scorecardresearch

BCCI ने किस आधार पर चुनी एशिया कप के लिए टीम? पिछले सात महीने में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टॉप-2 बल्लेबाजों को किया बाहर

साल 2022 में टी-20 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की बात करें तो श्रेयस अय्यर ने 14 मैचों की 14 पारियों में 44.90 की औसत और 142.99 के स्ट्राइक रेट से 449 रन बनाए हैं। इशान किशन ने 14 टी-20 मैचों में 30.71 की औसत और 130.30 के स्ट्राइक रेट से 430 रन बनाए हैं।

BCCI ने किस आधार पर चुनी एशिया कप के लिए टीम? पिछले सात महीने में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टॉप-2 बल्लेबाजों को किया बाहर
इशान किशन और श्रेयस अय्यर। (फोटो- एपी)

Team India Selected for Asia Cup 2022 : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने सोमवार को एशिया कप 2022 के लिए टीम इंडिया का चयन किया। टीम में विराट कोहली और केएल राहुल की वापसी हुई, लेकिन कुछ खिलाड़यों को ड्रॉप करने पर सवाल उठ रहे हैं। इनमें से एक नाम श्रेयस अय्यर और दूसरा इशान हैं। इस साल दोनों टीम इंडिया के लिए टी-20 में टॉप-2 रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। पिछले सात महीने में टी-20 में दोनों बराबर टीम इंडिया का हिस्सा रहे हैं। ऐसे में सवाल हो रहा है कि किस आधार पर टीम चुनी गई है।

साल 2022 में टी-20 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की बात करें तो श्रेयस अय्यर ने 14 मैचों की 14 पारियों में 44.90 की औसत और 142.99 के स्ट्राइक रेट से 449 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 4 अर्धशतक जड़े हैं। वह इस शूची में शीर्ष पर हैं। विराट कोहली के गैरमौजूदगी में वह नंबर-3 पर खेले, लेकिन एशिया कप के लिए टीम चुनी गई तो दीपक हुड्डा को तवज्जो दी गई। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज स्टैंडबाय सूची में रखा गया।

चयन से एक दिन पहले श्रेयस ने जड़ा था अर्धशतक

ऐसा नहीं है कि श्रेयस की फॉर्म खराब है। उन्होंने चयन से एक दिन पहले ही वेस्टइंडीज के खिलाफ आखिरी टी-20 मैच में अर्धशतक जड़ा था। अब उनको टीम में न चुनने के बाद सवाल होने लगा है कि क्या टी-20 वर्ल्ड कप में उन्हें मौका मिलेगा? ऐसा होना मुश्किल है। टीम में वह तभी आएंगे जब कोई बल्लेबाज चोटिल होगा। ऐसा नहीं होने पर वो स्टैंडबाय ही रह जाएंगे।

प्रयोग का दौर शुरू हुआ और इशान किशन की छुट्टी हो ग

बाएं हाथ के विस्फोटक ओपनर इशान किशन ने केएल राहुल राहुल की गैरमौजूदगी में ज्यादात्तर मौकों पर ओपनिंग की। वह टीम का हिस्सा भी रहे और उन्हें टी-20 टीम में बतौर तीसरा ओपनर देखा जाता था, लेकिन फिर आया इंग्लैंड दौरा और यहां शुरू हुआ प्रयोग का दौर। इसके बाद से ओपनिंग में ऋषभ पंत और सूर्यकुमार यादव को आजमाया गया। इंग्लैंड और वेस्टइंडीज दौरे को मिलाकर कुल 8 टी-20 मैच हुए और इशान को केवल दो मैचों में ही खेलने का मौका मिला।

दिनेश कार्तिक और ऋषभ पंत भी हैं रोड़ा

साल 2022 में 14 टी-20 मैचों में 30.71 की औसत और 130.30 के स्ट्राइक रेट से 430 रन बनाने वाले इशान किशन को एशिया कप के लिए टीम में ही नहीं चुना गया। यही नहीं स्टैंडबाय प्लेयर्स में उनका नाम नहीं है। केएल राहुल की वापसी ही नहीं, बतौर विकेटकीपर ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक की मौजूदगी ने भी बाएं हाथ के बल्लेबाज की राह में रोड़ा पैदा कर दिए। उनका चयन पिछले टी-20 वर्ल्ड कप में हुआ था और वह न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच में खेले भी थे।

पढें खेल (Khel News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.