ताज़ा खबर
 

बॉल टैंपरिंग में फंसे श्रीलंकाई कप्तान ने ICC के आरोपों को बताया गलत, बोर्ड ने भी दिया खिलाड़ी का साथ

चंडीमल को आईसीसी द्वारा बॉल टैंपरिंग का दोषी ठहराए जाने के बाद श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड (एसएलसी) अपने खिलाड़ियों के पक्ष में उतरा। एसएलसी ने एक मीडिया रिलीज के जरिए यह कहा कि वह अपनी टीम के किसी भी खिलाड़ी के खिलाफ लगे असंगत आरोपों से उसका बचाव करेगा। बोर्ड ने एक बयान में कहा, "टीम प्रबंधन ने हमें बताया है कि श्रीलंका टीम के खिलाड़ियों ने दूसरे टेस्ट मैच के दौरान कुछ भी गलत नहीं किया है।

दिनेश चंडीमल और श्रीलंकाई टीम।

श्रीलंका क्रिकेट टीम के कप्तान दिनेश चंडीमल ने उन पर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) द्वारा बॉल टैंपरिंग के आरोप से साफ इनकार कर दिया है। वेबसाइट ‘ईएसपीएनक्रिकइन्फो’ की रिपोर्ट के अनुसार, वेस्टइंडीज के खिलाफ जारी दूसरे टेस्ट मैच की समाप्ति के बाद चंडीमल को इस मामले की सुनवाई में पेश होना पड़ेगा। उल्लेखनीय है कि मैदानी अंपायर अलीम डार और इयान गोल्ड ने मैच के दूसरे दिन गेंद की स्थिति पर अपनी चिंता जाहिर की थी। आईसीसी मैच रेफरी जवागल श्रीनाथ ने मैच के तीसरे दिन सुबह वेस्टइंडीज को पांच रन अतिरिक्त दे दिए। श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने इसका विरोध करते हुए मैदान पर उतरने से इनकार कर दिया। ऐसे में मैच दो घंटे की देरी से शुरू हुआ। आईसीसी ने अपने ट्विटर पर जारी पोस्ट में श्रीलंका के कप्तान चंडीमल को आईसीसी की आचार संहिता 2.2.9 स्तर के उल्लंघन का दोषी कहा था, जिसे चंडीमल ने सिरे से नकार दिया है। ऐसे में इस टेस्ट मैच के बाद इस मामले में रेफरी जवागल द्वारा की जानेवाली सुनवाई में श्रीलंका के कप्तान को मौजूद होना होगा।

दिनेश चंडीमल। (फाइल फोटो)

चंडीमल को आईसीसी द्वारा बॉल टैंपरिंग का दोषी ठहराए जाने के बाद श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड (एसएलसी) अपने खिलाड़ियों के पक्ष में उतरा। एसएलसी ने एक मीडिया रिलीज के जरिए यह कहा कि वह अपनी टीम के किसी भी खिलाड़ी के खिलाफ लगे असंगत आरोपों से उसका बचाव करेगा। बोर्ड ने एक बयान में कहा, “टीम प्रबंधन ने हमें बताया है कि श्रीलंका टीम के खिलाड़ियों ने दूसरे टेस्ट मैच के दौरान कुछ भी गलत नहीं किया है।

मैच के तीसरे दिन टीम ने अंपायरों द्वारा ‘गेंद की स्थिति बदलने’ का हवाला देते हुए एक निर्णय का विरोध किया। बोर्ड ने कहा, “एसएलसी खेल के कानूनों का पालन करने और खेल की भावना को कायम रखने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराता है। एसएलसी हर समय अपने क्रिकेटरों के आत्म-सम्मान की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App