कभी बिना कपड़ों में विकेटकीपिंग कर मचाई थी सनसनी, अब पुरुषों के लिए मिली इस जिम्मेदारी को लेकर चर्चा में यह महिला क्रिकेटर

इंग्लैंड की पूर्व महिला क्रिकेटर सारा टेलर को पुरुष क्रिकेट में एक बड़ी जिम्मेदारी मिली है। उन्हें पुरुषों के टी10 टूर्नामेंट में एक टीम की बतौर सहायक कोच नियुक्त किया गया है। कुछ साल पहले अपनी बिना कपड़ों की तस्वीरों से चर्चा में आई थीं सारा टेलर।

sarah-taylor-famous-for-without-clothes-photoshoot-former-england-women-cricketer-becomes-assistant-coach-for-men-t10-abu-dhabi-team
सारा टेलर द्वारा इंस्टाग्राम पर शेयर की गई एक फोटोशूट की तस्वीरें (सोर्स- इंस्टाग्राम)

इंग्लैंड की महिला क्रिकेट टीम की स्टार प्लेयर रहीं सारा टेलर को पुरुष क्रिकेट के लिए एक अहम जिम्मेदारी दी गई है। उन्हें पुरूषों की टी10 लीग में टीम अबुधाबी की सहायक कोच नियुक्त किया गया है। वे पुरुष क्रिकेट में ये जिम्मेदारी संभालने वाली पहली महिला भी बन गई हैं।

वहीं ये जिम्मेदारी मिलने के बाद उनकी तरफ से प्रतिक्रिया आई है। उन्होंने कहा है कि वह ऐसी खिलाड़ी नहीं कहलाना चाहती थी जिसका फ्रेंचाइजी क्रिकेट से कोई सरोकार नहीं रहा हो।

आपको बता दें कि दुनिया की सर्वश्रेष्ठ महिला विकेटकीपरों में शुमार टेलर को 19 नवंबर से शुरू हो रही अबुधाबी टी10 लीग में टीम अबुधाबी की सहायक कोच बनाया गया है। वे कुछ साल पहली अपने एक बिना कपड़ों वाले फोटोशूट को लेकर चर्चा में आई थीं। उन फोटोज में वे बैट के साथ और विकेटकीपिंग करती दिखी थीं। जिस पर काफी विवाद भी हुआ था।

सारा टेलर द्वारा कुछ साल पहले करवाए गए फोटोशूट की तस्वीरें (सोर्स- ट्विटर/Instagram)

टेलर ने खुद को मिली इस जिम्मेदारी को लेकर बातचीत करते हुए कहा ,‘‘उम्मीद है कि यह आगे की ओर एक कदम है। महिलाओं को अब इस तरह के काम और भूमिकायें मिलती रहेंगी । इसे एक कोच के रूप में देखना चाहिये, महिला कोच के रूप में नहीं।’’

उन्होंने कहा ,‘‘इसके काफी मायने है । मुझे यह भूमिका मिलने पर मैं स्तब्ध थी। मैं दिन गिन रही थी कि कब अबुधाबी जाकर जिम्मेदारी संभालूंगी । मैं अच्छी कोच के रूप में पहचान बनाना चाहती हूं।’’

टेलर मुख्य कोच पॉल फारब्रास और दक्षिण अफ्रीका के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी लांस क्लूसनर के साथ काम करेंगी। उन्होंने कहा कि ससेक्स काउंटी की कोच बनकर उन्हें काफी अनुभव मिला।

उन्होंने कहा ,‘‘ससेक्स काउंटी में मैने काफी कुछ सीखा । मुझे बहुत अच्छे मेंटर मिले जिन्होंने मेरा साथ बखूबी निभाया । मुझे कोचिंग का मजा आ रहा है । मैं ऐसी महिला के रूप में पहचान बनाना नहीं चाहती थी जिसका फ्रेंचाइजी क्रिकेट से कोई सरोकार नहीं रहा हो।’’

पढें खेल समाचार (Khel News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।