ताज़ा खबर
 

‘राहुल द्रविड़ के कारण जीता है भारत, रवि शास्त्री ने विराट कोहली के बिना असंभव काम किया’, बोले शोएब अख्तर

अख्तर ने कहा, ‘‘शास्त्री ने विराट कोहली और अन्य बड़े नाम के बिना बड़ काम कर दिखाया। लोग कह रहे थे कि उनकी जॉब को खतरा है। उन्होंने युवाओं के साथ मिलकर वो कर दिखाया, जिसकी भारत ने कल्पना नहीं की थी। रवि शास्त्री काफी दिलेर हैं।’’

Shoaib Akhtar, Rahul Dravid, Ravi Shastri, Virat Kohlशोएब अख्तर का मानना है कि भारत ने पिछले कुछ सालों में युवाओं पर ज्यादा इनवेस्ट किया है। (सोर्स – सोशल मीडिया

भारत ने चार टेस्ट मैचों की सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हरा दिया। टीम इंडिया ने ब्रिस्बेन में खेले गए चौथे टेस्ट मैच को 3 विकेट से अपने नाम कर लिया। इस जीत में टीम के युवा खिलाड़ियों का खास योगदान रहा। इनमें शुभमन गिल, मोहम्मद सिराज, ऋषभ पंत और वॉशिंगटन सुंदर शामिल हैं। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने भारत के युवा खिलाड़ियों की तारीफ की और कहा कि इन्हें राहुल द्रविड़ ने निखारा। ये उनकी जीत है।

शोएब अख्तर ने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘‘राहुल द्रविड़ ने पहले अंडर-19 टीम को मजबूत बनाया। इसके बाद नेशनल क्रिकेट एकेडमी को ढंग से खड़ा किया। आज हिंदुस्तान की यंगस्टर जीते हैं। भारत इसके लिए 10 साल से इनवेस्टमेंट कर रहा था। तगड़े और ईमानदार लोग लाए। इन्हें सैलरी से ज्यादा मतलब नहीं थी। पहले राहुल द्रविड़ थे, उनके बाद सौरव गांगुली आए। रवि शास्त्री ने ड्रेसिंग रूम में एक बेहतरीन माहौल बनाया। टीमें ड्रेसिंग रूम में बनती हैं। आप शास्त्री की भले ही आलोचना कर लें, लेकिन उन्हें कर दिखाया।’’

अख्तर ने कहा, ‘‘शास्त्री ने विराट कोहली और अन्य बड़े नाम के बिना कर दिखाया। लोग कह रहे थे कि उनकी जॉब को खतरा है। उन्होंने युवाओं के साथ मिलकर वो कर दिखाया, जिसकी भारत ने कल्पना नहीं की थी। रवि शास्त्री काफी दिलेर हैं।’’ अख्तर ने इस दौरान अपने प्रधानमंत्री इमरान खान की भी तारीफ कर दी और शास्त्री की तुलना उनसे कर दी। शोएब ने कहा, ‘‘शास्त्री हमारे इमरान खान के दौर में खेले हैं। उनकी तरह ही उनका दिमाग काम करता है।’’


शोएब ने कहा, ‘‘जो टीम युवाओं पर सही से काम करती है, उसका नतीजा यही होता है। ये इतिहास की टॉप-3 सीरीज में शामिल होगी। सीरीज इसलिए महत्वपूर्ण है कि भारत अपने युवाओं के साथ खेला। बड़े खिलाड़ियों में रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे थे। बच्चों ने ये सीरीज जिताई है। हिंदुस्तान का इनवेस्टमेंट जीत गया। उन्हें यह सिखाया गया कि सबकुछ जलाकर जाओ और ऑस्ट्रेलिया को मार दो।’’

Next Stories
1 ऋषभ पंत के संघर्ष की कहानी; प्रैक्टिस के लिए दिल्ली के वीडियो गेम पार्लर में पड़ता था सोना, गुरुद्वारे में लोगों की मदद करती थी मां
2 Syed Mushtaq Ali Trophy: सरफराज खान और शिवम दुबे की विस्फोटक पारी से जीता मुंबई, यशस्वी जायसवाल और सूर्यकुमार यादव फिर फेल
3 भारत की नई ‘दीवार’, चेतेश्वर पुजारा ने खेलीं 928 गेंदें, टीम इंडिया की कुल गेंदों में से एक चौथाई बॉल का किया सामना
ये पढ़ा क्या?
X