ताज़ा खबर
 

पिता की जिद पर स्मृति मंधाना ने बाएं हाथ से बल्लेबाजी की, डेब्यू के 5 साल बाद बनीं आईसीसी की बेस्ट महिला क्रिकेटर

स्मृति ने 2013 में भारत के लिए पहला मैच खेला था। तब उनकी उम्र सिर्फ 17 साल थी। उन्होंने बांग्लादेश की महिला टीम के खिलाफ टी20 मुकाबले से करियर की शुरुआत की। इसके बाद उसी साल वनडे खेलने का भी मौका मिल गया।

स्मृति मंधाना अब तक 2 टेस्ट, 51 वनडे और 75 टी20 मुकाबले खेल चुकी हैं। (सोर्स – सोशल मीडिया)

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की ओपनर स्मृति मंधाना 18 जुलाई को 24 साल की हो गईं। स्मृति टीम इंडिया की सबसे अहम बल्लेबाज हैं। वे वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाली इकलौती महिला भारतीय हैं। इसके अलावा सबसे तेज 2000 रन बनाने का रिकॉर्ड भी उनके नाम है। स्मृति के क्रिकेटर बनने की कहानी काफी रोचक है। वे जब दो साल की थीं, तब भाई को बल्लेबाजी करते देख प्लास्टिक के बैट से खेलने लगीं। इसके बाद भाई को देखकर ही क्रिकेट बनने का भी फैसला किया।

स्मृति अपने भाई श्रवण से चार साल छोटी हैं। उनके पिता श्रीनिवास भाई को बल्लेबाजी का अभ्यास कराते थे। श्रवण को लेकर अखबार और टीवी पर खबरें आती थीं। अपने भाई की तरह स्मृति भी दाएं हाथ की बल्लेबाज थीं। लेकिन पिता चाहते थे कि भाई और बहन दोनों बाएं हाथ से बल्लेबाजी करे। पिता की जिद के आगे स्मृति को झुकना पड़ा और दाएं हाथ की जगह बाएं हाथ से बल्लेबाजी करनी पड़ी। पिता की इस जिद ने स्मृति को दुनिया भर में शोहरत दिला दी। वे मौजूदा समय में टॉप-5 महिला बल्लेबाजों में शामिल हैं।

स्मृति ने 2013 में भारत के लिए पहला मैच खेला था। तब उनकी उम्र सिर्फ 17 साल थी। उन्होंने बांग्लादेश की महिला टीम के खिलाफ टी20 मुकाबले से करियर की शुरुआत की। इसके बाद उसी साल वनडे खेलने का भी मौका मिल गया। 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ मंधाना को पहली बार टेस्ट क्रिकेट खेलने का मौका मिला। वे अब तक 2 टेस्ट, 51 वनडे और 75 टी20 मुकाबले खेल चुकी हैं। मंधाना को डेब्यू के 5 साल बाद 2018 में आईसीसी ने बेस्ट महिला क्रिकेटर और बेस्ट महिला वनडे क्रिकेटर चुना था।

मंधाना सबसे तेज 2000 रन बनाने वाली भारतीय महिला क्रिकेटर हैं। उन्होंने इस मामले में टीम इंडिया के मौजूदा कप्तान विराट कोहली को भी पीछे छोड़ दिया था। उनसे आगे सिर्फ शिखर धवन (48 पारी) हैं। महिलाओं में मंधाना का इस मामले में तीसरा स्थान है। उन्होंने 51 पारियों में यह रिकॉर्ड बनाया था। उनसे कम पारियों में ऑस्ट्रेलिया की बेलिंडा क्लार्क (45) और मेग लेनिंग (45) हैं। मंधाना ऑस्ट्रेलिया की टी20 लीग बिग बैश में ब्रिस्बेन हीट के लिए खेल चुकी हैं। इसके अलावा वे इंग्लैंड में किया सुपर लीग खेलने वाली पहली भारतीय थीं। वे 2018 में वेस्टर्न स्ट्रॉम की ओर से खेली थीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अजहरुद्दीन की पत्नी पर फैंस ने किए थे गंदे कमेंट्स, बैट लेकर मारने दौड़े थे इंजमाम
2 इंग्लैंड ने 469 रन पर पारी घोषित की, वेस्टइंडीज की खराब शुरुआत
3 अनुष्का शर्मा ने एबी डिविलियर्स और उनकी वाइफ को दी बधाई, फैंस कहने लगे- हमें तो लिटिल किंग विराट कोहली का इंतजार
IPL 2020 LIVE
X