ताज़ा खबर
 

VIDEO: विराट कोहली सहित 2019 वर्ल्ड कप के 3 खिलाड़ियों को 2003 की टीम में शामिल करते सौरव गांगुली, धोनी को नहीं चुना

सौरव गांगुली ने कहा, ‘-टी-20 फॉर्मेट बहुत ही महत्वपूर्ण है और अगर मैं आज के जमाने में पैदा होता तो खुद को टी-20 क्रिकेटर के लिए ही तैयार करता।’’ गांगुली टीम इंडिया के लिए कभी टी20 में नहीं खेल पाए। उन्होंने आईपीएल सहित अन्य टी20 में कुल 77 मैच में 25.01 की औसत से 1726 रन बनाए हैं।

सौरव गांगुली पिछले साल बीसीसीआई के अध्यक्ष बने थे। (सोर्स – सोशल मीडिया)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने रविवार यानी 5 जुलाई को टीम इंडिया के ओपनर मयंक अग्रवाल को इंटरव्यू दिया। इसमें उन्होंने कहा कि वे पिछले साल वर्ल्ड कप खेलने गई टीम इंडिया के तीन खिलाड़ियों को 2003 वर्ल्ड कप की टीम में रखना चाहते। गांगुली ने कहा कि उस समय वर्ल्ड कप का फाइनल खेलना ही महत्वपूर्ण था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलना बड़ी बात थी। वह अनुभव भी शानदार रहा था। टीम इंडिया फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से हार गई थी।

लाइव चैट के दौरान एक यूजर ने ट्वीट कर गांगुली से पूछा कि अगर उन्हें 2019 वर्ल्ड कप की टीम से 3 खिलाड़ियों को 2003 वर्ल्ड कप की टीम में शामिल करना हो तो किसे करेंगे? इस पर दादा ने विराट कोहली, रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह का नाम लिया। गांगुली ने सबसे पहले विराट कोहली, फिर रोहित शर्मा का नाम लिया। उन्होंने इसके बाद तेज गेंदबाज के तौर पर जसप्रीत बुमराह का नाम लिया। दादा को लगता है कि बुमराह दक्षिण अफ्रीका की पिचों पर बेहतरीन प्रदर्शन करते।


रोहित ने पिछले साल वर्ल्ड कप में 5 शतक लगाए थे। वे 648 रन बनाने के साथ नंबर एक बल्लेबाज थे। गांगुली ने कहा, ‘‘रोहित शीर्ष क्रम पर बल्लेबाजी करता। मैं तीसरे नंबर पर खेलता। मुझे पता नहीं सहवाग इसे सुनने के बाद क्या करेगा। शायद कल सुबह तक उसका कॉल आ जाएगा। वह कहेगा ये आप क्या सोच रहे थे। लेकिन मैं अपनी टीम में इन तीनों को चाहता।’’धोनी को नहीं चुनने पर गांगुली ने कहा, ‘‘अगर मुझे एक्स्ट्रा ऑप्शन दिया जाता तो मैं धोनी को भी चुनता। मैं राहुल द्रविड़ के साथ काम चला लूंगा। उन्होंने 2003 वर्ल्ड कप में विकेट के पीछे बेहतरीन काम किया था।’’


चैट के दौरान एक अन्य यूजर ने पूछा कि दादा (सौरव गांगुली) अगर आप आज के समय में पैदा होते, तो खुद को टी-20 क्रिकेटर के रूप में देखना पसंद करते या वनडे और टेस्ट क्रिकेटर ही बनना चाहते। इस पर गांगुली ने कहा, ‘‘टी-20 फॉर्मेट बहुत ही महत्वपूर्ण है और अगर मैं आज के जमाने में पैदा होता तो खुद को टी-20 क्रिकेटर के लिए ही तैयार करता।’’ गांगुली टीम इंडिया के लिए कभी टी20 में नहीं खेल पाए। उन्होंने आईपीएल सहित अन्य टी20 में कुल 77 मैच में 25.01 की औसत से 1726 रन बनाए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 England vs West Indies: बेन स्टोक्स बने इंग्लैंड के 81वें टेस्ट कप्तान, मोईन अली और जॉनी बेयरस्टो की छुट्टी
2 ‘कोई धमकी नहीं नाश्ते की टेबल पर हल्का- फुल्का मजाक था’, यूनिस के खिलाफ फ्लॉवर के बयान पर PCB की सफाई
3 World Cup 2011: नहीं मिले मैच फिक्सिंग के सबूत, पुलिस ने बंद की जांच
ये पढ़ा क्या?
X