पीवी सिंधु मेडल से बस एक जीत दूर, जापान की यामागुची को हराकर सेमीफाइनल में की एंट्री; पीएम मोदी ने दी बधाई

भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलंपिक में अपना शानदार खेल जारी रखते हुए क्वार्टरफाइनल में जापानी खिलाड़ी यामागुची एकाने को 21-13 और 22-20 से मात देकर सेमीफाइनल में जगह बना ली है।

shutler-pv-sindhu-reaches-to-semifinal-of-tokyo-olympics-by-beating-japanese-player-yagamuchi-and-pm-modi-gives-wishes
पीवी सिंधु मेडल से बस एक जीत दूर, जापान की यामागुची को हराकर सेमीफाइनल में की एंट्री (Source: Twitter)

भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलंपिक में अपना शानदार खेल जारी रखते हुए सेमीफाइनल में एंट्री कर ली है। भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी ने शुक्रवार को जापानी खिलाड़ी यामागुची एकाने को 21-13 और 22-20 से मात देकर अंतिम चार में जगह बनाई।

पीवी सिंधु ने रैंकिंग में खुद से दो पायदान ऊपर यामागुची एकाने को सीधे गेम में हराकर सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है। बस सिंधु एक जीत दूर हैं भारत के लिए मेडल जीतने से।

अगर सेमीफाइनल मुकाबला सिंधु जीत लेती हैं तो वे सिल्वर कम से कम पक्का कर लेंगी। अगर सेमीफाइनल में दुर्भाग्यवश हारकर तीसरे स्थान के मुकाबले में वे जाती हैं तो वहां से एक जीत उन्हें ब्रांज दिलवा सकती है।


क्वार्टरफाइनल के आज के मुकाबले में सिंधु ने मैच को पूरी तरह से एकतरफा बनाते हुए सीधे गेम 21-13 और 22-20 से जीत दर्ज कर भारत के लिए एक और पदक की उम्मीद बढ़ा दी है।

सिंधु की इस जीत पर खुद देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट किया है। उन्हें लिखा कि शुभकामनाएं सेमीफाइनल में जगह बनाने के लिए।

सेमीफाइनल में विश्व नंबर 1 से होगी भिड़ंत

अंतिम-4 में सिंधु का मुकाबला शनिवार को विश्व नंबर एक रैंकिंग वाली चीनी ताइपे की ताई जू यिंग (Tai Tzu Ying) से होगा। सिंधु का इनके खिलाफ रिकॉर्ड अच्छा नहीं है। इससे पहले 18 मुकाबलों में सिधु 13 बार हारी हैं और सिर्फ 5 बार उन्हें जीत मिली है। आखिरी बार 2020 में हुए BWF वर्ल्ड टूर के मुकाबले में भी भारतीय शटलर को हार को सामना करना पड़ा था।

इससे पहले आज भारतीय मुक्केबाज लवलीना बोरगोहेन ने 69 किलोग्राम स्पर्धा के सेमीफाइनल में प्रवेश करते हुए मीराबाई चानू के बाद भारत के लिए एक और मेडल पक्का कर दिया है।

गौरतलब है कि पीवी सिंधु ने इससे पहले रियो ओलंपिक में भारत के लिए सिल्वर मेडल जीता था। निश्चित ही इस बार सिंधु की नजरें गोल्ड पर होंगी। अब देखना होगा कि कल ताई के खिलाफ होने वाले सेमीफाइनल में सिंधु भारत के लिए खुशियां लाती हैं या फिर निराशा।

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
भारत को हारना मंजूर लेकिन पीठ दिखाकर भागना नहीं, पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने कहा- अच्छा नहीं खेला श्रीलंकाinzamam-ul-haq-praises-rahul-dravid-and-indian-team-even-after-loosing-against-sri-lanka
अपडेट