ताज़ा खबर
 

वीरेंद्र सहवाग की दूसरी भविष्यवाणी के सच होने का इंतजार, 12 साल पहले किया था ‘दादा’ के बंगाल का मुख्यंमत्री बनने का दावा

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के 65 साल के इतिहास में पहले टेस्ट खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अध्यक्ष पद की कमान संभाली है। हालांकि, उनके BCCI का अध्यक्ष बनने की भविष्यवाणी भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने 12 साल पहले ही कर दी थी।

Author नई दिल्ली | Updated: October 28, 2019 11:38 AM
भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने बुधवार 23 अक्टूबर को मुंबई में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के नए अध्यक्ष का पदभार संभाला। सौरव बीसीसीआई के 39वें अध्यक्ष हैं। (फोटो: PTI)

सौरव गांगुली ने दिवाली से पहले 23 अक्टूबर को आधिकारिक तौर पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) का अध्यक्ष पद संभाल लिया। गांगुली भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के 65 साल के इतिहास में पहले टेस्ट खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अध्यक्ष पद की कमान संभाली है। हालांकि, उनके BCCI का अध्यक्ष बनने की भविष्यवाणी भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग ने 12 साल पहले ही कर दी थी।

हालांकि, मुल्तान के सुल्तान यानी सहवाग ने उसी समय एक और भविष्यवाणी की थी। उन्होंने कहा था कि एक दिन सौरव गांगुली पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री बनेंगे। सहवाग ने 2002 में केप टाउन में खेले गए एक टेस्ट मैच की सुबह यह भविष्यवाणी की थी। लंच से पहले सौरव गांगुली बल्लेबाजी के लिए मैदान पर गए थे। तभी न्यूलैंड्स स्टेडियम के ड्रेसिंग रूम में सहवाग ने बड़ा ऐलान किया।

सहवाग ने कहा था, ‘दादा एक दिन BCCI के अध्यक्ष और बंगाल का मुख्यमंत्री बनेंगे।’ कुछ लोगों को यह अतिश्योक्ति लगा था। किसी को लगा था कि सहवाग नशे करके गांगुली की तारीफों के पुल बांधने में जुटे हैं, लेकिन सच यह है कि उनकी एक भविष्यवाणी सही साबित हो चुकी है। गांगुली के अध्यक्ष बनने के बाद सहवाग ने दिल्ली स्थित अपने घर में दादा को लेकर की गई भविष्यवाणी याद भी दिलाई थी। उन्होंने कहा था, ‘एक भविष्यवाणी सही हो गई, एक और होना बाकी है।’ अब देखना है उनकी दूसरी भविष्यवाणी सही होने में कितना वक्त लगता है।

गांगुली ने जब 23 अक्टूबर को मुंबई में बीसीसीआई अध्यक्ष के तौर पर पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस की, तब भारतीय क्रिकेट के लिए वह ऐतिहासिक पल था। क्रिकेटरों ने इसे ‘अपना टाइम’ के आने के रूप में चिह्नित किया था।

वैसे गांगुली खुद को राजनीति से दूर रखने की बात करते हों, लेकिन उनका नाम कई बार अलग-अलग राजनीतिक दलों से जोड़ा जा चुका है। पहले भी खबरें आ चुकी हैं कि वे बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान उनका भाजपा के साथ नाम जोड़ा गया था। तब तो यहां तक चर्चाओं का बाजार गर्म था कि वे भाजपा ने उनके सामने उन्हें खेल मंत्री बनाने तक का प्रस्ताव रख दिया है। सौरव गांगुली टीम इंडिया के पूर्व कप्तान, इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में मेंटॉर, टीवी प्रस्तोता और कमेंटेटर भी रह चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दिवाली के दिन एडिलेड में हुए ‘धमाके’, जन्मदिन पर डेविड वॉर्नर ने 56 गेंदों पर ठोका अपना पहला T20 इंटरनेशनल शतक
2 VIDEO: रेबेका ब्रिग्मैन को पॉर्न फिल्में छोड़कर रेसलिंग में करियर बनाना पड़ा महंगा, Debut मैच में हुआ बुरा हाल
3 इंग्लैंड टीम से बाहर चल रहे एलेक्स हेल्स को गर्लफ्रेंड ने भी किया ‘किक आउट’, देख लिया था दूसरी औरत संग सेक्स करते
जस्‍ट नाउ
X