ताज़ा खबर
 

‘मना करने के बावजूद धोनी ने आखिरी दिन मुझे कप्तान बना दिया’, सौरव गांगुली ने अपने अंतिम टेस्ट की सुनाई कहानी

सौरव गांगुली ने अपना आखिरी मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नागपुर में खेला था। टीम इंडिया उस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया को 172 रन से हराया था। भारत ने 4 टेस्ट की सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 2-0 से हराया था।

Sourav Ganguly, MS Dhoni, bcci, bcci president, Gangulyमहेंद्र सिंह धोनी को टीम में लाने का श्रेय सौरव गांगुली को जाता है। (सोर्स – सोशल मीडिया)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मौजूद अध्यक्ष सौरव गांगुली ने 2008 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया था। उन्होंने अपना आखिरी मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नागपुर में खेला था। टीम इंडिया उस मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया को 172 रन से हराया था। भारत ने 4 टेस्ट की सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 2-0 से हराया था। नागपुर में खेले गए टेस्ट में गांगुली को कप्तानी करने का मौका मिला था। दरअसल, महेंद्र सिंह धोनी ने आखिरी दिन दो ओवरों के लिए गांगुली को कप्तानी सौंपी थी। दादा ने एक इंटरव्यू में उस टेस्ट के बारे में विस्तार से बताया।

स्पोर्ट्स एंकर गौरव कपूर ने दो साल पहले अपने यूट्यूब चैनल ‘ऑकट्री स्पोर्ट्स’ पर गांगुली के इंटरव्यू का वीडियो पोस्ट किया था। उसमें गांगुली ने कहा, ‘‘जैसे ही धोनी ने मुझे कप्तानी के लिए कहा, मैं हैरान हो गया था। मैंने कहा कि मैं नहीं करूंगा तो उन्होंने कहा कि करो लो। कोई बात नहीं। मैच तो जीत ही जाएंगे। दो ओवर की बात है। फिर मैंने कहा कि सिर्फ दो ओवर ही, क्योंकि मेरी मानसिकता अब संन्यास की हो चुकी थी। फिर दो ओवर कप्तानी करके उन्हें दिया। खुशी होती है धोनी को देखकर। क्योंकि हमदोनों जिस जगह से आए वहां इतने मैच नहीं खेले जाते थे। ईस्ट में ज्यादा क्रिकेट नहीं होता था। लोग सोचते थे कि यहां से क्रिकेटर नहीं हो सकता।’’

IPL 2020 SCHEDULE: मुंबई-चेन्नई में पहला मैच, दुबई में होंगे सबसे ज्यादा मुकाबले; जानिए पूरा शेड्यूल

गांगुली ने आगे कहा, ‘‘ईस्ट से आकर हमने इतने मुकाबलों में कप्तानी की। बहुत सारे मैच खेले। हमारे समय मे टी20 नहीं होता था फिर भी मैंने 450 मैच खेले। धोनी ने कार्डिफ में 500वां मैच खेला। अच्छा लगता है कि एक ऐसे हिस्से से आकर दो कप्तान निकले सौरव गांगुली और महेंद्र सिंह धोनी, जहां क्रिकेट ज्यादा नहीं होता है। यह खुशी की बात है।’’ गांगुली ने विराट कोहली के बारे में कहा, ‘‘वह शानदार है। जब वह खेलता है तो आप कहीं भी रहो उसे देखना चाहेंगे।’’

गांगुली ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि इस बंदे में यह जुनून है कि टीम को बेस्ट बनाए। टीम को मानसिक रूप से मजबूत करना है। मुझे कोहली से बहुत उम्मीदें हैं। वह देश का भरोसा है। विदेशों में टीम को जीत दिलाए, यही चाहता हूं।’’ गांगुली ने भारत के लिए 113 टेस्ट मैच में 7212 रन बनाए। इस दौरान 16 शतक और 35 अर्धशतक लगाया। 239 रन उनका उच्चतम स्कोर रहा। 311 वनडे में गांगुली ने 41 की औस ते 11363 रन बनाए। उन्होंने 22 शतक और 72 अर्धशतक लगाया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सीरीज में वापसी पर ऑस्ट्रेलिया की नजर, जानिए दोनों टीमों की प्लेइंग-11
2 US OPEN 2020: रोहन बोपन्ना पांचवीं बार क्वार्टरफाइनल में पहुंचे, टूर्नामेंट में भारत की आखिरी उम्मीद
3 ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज ने बॉल पर लगाया हैंड सैनिटाइजर, टीम ने किया सस्पेंड; फर्स्ट क्लास क्रिकेट में ले चुका है 300 विकेट
IPL 2020
X