ताज़ा खबर
 

पाकिस्तान के बुरी तरह हारने पर बिलबिलाए शोएब अख्तर, टीम को डरपोक और बाबर आजम को बता डाला ‘कन्फ्यूज कैप्टन’

शोएब अख्तर ने पाकिस्तानी टीम पर हमला करते हुए कहा, ‘‘टीम में हर खिलाड़ी इनसिक्योर है। किसी को कुछ पता ही नहीं है कि क्या करना है। कप्तान को पता ही नहीं है कि उसे कप्तानी करनी है या नहीं। उसे ब्रांड बनना है या नहीं।’’

Shoaib Akhtar, Pakistan, pakistan captain, babar azam, Babarशोएब अख्तर ने कहा कि बाबर आजम को कप्तानी करने के लिए आजादी मिलनी चाहिए। (सोर्स – सोशल मीडिया)

इंग्लैंड ने पाकिस्तान को तीन टी20 की सीरीज के दूसरे मुकाबले में 5 विकेटों से हरा दिया। उसने पाकिस्तान से मिला 196 रन के बड़े लक्ष्य को आसानी से हासिल कर लिया। इस हार के बाद क्रिकेट विशेषज्ञ टीम की आलोचना में जुट गए हैं। पूर्व कप्तान शोएब अख्तर ने पाकिस्तानी टीम को डरपोक तक कह दिया। विराट कोहली से तुलना किए जाने वाले बाबर आजम को उन्होंने कन्फ्यूज कैप्टन बता दिया। शोएब ने कहा कि मैदान में बाबर एक खोई हुई गाय की तरह नजर आ रहा था।

शोएब ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘‘मैं ये समझता हूं कि पाकिस्तान को यहां से सिलेक्शन ठीक करनी होगी। वहाब रिजाय को वहां लेकर गए हैं तो टीम में रखिए। हैदर अली को नहीं खेला रहे हैं। इफ्तिखार अहमद की जगह टीम में नहीं बनती है। उनकी जगह हैदर को रखना चाहिए था। शादाब को बल्लेबाजी क्रम में प्रोमोट करना चाहिए। पाकिस्तान ने रन कम बनाए हैं। 195 रन ठीक हैं, लेकिन इस गेंदबाजी के सामने 230 रन बनाने चाहिए थे। पाकिस्तान को सिलेक्शन के बारे में सोचना होगा। टीम में 90 के दशक का आत्मविश्वास कैसे आएगा, यह पता नहीं। बाबर आजम को कप्तानी करने के लिए आजादी देनी होगी। ये बायो सिक्योर बबल नहीं, बायो इनसिक्योर बबल की तरह लग रहा है।’’

शोएब ने आगे कहा, ‘‘टीम में हर खिलाड़ी इनसिक्योर है। किसी को कुछ पता ही नहीं है कि क्या करना है। कप्तान को पता ही नहीं है कि उसे कप्तानी करनी है या नहीं। उसे ब्रांड बनना है या नहीं। बाबर मुझे एक खोई हुई गाय की तरह नजर आया। उसे खुद कप्तानी करनी होगी। हारे खुद हारे, जीते खुद जीते। खुद निर्णय ले, ताकि आने वाले समय में बेहतर कप्तान बन सके। बाहर से पर्ची आ जाना। अंदर में तीन लड़के उसे समझा रहे हैं। उसे मौकों का फायदा उठाना होगा। स्ट्राइक रेट को थोड़ा बढ़ाना होगा, इयॉन मॉर्गन की तरह। मॉर्गन, बेयरस्टो, मलान जिस तरह खेलते हैं, वैसे हमारे लड़के नहीं खेलते हैं। डरे हुए लग रहे हैं।’’

मोहम्मद हफीज (39 साल) और शोएब मलिक (38 साल) को टीम में रखने पर लगातार आलोचना होती है। इस पर शोएब ने कहा, ‘‘मोहम्मद हफीज तेज बंदा है। उसको परिस्थितियों का पता चल जाता है। वह क्रिकेट को समझता है। दोनों (हफीज और मलिक) की आलोचना होती है कि लंबे समय से खेल रहे हैं। दोनों मेरे साथ 2006 में भी खेलते थे। वे इसलिए खेल रहे हैं कि बोर्ड को लगता है दोनों खेल सकते हैं। दोनों अगर प्रदर्शन करते हैं तो खेलने देने में कोई दिक्कत नहीं है। 2 साल और खेलें। हफीज तेज आदमी है। उसने प्रदर्शन करके दिखाया है।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 टी20 में लगातार छठी सीरीज जीतने उतरेगा इंग्लैंड, पाकिस्तान की ‘इज्जत’ दांव पर
2 जब बीड़ी पीने के चक्कर में चप्पलों से हुई थी वीरेंद्र सहवाग की पिटाई, स्कूल जाने में भी बहुत पंगे करते थे वीरू
3 चेन्नई सुपरंकिंग्स के साथ खत्म हो चुका है सुरेश रैना का सफर? अगले साल टीम से किए जा सकते हैं बाहर
यह पढ़ा क्या?
X