ताज़ा खबर
 

दिल्ली के प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदें खत्म, हार के बाद इन खिलाड़ियों पर फूटा कप्तान श्रेयस अय्यर का गुस्सा

अय्यर ने मैच के बाद कहा, "पावरप्ले में दो विकेट खोने के बाद इस विकेट पर 187 का स्कोर अच्छा स्कोर था। पंत का प्रदर्शन सराहनीय रहा। बाद में विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छी होती गई जिसकी एक बड़ी भूमिका रही। इससे उन्हें आउट करने के ज्यादा मौके नहीं मिल पाए। और, जिस तरह की गेंदबाजी हमने की, उसके बाद हम जीत के हकदार नहीं हो सकते।"

दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर।

सनराइजर्स हैदराबाद के हाथों नौ विकेट से करारी मात खाकर इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण के प्लेआफ से बाहर हुई दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर ने कहा कि उनकी टीम जीत की हकदार नहीं थी। दिल्ली ने गुरुवार रात को अपने घर फिरोजशाह कोटला मैदान में ऋषभ पंत (नाबाद 128) के तूफानी शतक के दम पर पांच विकेट पर 187 रन की मजबूत स्कोर बनाया। लेकिन, हैदराबाद ने शिखर धवन (नाबाद 92) और कप्तान केन विलियम्सन (नाबाद 83) की बेहतरीन पारियों ने इस स्कोर को मामूली बना कर रख दिया और जीत हासिल कर ली। अय्यर ने मैच के बाद कहा, “पावरप्ले में दो विकेट खोने के बाद इस विकेट पर 187 का स्कोर अच्छा स्कोर था। पंत का प्रदर्शन सराहनीय रहा। बाद में विकेट बल्लेबाजी के लिए अच्छी होती गई जिसकी एक बड़ी भूमिका रही। इससे उन्हें आउट करने के ज्यादा मौके नहीं मिल पाए। और, जिस तरह की गेंदबाजी हमने की, उसके बाद हम जीत के हकदार नहीं हो सकते।”

श्रेयस अय्यर । (फोटो सोर्स- पीटीआई)

उन्होंने कहा, “हमारे लिए यह जरूरी है कि हम बाकी बचे मैचों को जीतें। इससे अगले साल के लिए हमारा आत्मविश्वास बढ़ सकता है। ये मैच काफी नजदीकी रहे और इनसे मिला अनुभव भविष्य में इंडिया ए और अन्य मैचों में काम आएगा।” वहीं हैदराबाद के कप्तान विलियमसन ने मैच के बाद कहा, “बल्ले के साथ रणनीतियों का क्रियान्वयन करना शानदार रहा। हमने उन्हें एक अच्छे स्कोर पर रोक दिया लेकिन लक्ष्य का पीछा करना हमेशा से मुश्किल रहता है। पहली पारी की पहले हाफ के बाद हमने सोचा कि विकेट बल्लेबाजी के लिए मुश्किल है लेकिन पंत ने एक लाजवाब पारी खेली तब पता चल गया कि विकेट बल्लेबाजी के अनुकूल है।”

कप्तान ने कहा, “बाद में हल्की ओस भी पड़ने लगी जिससे बल्लेबाजी आसान होती चली गई। जब आप 180 के लक्ष्य का पीछा करते हैं तो स्कोरबोर्ड का दबाव रहता ही है। हम इस दबाव को अपने ऊपर से हटाने की कोशिश कर रहे थे। कुछ मुश्किल समय भी आए लेकिन शिखर ने अच्छी पारी खेली। ”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App