ताज़ा खबर
 

ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया ने बनाया इतिहास, पर इसे सबसे बड़ी जीत नहीं मानते मांजरेकर, चौथे नंबर पर रखा

मांजरेकर ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ टीम इंडिया की जीत को चौथे नंबर पर रखा है। ईएसपीएनक्रिकइन्फो से बात करते हुए मांजरेकर ने बताया कि भारत की विदेशी धरती पर सबसे बड़ी जीत 1971 में इंग्लैंड के खिलाफ थी, जिसमें 3 टेस्ट मैचों की सीरीज में भारत 1-0 से जीता था।

ऑस्‍ट्रेलियाई सरजमीं पर पहली बॉर्डर-गावस्‍कर जीतने वाली भारतीय क्रिकेट टीम। (Photo : Cricket Australia)

विराट कोहली एंड टीम ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर मेजबान टीम को 2-1 से टेस्ट सीरीज हराकर इतिहास रचा और 72 साल लंबा सूखा खत्म किया। वहीं, पूर्व इंडियन क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने इसे विदेशी धरती पर सबसे बड़ी जीत मानने से इनकार किया है। मांजरेकर ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ टीम इंडिया की जीत को चौथे नंबर पर रखा है। ईएसपीएनक्रिकइन्फो से बात करते हुए मांजरेकर ने बताया कि भारत की विदेशी धरती पर सबसे बड़ी जीत 1971 में इंग्लैंड के खिलाफ थी, जिसमें 3 टेस्ट मैचों की सीरीज में भारत 1-0 से जीता था। दूसरी सबसे बड़ी जीत वेस्टइंडीज के खिलाफ थी, जब 1970/71 में टीम इंडिया ने 5 टेस्ट मैचों की सीरीज 1-0 से जीती थी। तीसरी सबसे बड़ी जीत इंग्लैंड के खिलाफ थी जब 1986 में भारत ने इंग्लैंड को 3 टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-0 से पछाड़ा था और अब 2018/19 में विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम इंडिया की ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथी बड़ी जीत है।

मांजरेकर ने विदेशी धरती पर भारत की पांचवीं सबसे बड़ी जीत के बारे में भी बताया। उन्होंने बताया कि 2003/04 में पाकिस्तान के खिलाफ 3 टेस्ट मैचों की सीरीज भारत की पांचवीं सबसे बड़ी जीत थी जिसे टीम इंडिया ने 2-1 से जीता था। कोहली ब्रिगेड द्वारा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार जीत को चौथी बड़ी जीत बताने के पीछ मांजरेकर ने कारण भी बताया। मांजरेकर ने कहा, ”हमें यह समझना चाहिए के यह ऑस्ट्रेलियाई बैटिंग लाइनअप सबसे कमजोर है और सीरीज शुरू होने से पहले भारत के पास जीतने का मौका था।

चूंकि अच्छी टीम होने के बावजूद टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के खिलाफ नहीं जीती, वह टीम पर एक सवालिया निशान लगाता है। इसलिए यह जीत नंबर 4 पर है। हालांकि, भारतीय गेंदबाजी आक्रमण की गुणवत्ता अच्छी थी लेकिन भारतीय टीम की एक कमजोरी भी है- सीरीज में बल्लेबाजी में समस्या थी। एडीलेड में भारत के 40 रनों पर 4 विकेट गिरने पर पुजारा अगर वह शतक नहीं मारते तो सीरीज का नतीजा कुछ और हो सकता था।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App