ताज़ा खबर
 

रियो ओलम्पिक में जीका वायरस की आशंका को लेकर चिंतित हैं टेनिस स्टार सेरेना विलियम्स

चौंतीस वर्षीय सेरेना ने शनिवार को फ्रेंच ओपन के मैच के बाद कहा कि यह मेरे दिमाग में चल रहा है। मैं वहां ‘पूरी तरह से सुरक्षित’ होकर जाना चाहूंगी।

पेरिस | May 30, 2016 2:23 AM
विश्व की नंबर एक खिलाड़ी सेरेना विलियम्स। (फाइल फोटो)

अमेरिकी टेनिस स्टार सेरेना विलियम्स ने स्वीकार किया कि ओलंपिक से पहले रियो शहर में जीका वायरस का खतरा गंभीर चिंता का विषय है जबकि नोवाक जोकोविच ने इन्हें कहीं और आयोजित करने या रद्द करने की मांग को अवास्तविक करार देते हुए कहा कि ब्राजील के लोगों पर पड़ रहे असर को कम करके नहीं आंकना चाहिए। चौंतीस वर्षीय सेरेना ने शनिवार को फ्रेंच ओपन के मैच के बाद कहा कि यह मेरे दिमाग में चल रहा है। मैं वहां ‘पूरी तरह से सुरक्षित’ होकर जाना चाहूंगी।

करीब 150 अंतरराष्ट्रीय डाक्टरों, वैज्ञानिकों और शोधकर्ताओं ने जीका वायरस के फैलाव से बचने में मदद के लिए अगस्त में होने वाले खेलों को कहीं और आयोजित करने या इनमें देरी कराने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन को हस्ताक्षर करके पत्र लिखा। लेकिन डब्लूएचओ ने उनकी मांग को खारिज करते हुए कहा कि इससे जीका के वायरस के फैलाव पर कोई बड़ा असर नहीं पड़ेगा। रियो में टेनिस स्पर्धा से कई खिलाड़ियों ने हटने का फैसला किया है, हालांकि यह स्वास्थ्य संबंधित चिंताओं के कारण नहीं है।

अमेरिका के 17वीं रैंकिंग के जान इसनेर, आस्ट्रिया के डोमिनिक थिएम, आस्ट्रेलिया के दुनिया के 22वें नंबर के खिलाड़ी बर्नार्ड टोमिच और स्पेन के अनुभवी खिलाड़ी फेलिसियानो लोपेज ने घोषणा कर दी है कि वे ओलंपिक में हिस्सा नहीं लेंगे। वहीं अर्नस्ट गुलबिस ने भी शनिवार को ओलंपिक से हटने का एलान किया। वर्ष 2008 के चैंपियन राफेल नडाल भी इस समूह में शामिल हो सकते हैं। स्पेन का यह खिलाड़ी कलाई की चोट के कारण फ्रेंच ओपन से बाहर हो गया है। अगर वे समय पर नहीं उबर पाए तो वे भी रियो नहीं जाएंगे।

हालांकि दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी जोकोविच ने कहा कि ओलंपिक रद्द करने या इसे कहीं और कराने की बात करना अवास्तविक है। उन्होंने कहा कि ईमानदारी से कहूं तो ओलंपिक खेलों को रद्द करने के बारे में सोचा भी नहीं जा सकता। मेरा मतलब है कि कई एथलीट और लोग पहले से ही इसके लिए योजना बना चुके हैं। जोकोविच ने कहा कि निश्चित रूप से हमारे अंदर कुछ समझ होनी चाहिए कि स्वास्थ्य वहां रह रहे लोगों के लिए भी महत्त्वपूर्ण होगा। लेकिन हमें सिर्फ रियो जा रहे लोगों के बारे में नहीं सोचना चाहिए। वहां रह रहे लोगों के बारे आप क्या जानते हैं। उनके बारे में आप ज्यादा बात नहीं कर रहे। इसलिए मुझे लगता है कि हमें सही फैसला करने के लिए अलग दृष्टिकोण से देखना चाहिए।

उधर, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) ने आगामी ओलंपिक खेलों के स्थान और समय में किसी भी तरह का परिवर्तन करने की मांग खारिज कर दी। डब्लूएचओ ने कहा कि ओलंपिक को कहीं और कराने के फैसले से वायरस के फैलने पर कोई ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ेगा। डब्लूएचओ ने बयान में कहा कि मौजूदा आकलन के अनुसार 2016 ओलंपिक खेलों को रद्द करने या इसके स्थान में बदलाव करने से जीका वायरस के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैलाव में कोई ज्यादा असर नहीं होगा।

Next Stories
1 एथलीट सीमा पूनिया ने जीता गोल्ड मेडल, कटाया रियो ओलम्पिक का टिकट
2 रणजी मैच तटस्थ स्थलों पर, दलीप ट्राफी की क्षेत्रीय प्रणाली खत्म
3 सेरेना विलियम्स और नोवाक जोकोविच फ्रेंच ओपन के फाइनल 16 में पहुंचे
ये पढ़ा क्या?
X