ताज़ा खबर
 

नानी के निधन के बावजूद दिल्ली के खिलाफ खेले शेन वॉटसन, पिछले साल खून से लथपथ होने पर भी गेंदबाजों की थी कुटाई

शेन वॉटसन ने ऑस्ट्रेलिया के महान क्रिकेटर डीन जोन्स को भी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की, जिनका पिछले हफ्ते मुंबई में निधन हो गया। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे विश्वास नहीं होता, ऐसा शानदार इंसान हमारे साथ नहीं है। मैं उन्हें बेहद करीब से जानता था।’’

Shane Watson, IPL 2020, CSK, watsonशेन वॉटसन इस आईपीएल में एक भी अर्धशतक नहीं लगा सके हैं। (सोर्स – सोशल मीडिया)

शेन वॉटसन आईपीएल 2020 में अब तक के अपने खराब प्रदर्शन के कारण आलोचना झेल रहे हैं, लेकिन बहुत कम लोग जानते हैं कि ऑस्ट्रेलिया के ऑलराउंडर इस समय व्यक्तिगत त्रासदी से जूझ रहे हैं। चेन्नई सुपरकिंग्स को कई मैच में विजेता बनाने वाले वॉटसन की नानी का निधन हो गया है। इसके बावजूद भी वो दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ खेलने उतरे थे। उन्होंने इसका खुलासा एक यूट्यूब चैनल को दिए इंटरव्यू में किया। वॉटसन पिछले साल भी खून से लथपथ होने के बावजूद सीएसके लिए के लिए फाइनल में 80 रन बनाए थे।

वॉटसन ने कहा, ‘‘मैं अपने घर और परिवार को प्यार भेजना चाहता हूं। मैं जानता हूं मेरी नानी एक अद्भूत मां रही हैं। मैं दिल रो रहा है। मैं इस बात के लिए माफी चाहता हूं कि ऐसे वक्त में मैं अपने परिवार के साथ नहीं हूं।’’ वॉटसन ने मुंबई के खिलाफ पहले मैच में 4 रन बनाए थे। उन्होंने राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 33 रनों की पारी खेली थी। वॉटसन ने दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ 14 रनों का योगदान दिया था। वॉटसन का फॉर्म भले ही इस टूर्नामेंट में खराब रहा है, लेकिन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का विश्वास उन पर कायम है।

शेन वॉटसन ने ऑस्ट्रेलिया के महान क्रिकेटर डीन जोन्स को भी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की, जिनका पिछले हफ्ते मुंबई में निधन हो गया। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे विश्वास नहीं होता, ऐसा शानदार इंसान हमारे साथ नहीं है। मैं उन्हें बेहद करीब से जानता था। इस्लामाबाद के लिए खेलते वक्त दो साल तक जोन्स मेरे कोच रहे हैं। ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलना बंद करने के बाद मैंने जोन्स को ज्यादा बेहतर तरीके से जाना। वह हमेशा आपको बेहतर बनने के लिए आगे बढ़ाते थे। वह दूसरे लोगों की बहुत परवाह करते थे।’’

पिछले साल आईपीएल के फाइनल में मुंबई इंडियंस के खिलाफ सीएसके के लिए खेलते हुए 80 रन बनाए थे। उस दौरान उनके घुटने से लगातार खून निकल रहा था। तब वॉटसन ने 59 गेंद की पारी में 8 चौके और 4 छक्के लगाए थे। हालांकि, उनकी टीम को जीत नहीं मिली थी। मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में 8 विकेट पर 149 रन बनाए थे। जवाब में चेन्नई की टीम 20 ओवर में 7 विकेट पर 148 रन ही बना पाई थी। सीएसके की टीम 1 रन से फाइनल हार गई थी।

Next Stories
1 ‘केएल राहुल आईपीएल के नंबर-1 प्लेयर, बन सकते हैं भारत के अगले कप्तान’, बोले गौतम गंभीर
ये पढ़ा क्या?
X