ताज़ा खबर
 

तो इस खिलाड़ी की वजह से बचा सौरभ गांगुली का करियर! दादा ने खुद किया खुलासा

अपनी कप्तानी में कई कीर्तिमान गढ़ चुके सौरव गांगुली को ग्रेग चैपल के कोच नियुक्त किए जाने के बाद कप्तानी छोड़नी पड़ी थी।

पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली। (image source-PTI)

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने अपनी कप्तानी में भारतीय क्रिकेट का जलवा पूरी दुनिया में बिखेरा था,दिग्गज खिलाड़ियों या कप्तान की जब बात होती है तो सौरव गांगुली का नाम उस लिस्ट में सम्मान के साथ लिया जाता है, लेकिन क्या आपको पता है कि इस खिलाड़ी के करियर को बचाने में एक खिलाड़ी का बड़ा योगदान था। जी हां अगर वो खिलाड़ी न होता तो शायद इतना शानदार रिकॉर्ड जो गांगुली के नाम है वो न होता। इसका जिक्र खुद सौरव गांगुली ने ही किया। बता दें कि गांगुली को टीम इंडिया की कमान उस वक्त सौंपी गई थी जब मैच फिक्सिंग के कारण टीम की साख और प्रदर्शन दोनों ही चर्चा का विषय थी। ऐसे में अभी हाल ही में एक समारोह के दौरान गांगुली ने बताया कि कैसे इस खिलाड़ी ने उनके करियर को बचा लिया।
दरअसल गांगुली ने इस बातचीत में बताया कि वीवीएस लक्ष्मण ने एक वेरी स्पेशल इनिंग खेलकर दादा का करियर बचा लिया था। ईडन गार्डन के मैदान पर लक्ष्मण द्वारा खेली गई ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 281 रनों की पारी को भला कौन भूल सकता है। इस सीरीज में भारत को पहले मुकाबले में करारी शिकस्त मिली थी तो कोलकाता में खेले जा रहे इस मुकाबले में भारत फॉलोआन खेल रहा था। ऐसे में लक्ष्मण और द्रविड़ की शानदार पारी ने 171 रनों से इस मुकाबले को जीत लिया था। द्रविड़ ने भी इस मैच में 180 रन बनाए थे। इस हार से ऑस्ट्रेलिया के लगातार 16वीं जीत का सिलसिला भी थम गया था।

लक्ष्मण की आत्मकथा के विमोचन के दौरान गांगुली ने कहा बताया कि मैंने एक महीना पहले उसे मैसेज किया था लेकिन उसने जवाब नहीं दिया। मैंने उसे कहा था कि यह उपयुक्त शीर्षक नहीं है। इसका शीर्षक होना चाहिए ‘281 एंड बियोंड और डेट सेव्ड सौरव गांगुली करियर’।’ यानी वो पारी जिसने सौरव गांगुली का करियर बचा लिया। दादा ने कहा, ‘मैंने इस शीर्षक का विरोध किया था क्योंकि अगर वह 281 रन नहीं बनाता तो हम टेस्ट हार जाते और मैं दोबारा कप्तान नहीं बनता। गौरतलब है कि अपनी कप्तानी में कई कीर्तिमान गढ़ चुके सौरव गांगुली को ग्रेग चैपल के कोच नियुक्त किए जाने के बाद कप्तानी छोड़नी पड़ी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App