ताज़ा खबर
 

संजय मांजरेकर ने रविचंद्रन अश्विन की ‘काबिलियत’ पर उठाए सवाल, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल ने भारतीय स्पिनर को बताया सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज

ऑस्ट्रेलिया के महान कप्तानों में से एक रहे इयान चैपल ने रविचंद्रन अश्विन को मौजूदा दौर का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट गेंदबाज बताया है। हालांकि, संजय मांजरेकर का कहना है कि भारतीय ऑफ स्पिनर विदेशी टेस्ट मुकाबलों में उतना घातक नहीं साबित हुए हैं।

Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: June 6, 2021 1:05 PM
इयान चैपल (दाएं) ने रविचंद्रन अश्विन को मौजूदा दौर का सर्वश्रेष्ठ टेस्ट गेंदबाज बताया है। संजय मांजरेकर (बाएं) की राय उनसे अलग है।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महान क्रिकेटर इयान चैपल ने भारत के अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को मौजूदा दौर के सर्वश्रेष्ट टेस्ट गेंदबाजों में से एक करार दिया है। हालांकि, पूर्व भारतीय क्रिकेटर और कमेंटेटर संजय मांजरेकर का कहना है कि अश्विन के रिकॉर्ड ‘ऑल टाइम ग्रेट’ खिताब पाने के लिए पर्याप्त नहीं हैं। मांजरेकर हमेशा से अपने सनसनीखेज और विवादास्पद बयानों के लिए चर्चा का केंद्र रहे हैं।

34 साल के अश्विन ने 2017 के बाद से एक भी वनडे इंटरनेशनल और टी20 इंटरनेशनल मैच नहीं खेला है। इसके बावजूद वह भारत की टेस्ट टीम के मुख्य आधार रहे हैं। वह सिर्फ 77 मैच में 400 टेस्ट विकेट लेने की उपलब्धि हासिल करने वाले वह दुनिया के दूसरे सबसे तेज गेंदबाज हैं। मांजरेकर का कहना है कि अश्विन ने स्पिन के अनुकूल भारतीय परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन किया है। लेकिन यह ऑफ स्पिनर विदेशी टेस्ट में उतना घातक साबित नहीं हुआ है। मांजरेकर ने यहां तक दावा किया कि भारत में टेस्ट के दौरान जडेजा का प्रदर्शन अश्विन के बराबर ही रहा है। यही वजह है कि 55 साल के मांजरेकर ने अश्विन को सर्वकालिक महान गेंदबाज के रूप में स्वीकार नहीं किया।

‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ के कार्यक्रम ‘रनऑडर’ में चैपल की बातों से संजय मांजरेकर सहमत नहीं हुए। मांजरेकर ने अश्विन के विदेशी मैदानों के रिकॉर्ड पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि भारतीय मैदानों पर रविंद्र जडेजा और हाल में अक्षर पटेल जैसे स्पिनर्स ने भी शानदार प्रदर्शन किए हैं। इस पर चैपल ने वेस्टइंडीज के महान तेज गेंदबाज जोएल गार्नर के योगदान को याद करते हुए कहा कि उनके विकेटों की संख्या इसलिए कम है, क्योंकि उनके साथ कई और शानदार गेंदबाज टीम में थे।

मांजरेकर ने कहा, ‘जब लोग उन्हें (अश्विन) को सर्वकालिक महान गेंदबाज बताते है तो मुझे कुछ समस्या है। अश्विन के साथ यह समस्या है कि उन्होंने एसईएनए (दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया) देशों में एक बार भी पांच विकेट नहीं लिए हैं। जब आप भारतीय पिचों पर उनके दमदार प्रदर्शन को देखते हैं तो पिछले चार वर्षों में जडेजा ने लगभग उनके बराबर विकेट लिए हैं। इंग्लैंड के खिलाफ पिछली सीरीज में अक्षर पटेल ने उनसे ज्यादा विकेट लिए हैं।’

मांजरेकर के विचारों से असहमत होते हुए चैपल ने गार्नर का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा, ‘अगर आप गार्नर के प्रदर्शन को देखेंगे तो शायद उन्होंने ज्यादा बार पांच विकेट नहीं लिए हैं। जब आप उनके रिकॉर्ड को देखेंगे तो शायद वह उतना प्रभावशाली नहीं दिखेगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि उस टीम में तीन और शानदार गेंदबाज थे।’ उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि पिछले कुछ वर्षों में भारतीय गेंदबाजी शानदार रही है। इस कारण गेंदबाजों को विकेट साझा करने पड़े हैं।’

चैपल ने मौजूद समय के पांच सर्वश्रेष्ठ टेस्ट गेंदबाजों में अश्विन के साथ इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी और कगिसो रबाडा को भी जगह दी, लेकिन अपने देश के पैट कमिंस इस सूची में सबसे ऊपर रखा। चैपल इशांत के पिछले तीन साल के प्रदर्शन से भी बेहद प्रभावित हैं, जिन्होंने 2018 से 22 टेस्ट में 77 विकेट चटकाए हैं।

Next Stories
1 पाकिस्तान की फीमेल फैन ने विराट कोहली के लिए पार की थी दीवानगी की सारी हदें, कहा था- प्लीज मुझे विराट दे दो
2 ‘मैंने बहुत लोगों से पंगे लिए हैं, मुझे फर्क नहीं पड़ता,’ सौरव गांगुली को धमकी देने के सवाल पर बोले थे रवि शास्त्री
3 PSL से पहले एमएस धोनी के ओपनर ने बाबर आजम को नहीं, सरफराज अहमद को बताया बेस्ट कप्तान, विराट कोहली से की तुलना
ये पढ़ा क्या?
X