ताज़ा खबर
 

ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने अपनी टीम को दी विराट कोहली से स्लेजिंग नहीं करने की सलाह, बताई खास वजह

उन्होंने कहा, ‘बतौर खिलाड़ी विराट कोहली अब कहीं अधिक नियंत्रित हैं। इसके अलावा वह टीम इंडिया को विदेश में जीत दिलाने को बेताब भी हैं। वह टीम को उस मुकाम पर ले गए हैं, जहां वह पहले नहीं गई थी।’

Author Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | November 6, 2020 2:05 PM
Steve Waughस्टीव वॉ एक उत्साही फोटोग्राफर भी हैं। उन्होंने अपनी किताब के लिए तस्वीरें लेने के लिए इस साल की शुरुआत में भारत की यात्रा की।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ ने आगामी टेस्ट सीरीज के दौरान अपनी टीम को विराट कोहली के खिलाफ स्लेजिंग नहीं करने की सलाह दी है। स्टीव वॉ का मानना है कि स्लेजिंग से कोहली परेशान नहीं होंगे। हां यह चीज उन्हें प्रेरित अवश्य कर सकती है। ऑस्ट्रेलिया और भारत 17 दिसंबर को एडिलेड में एक डे-नाइट मैच के साथ चार टेस्ट मैचों की सीरीज खेलेंगे। अन्य तीनों टेस्ट मैच मेलबर्न, सिडनी और ब्रिस्बेन में होंगे।

ऑस्ट्रेलिया और भारत 27 नवंबर से शुरू होने वाले तीन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच और तीन टी20 मैच की सीरीज भी खेलेंगी। स्टीव वॉ ने ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम को विराट कोहली से वाक्युद्ध में नहीं पड़ने की सलाह दी है। स्टीव वॉ ने कहा है कि इससे कोहली और उनकी टीम को अच्छे प्रदर्शन की ‘अतिरिक्त प्रेरणा’ मिल जाएगी। वॉ ने ईएसपीएन क्रिकइंफो पर पोस्ट किए गए अपने वीडियो में कहा, ‘छींटाकशी से विराट कोहली को कोई परेशानी नहीं होगी। महान खिलाड़ियों पर इससे असर नहीं पड़ता, इसलिये इससे दूर ही रहें।’

उन्होंने कहा, ‘इससे उन्हें और रन बनाने की अतिरिक्त प्रेरणा मिलेगी, इसलिये उस पर शब्दों के बाण नहीं छोड़ना ही बेहतर है।’ ऑस्ट्रेलिया के तत्कालीन कप्तान टिम पेन और उनकी टीम ने भारतीय टीम के पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे पर यही गलती की थी और टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहली बार टेस्ट सीरीज (2-1) से जीती थी।

स्टीव वॉ ने कहा, ‘विराट कोहली विश्वस्तरीय खिलाड़ी हैं। वह हर बार सीरीज का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज रहना चाहते हैं। पिछली बार भारत में स्टीव स्मिथ और वह आमने सामने थे। तब स्टीव स्मिथ तीन शतक लगाकर उनसे आगे निकलने में सफल रहे थे। इस बार ऑस्ट्रेलिया दौरे में यह बात भी विराट कोहली के जेहन में होगी। ऐसे में वह और ज्यादा बनाना चाहेंगे।’

उन्होंने कहा कि बतौर खिलाड़ी विराट कोहली अब कहीं अधिक नियंत्रित हैं। इसके अलावा वह टीम इंडिया को विदेश में जीत दिलाने को बेताब भी हैं। उन्होंने कहा, ‘विराट कोहली पहले से अधिक परिपक्व हैं और नियंत्रित भी। वह चाहते हैं कि भारत विदेश में जीतकर नंबर वन की अपनी रैंकिंग के साथ न्याय करे। वह टीम को उस मुकाम पर ले गए हैं, जहां वह पहले नहीं गई थी।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 केएल राहुल और आथिया शेट्टी के रिश्ते का क्या है राज? सवाल पूछे जाने पर भड़क गए थे सुनील शेट्टी
2 IPL: जसप्रीत बुमराह एक सीजन में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय बने, प्लेऑफ का किया सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन
3 मुंबई इंडियंस ने दिल्ली कैपिटल्स को 57 रन से हराया, छठी बार IPL के फाइनल में पहुंची
यह पढ़ा क्या?
X