ताज़ा खबर
 

सौराष्ट्र को रणजी चैंपियन बनाने वाले शेल्डन जैक्सन ने छोड़ी टीम, जानिए 2 सीजन में 800 रन बनाने वाले बैट्समैन ने क्यों लिया ऐसा फैसला

शेल्डन जैक्सन ने 76 प्रथम श्रेणी मैच में 49.42 की औसत से 5634 रन बनाए हैं। इस दौरान 19 शतक और 27 अर्धशतक लगाए हैं।

शेल्डन जैक्सन को 2016 में भारत- ए टीम में चुने गए थे। (सोर्स – सोशल मीडिया)

सौराष्ट्र को पिछले सीजन में रणजी चैंपियन बनाने में अहम योगदान देने वाले बल्लेबाज शेल्डन जैक्सन ने टीम को छोड़ने का फैसला किया है। वे अगले सीजन में पुड्डुचेरी की ओर खेलेंगे। शेल्डन ने पिछले दो सीजन में 800 से ज्यादा रन बनाए हैं। इसके बावजूद वे चयनकर्ताओं का ध्यान खिंचने में नाकाम रहे हैं। उन्हें उम्मीद है कि ‘कहीं छोटी टीम’ की ओर से ढेरों रन बनाकर वह लोगों को आर्किषत कर सकते हैं।

जैक्सन ने 18 साल के करियर में अलग-अलग आयु वर्ग में सौराष्ट्र का प्रतिनिधित्व करने के बाद कहा कि यह पेशेवर क्रिकेटर के रूप में विभिन्न संभावनाओं पर गौर करने का समय है। यह पूछने पर कि क्या पैसा इस कदम के पीछे का महत्वपूर्ण कारण है, इस पर उन्होंने कहा, ‘‘पेशेवर के रूप में खेलना शुरू करने के लिए यह मेरा पहला कदम है। अगर मैं अच्छा करूंगा तो पैसा मिलेगा ही। इस साल मैंने पैसा पर अधिक ध्यान नहीं दिया। अगर मैं अच्छा करता हूं तो मुझे यकीन है कि कई दरवाजे खुलेंगे।’’

वे पारस डोगरा और पंकज सिंह के साथ पुड्डुचेरी के मेहमान खिलाड़ी होंगे। जैक्सन ने कहा, ‘‘हम पिछले छह महीने से बात कर रहे थे। यह मुश्किल फैसला था लेकिन आप अपने पेशे के साथ भावना नहीं जोड़ सकते और ऐसा भी नहीं है कि आप हमेशा के लिए अपना घर छोड़कर जा रहे हैं। आप निश्चित समय के लिए जा रहे हैं। दोस्तों को छोड़कर मैं भावुक हूं और सौराष्ट्र की ओर से खेलने का मौका देने के लिए शाह परिवार (निरंजन शाह और उनके बेटे जयदेव शाह) को धन्यवाद देना चाहता हूं।’’ जैक्सन ने 76 प्रथम श्रेणी मैच में 49.42 की औसत से 5634 रन बनाए हैं। इस दौरान 19 शतक और 27 अर्धशतक लगाए।

जैक्सन भारत ए की ओर से आखिरी बार 2016 में खेले थे। सौराष्ट्र की टीम पिछले आठ सीजन में चार बार फाइनल में जगह बनाने में सफल रही। इस बल्लेबाज ने कहा कि वह अब चयनकर्ताओं की मानसिकता के बारे में अधिक नहीं सोचते और सिर्फ अच्छा प्रदर्शन करने पर ध्यान दे रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मानना है कि अगर मैं पुड्डुचेरी जैसी छोटी टीम की ओर से रन बनाऊंगा तो सौराष्ट्र की तुलना में मेरे प्रदर्शन पर अधिक ध्यान जाएगा क्योंकि वहां मेरी तरह अन्य खिलाड़ी भी लगातार बड़े स्कोर बना रहे थे।’’

Next Stories
1 मैनचेस्टर सिटी की कोर्ट में हुई जीत, चैंपियंस लीग में हिस्सा लेने से बैन हटा; ईपीएल में क्वालिफाई को लेकर होड़ बढ़ी
2 ‘सौरव गांगुली को छेड़ना हमेशा भारी पड़ेगा, मिलेगा करारा जवाब’, बोले दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान
3 भारत की सबसे तेज रनर लॉकडाउन में कर रही थीं दूसरों की मदद, अब खुद झेल रहीं पैसों की किल्लत; लोग सरकार पर उठा रहे सवाल
आज का राशिफल
X