ताज़ा खबर
 

डब्लूडब्लूई मुकाबले के लिए तैयार हैं सतेंद्र

छह फुट चार इंच लंबे और 235 पाउंड वजन वाले सतेंद्र दो बार के राष्ट्रीय हैवीवेट चैंपियन रहे हैं और उन्होंने तीन बार हिंद केसरी खिताब भी जीता है..

Author नई दिल्ली | December 31, 2015 12:29 AM
दो बार के कुश्ती नेशनल हैवीवेट चैंपियन सतेंद्र डागर। (ट्विटर फोटो)

दो बार के कुश्ती नेशनल हैवीवेट चैंपियन सतेंद्र डागर 15 और 16 जनवरी को इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में आयोजित होने वाली डब्ल्यूडब्ल्यूई लाइव इंडिया में अपना जलवा दिखाने उतरेंगे। हरियाणा के सोनीपत के सतेंद्र मिट्टी की कुश्ती से निकलकर डब्ल्यूडब्ल्यूई के अंतरराष्ट्रीय मंच पर पहुंचे हैं। राजधानी में बुधवार को मौजूद 34 साल के सतेंद्र ने कहा कि उन्होंने सात महीने अमेरिका में डब्ल्यूडब्ल्यूई के सेंटर में जमकर ट्रेनिंग की है और वे इन मुकाबलों में जोरदार फाइट करने के लिए तैयार हैं।

छह फुट चार इंच लंबे और 235 पाउंड वजन वाले सतेंद्र दो बार के राष्ट्रीय हैवीवेट चैंपियन रहे हैं और उन्होंने तीन बार हिंद केसरी खिताब भी जीता है। सतेंद्र ने बताया कि वे चंडीगढ़ के सेक्टर 42 स्थित खेल परिसर में कुश्ती के दांव पेंच सीखते थे और पिछले साल डब्ल्यूडब्ल्यूई की चयन टीम चंडीगढ़ में मौजूद थी जहां उसने उनका चयन किया गया जिसके बाद वे पिछले साल ही दुबई में ट्रायल के लिए गए थे। वहां तीन दिन की ट्रेनिंग की। दुबई में चुने जाने के बाद वे सात महीने अमेरिका भी रहे।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 25799 MRP ₹ 30700 -16%
    ₹4000 Cashback
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 19959 MRP ₹ 26000 -23%
    ₹0 Cashback

मिट्टी की कुश्ती और डब्ल्यूडब्लयूई के अंतर के बारे में पूछे जाने पर सतेंद्र ने कहा- डब्ल्यूडब्ल्यूई केवल मनोरंजन ही नहीं बल्कि तगड़ा मुकाबला भी है। उन्होंने स्वीकार किया कि डब्ल्यूडब्ल्यूई से उन्हें नाम और पैसा मिला है जबकि मिट्टी की कुश्ती में पैसा नहीं होता है। डब्ल्यूडब्ल्यूई के महाबली खली के बारे में पूछे जाने पर सतेंद्र ने कहा कि अभी उन्हें उस स्तर तक जाने में बहुत समय लगेगा। दो बच्चों के पिता सतेंद्र ने साथ ही कहा कि उनके परिवार को पहले उनके मुकाबलों को देखकर डर लगता था लेकिन अब ऐसा नहीं है। उन्होंने कहा कि मैं पहली बार भारत में फाइट करने उतरूंगा और मुझे यकीन है कि दर्शक भारी संख्या में हमारा उत्साह बढ़ाने आएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App