्मिथ को क्या सलाह देंगे, लीमैन ने कहा,‘‘ वही जो माइकल को देता था। हम मैच से पहले रणनीति बनाते हैं लेकिन मैदान पर वह फैसले लेगा। वैसा ही स्टीव के साथ भी होगा। वह ऑस्ट्रेलिया का कप्तान है और हमें उसे और उसकी टीम को वह सब देना होगा जो जीतने के लिये उन्हें चाहिये। वह खुद फैसले लेगा जिनमें से कुछ सही होंगे और कुछ गलत। सभी के साथ ऐसा होता है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App